क्रिप्टोकरेंसी क्या हैं क्रिप्टोकरेंसी का प्रकार एवं भविष्‍य

Cryptocurrency kya hai वर्तमान समय में दुनिया में डिजिटल करेंसी का भी उपयोग भी किया जा रहा है। जिसको क्रिप्टोकरेंसी के नाम से जाना जाता है अभी तक तो हम लोग फिजिकल करेंसी का ही उपयोग करते आ रहे हैं।

फिजिकल करेंसी का मतलब जिस पैसा को हम लोग अपनी तिजोरी में रख सकते हैं, अपने पॉकेट में रख सकते हैं, हाथ से जिस को छू सकते हैं वैसे पैसा को फिजिकल करेंसी कहते हैं।

डिजिटल करेंसी जिसको डिजिटल मनी के नाम से भी जानते हैं उसी को क्रिप्टोकरेंसी के भी नाम से जानते हैं। लेकिन अभी भी बहुत ऐसे लोग हैं जो कि क्रिप्टोकरेंसी का मतलब नहीं समझते हैं आखिर Cryptocurrency का मतलब क्या होता है।

क्रिप्टोकरेंसी का मतलब डिजिटल करेंसी होता है जिसको डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रखा जाता है इंटरनेट के विकास के साथ-साथ पैसों का भी डिजिटल तरीकों से उपयोग किया जा रहा है।

एक ऐसा करेंसी जिसको डिजिटल तरीके से उपयोग कर सकते हैं जिससे डिजिटली किसी प्रकार की वस्तु खरीद सकते हैं पैसों को डिजिटली एक दूसरे के साथ आदान-प्रदान कर सकते हैं वैसे पैसे को डिजिटल करेंसी कहते हैं।

Cryptocurrency kya hai क्रिप्टोकरेंसी क्या है

Cryptocurrency को हिंदी में क्रिप्टो मुद्रा कहते हैं करेंसी का हिंदी मुद्रा होता है जिसको पैसा रूपया रूपी के नाम से जानते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी दो शब्दों से मिलकर के बना हुआ है क्रिप्टो शब्द एक नया शब्द है जबकि करेंसी शब्‍द से हम सभी लोग जरूर परिचित हैं जिसका मतलब मुद्रा होता है अब इस करेंसी शब्द के पहले एक क्रिप्टो शब्द का उपयोग किया गया है जिसका मतलब होता है वैसा मुद्रा धन जिसको डिजिटल रूप में रखा जाए उसी को Cryptocurrency कहते हैं।

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि Cryptocurrency एक डिजिटल करेंसी है जिसको किसी सरकार या बैंक के द्वारा संचालित नहीं किया जाता है डिजिटल करेंसी एक स्वतंत्र करेंसी होता है जिसको डिसेंट्रलाइज सिस्टम के द्वारा मैनेज किया जाता है।

Cryptocurrency

डिजिटल करेंसी पूरी तरह से ऑनलाइन इस्तेमाल किया जाता है इसमें किसी भी प्रकार के लेनदेन के लिए डिजिटल सिग्नेचर का उपयोग किया जाता है। जिसका रिकॉर्ड भी Cryptocurrency की सहायता से ऑनलाइन मैनेज किया जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसा करेंसी है जिसको ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के आधार पर बनाया गया है यह पूरी तरह से एक वर्चुअल करेंसी है। जिसको छू नहीं सकते हैं क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह से सुरक्षित है क्योंकि इसका दूसरा कॉपी बनाना नामुमकिन है।

डिजिटल करेंसी वास्तव में फिजिकली रूप में कहीं भी मौजूद नहीं होता है इसको केवल ऑनलाइन डिजिट के रूप में पढ़ा जा सकता है। शुरुआत के दिनों में जब Cryptocurrency को शुरू किया गया था।

उस समय इस को पूरी तरह से अवैध घोषित कर दिया गया था लेकिन जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी इंटरनेट की लोकप्रियता बड़ा उसके हिसाब से Cryptocurrency का बिटकॉइन करेंसी काफी लोकप्रिय होने लगा। जिसको देखते हुए कई देशों ने इसे वैध घोषित किया लेकिन अभी भी क्रिप्टोकरेंसी कई देशों में अवैध है।

करेंसी