Gmail – जीमेल क्‍या हैं

दोस्तों जीमेल के बारे में सर्च करते हुए आप मेरे वेबसाइट पर आए हैं  तो यहां पर मैं आप लोगों को Gmail के बारे में पूरी जानकारी देने वाला हूँ. Gmail kya hai in hindi जिसमें जीमेल कब लांच किया गया.

इस पर हम लोग अपना ईमेल आईडी कैसे बना सकते हैं साइनअप क्या होता हैं साइन इन क्या होता हैं मेल कैसे लिखते हैं किसी का मेल कैसे देखते हैं.

अपने भेजे हुए मेल को कैसे चेक करते हैं. Contacts क्या हैं. लेबल्स क्या हैं. Trash mail क्या हैं. ऑल मेल क्या हैं. Drafts क्या होता हैं. सर्च मेल क्या होता हैं. इन सारे सवालों का जवाब नीचे आप लोगों को मिलेगा. जीमेल आइडी से ये इतना आसान हो गया है कि आजकल आसानी से कितना भी बड़ा पत्र हो, लेटर हो उसको एक जगह से दूसरी जगह भेजा जा रहा है.

Gmail kya hai in hindi

जीमेल एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिससे लाखों करोड़ों लोग दुनिया में ईमेल बना करके उस पर Gmail का उपयोग करते हैं.जीमेल दुनिया का सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाला ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जिसपर अपना ईमेल आईडी बनाकर के लोग एक दूसरे के साथ मेल भेजते हैं.

पहले एक समय था जब लोग चिट्ठि या पत्र लिख करके भेजते थे, लेकिन जीमेल के द्वारा ई मेल भेजने में सेकंड का समय लगता है और पत्र बहुत ही तेजी से एक जगह से दूसरे जगह एक आदमी से दूसरे आदमी के पास पहुँच जाता है.

Gmail kya hai in hindi

What is Gmail & Email in hindi

दोस्तों जीमेल एक ईमेल सेवा प्रदान करने वाला वेबसाइट हैं. जिसके माध्यम से हम लोग किसी को भी किसी प्रकार का मैसेज फोटो डॉक्यूमेंट वीडियो तत्काल भेज सकते हैं. जिसे हम लोग जीमेल के अपने ईमेल आईडी से इन सारे कामों को कर सकते हैं.

दोस्तों पहले हम लोगों को किसी प्रकार का कोई पत्र या सूचना पहुंचाना होता था. तो डाक के माध्यम से हम लोग पत्र को भेजते थे. उसमें बहुत समय लगता था. लेकिन Gmail के माध्यम से हम लोग बहुत ही कम समय में अपने मैसेज को किसी व्यक्ति के पास पहुंचा देते हैं. जीमेल गूगल का ही सब Concern सेवा है .

जीमेल का इतिहास

गूगल ने 2004 में ईमेल सेवा की शुरुआत किया. जिससे लोगों के साथ संपर्क स्थापित करना, सूचना पहुंचाना, फोटो भेजना, वीडियो भेजना, डाटा भेजना आसान हो गया. पहले इसको बीटा संस्करण के रूप में शुरू किया गया था और इसमें कई बदलाव के बाद 2009 में इसे सार्वजनिक कर दिया गया.

Gmail ने सबसे पहले ईमेल करने के लिए डेस्कटॉप एप्लीकेशन के रूप में काम करना प्रारंभ किया. कुछ ही दिनों में इसने अपने कंप्यूटर हॉटमेल को बहुत ही पीछे छोड़ दिया. दूसरे ईमेल वेबसाइट के तुलना में, जीमेल में नए संदेश प्राप्त होने पर ब्राउज़र में अपने आप गाढ़ा दिखने लगता है.

जीमेल में ईमेल सेवा को इस्तेमाल करने के लिए किसी भी प्रकार की सॉफ्टवेयर की जरूरत नहीं पड़ता हैं. यहां पर स्टोरेज की भी कोई चिंता करने की जरूरत नहीं हैं. इसकी सेवाएं पूरी तरह निशुल्क हैं.

 

जीमेल आईडी कैसे बनाएं

gmail kya hai

सबसे पहले हम लोग किसी ब्राउजर को ओपन करेंगे.उसमें हम लोगजीमेलपर जाएंगे. Create new account पर क्लिक करेंगे.

gmail kya hai

  • First name और Last name भरेंगे.
  • उसके बाद User name अपना हम टाइप करेंगे. जैसे आप अपने नाम के साथ ravi@gmail डॉट कॉम लिख सकते हैं.
  • फीर नीचे पासवर्ड में हम लोग अपना पासवर्ड सेट कर लेंगे.
  • Next पर क्लिक करेंगे.
  • उसके बाद आपने Mobile Number को इंटर करेंगे.
  • Recovery email आईडी डालेंगे.

 

  • जिसमें आप किसी दूसरे का बना हुआ ईमेल आईडी आप डाल सकते हैं.
  • उसके बाद अपना Birth details फील करेंगे.
  • फिर अपना Gender choose करेंगें.
  • मेल फीमेल और Next पर क्लिक करेंगें.
  • Mobile no verify कर लेंगे.
  • मैसेज आएगा otp और उसको इंटर करके आप वेरीफाई करेंगें.
  • वेरीफाई करने के बाद Terms & Conditions को आप सेलेक्ट करके agree कर लेंगें.
  • और Next पर क्लिक करेंगें.
  • तो आपका ईमेल आईडी बन करके तैयार हो जाएगा.
  • उसके बाद आप किसी को ईमेल भेज सकते हैं.

जीमेल आइडी बनाने के फायदें

  • हम लोग Gmail आईडी बना करके. यदि कोई मैसेज किसी को भेजना चाहते हैं. मेल करना चाहते हैं. तो बहुत ही आसानी से हम अपना मैसेज किसी के पास पहुंचा सकते हैं. जीमेल आईडी से हम लोगों को फ्री हार्ड डिस्क स्पेस मिलता हैं. उसमें कितना भी इनबॉक्स में आए हुए मेल को हम लोग रख सकते हैं.
  • जीमेल अकाउंट जब हम लोग बना लेते हैं. तो उसके साथ-साथ गूगल के जितने सारे सर्विसेस हैं. उन सभी के लिए हम इस अकाउंट से लॉगइन करके काम कर सकते हैं.

 

  • गूगल अकाउंट से हम लोग किसी वेबसाइट में या ब्लॉग पर या कहीं पर भी लॉगिन कर सकते हैं.
  • गूगल और अन्य सर्विस का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • जीमेल पर ईमेल बनाने के बाद हम लोग अपने बायोडाटा को भी ऑनलाइन किसी को भेज सकते हैं.
  • गूगल ड्राइव में हम लोग अपने डेटा को सुरक्षित रख सकते हैं.
  • गूगल फॉर्म्स बना सकते हैं. उसमें अपने डॉक्यूमेंट रख सकते हैं. फॉर्म तैयार कर सकते हैं.

जीमेल से ईमेल कैसे भेजते हैं (Compose mail)

किसी को मेल भेजने के लिए Gmail आईडी को साइन इन करने के बाद कंपोज पर क्लिक करेंगे. कंपोज पर क्लिक करने के बाद. ऊपर में जिसके पास हम को संदेश भेजना होता हैं. उनका ईमेल आईडी वहां पर डालते हैं.

नीचे  सब्जेक्ट में जिस बारे में हमें मैसेज लिखना हैं. उसका विषय वहां पर लिखते हैं. और नीचे बॉडी के अंदर जो भी मैसेज हम लोगों को लिखकर भेजना होता हैं.  उसको लिखते हैं. और सेंड बटन पर क्लिक करते हैं.

जीमेल ईनबॉक्‍स का उपयोग

किसी दूसरे के द्वारा भेजा गया संदेश जिसको हम लोग मेल कहते हैं. वह हम लोगों के पास जब आता हैं. तो इनबॉक्स में आ कर के इंस्टॉल हो जाता हैं. और फिर जब हम लोगों को उस संदेश को पढ़ना होता हैं.

तो इनबॉक्स पर क्लिक करके हम लोग उस संदेश को पढ़ते हैं. और पढ़ने के बाद यदि रिप्लाई करना होता हैं. तो वहीं से हम लोग रिप्लाई पर क्लिक करके उनको दोबारा अपने संदेश को भेज देते हैं.

जीमेल सेन्‍ट मेल क्‍या हैं

जितने भी हम लोग मैसेज मेल करते हैं. उन सारे  रिकॉर्ड को देखने के लिए हम लोग सैंटमेल पर क्लिक करके देखते हैं. कि जो हमने मेल संदेश को भेजा हैं. वह चला गया हैं कि नहीं. यदि हमारे द्वारा भेजा गया मेल उस व्यक्ति के पास चला गया हैं.

तो सेंट मेल में आपको उसका रिकॉर्ड दिखाई देता हैं.  सैंटमेल से हम लोग भेजे गए संदेश को देख सकते हैं.

जीमेल ड्राफ्ट क्या हैं

जब कभी हम लोग किसी को संदेश भेजते हैं. और संदेश भेजने के पहले ही जो भी मैसेज हम लोग  लिखे रहते हैं. यदि किसी कारण बस उस मैसेज को हम नहीं भेज पाए. तो अपने आप ड्रॅाफ्ट में सेव हो जाता हैं.

और फिर कभी उस संदेश को यदि हम भेजना चाहते हैं. तो ड्रॉफ्ट पर क्लिक करके, और उस संदेश को ओपन करके सेंड पर क्लिक करेगें. हम लोग उस मैसेज को फिर से भेज सकते हैं.

जीमेल में ऑल मेल क्या हैं 

इसमें जितने भी मेल हम लोगों के पास आता हैं. जैसे स्पेन का मेल हो. या किसी एडवर्टाइजमेंट का हो. या कोई इंपॉर्टेंट मेल हो. सभी प्रकार का मेल हम लोग ऑल मेल में जा करके चेक कर सकते हैं. यहां पर प्रचार प्रसार या स्पेन के जीतने तरह के भी मेल.

स्‍पेम मेल क्या होता है

स्पैम मेल में जितने भी प्रकार के ऑन इंपॉर्टेंट मैसेज मेल  आते हैं. वह सारे स्‍पेम में चले जाते हैं. जैसे बहुत सारे वेबसाइट पर हम लोग भी चेक करते हैं. और वहां पर अपना ईमेल आईडी हम लोग दे देते हैं. और वहां से जो प्रचार के लिए उन लोगों के द्वारा मेल किया जाता हैं. वह अधिकतर मेल स्‍पेम में चला जाता हैं. स्‍पेम में महत्‍वपूर्ण मेल नहीं होते हैं.

जीमेल में Trash/Bin क्या होता हैं 

जितने भी मेल हम लोगों को लगता हैं कि यह आवश्यक मेल नहीं हैं. उसको हम लोग जब अपने इनबॉक्स से डिलीट करते हैं. तो सारे ईमेल ट्रेस या बिन फोल्डर में चला जाता हैं. और फिर वहां से अपने आप 30 दिनों के अंदर में खत्म हो जाता हैं.

तो यदि उन सारे मेल को जो हम लोग आज डिलीट किए हैं. और कल देखना चाहते हैं. तो उसको हम लोग ट्रेस या बीन में देख सकते हैं. लेकिन 30 दिनों के बाद वो सारे मेल अपने आप डिलीट हो जाते हैं.

जीमेल में Contacts क्या होता हैं 

जब हम लोग किसी को कोई संदेश भेजते हैं. तो उनका ईमेल आईडी हम लोगों के पास होता हैं. उस ईमेल आईडी को यदि हम लोग अपने  मेल आईडी में सेव करना चाहते हैं. तो सारे मेल कॉन्टेक्ट्स में सेव होते हैं.

और जैसे हम लोग अपने किसी व्यक्ति का मोबाइल नंबर भी Gmail के कांटेक्ट में सेव करना चाहते हैं. तो जब अपने नंबर को सेव करते हैं. तो वहां पर ऑप्शन आता हैं, कि आप उस नंबर को कहां सेव करना चाहते हैं.

वहां पर ऑप्शन में हम लोग यदि गूगल को सिलेक्ट करते हैं. तो सारे कांटेक्ट के जो नंबर होते हैं. वह हमारे ईमेल आईडी के कांटेक्ट में सेव हो जाते हैं . और कभी भी जरूरत पड़ता हैं. तो वहां से हम लोग उस कांटेक्ट में जाकर के नंबर या ईमेल आईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं.

ये भी पढ़े

साराशं

जीमेल क्या है जीमेल का उपयोग क्या है Gmail का फायदा और Gmail का इतिहास  क्या है Gmail के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी दी गई. फिर भी Gmail से संबंधित किसी भी तरह का सवाल है तो कृप्या कमेंट करके जरूर पूछें.

तो Gmail क्‍या हैं के बारे में दी गई जानकारी कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताएं. Gmail के बारे में दी गई जानकारी को अपने दोस्त, मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी जरूर करें.

Leave a Comment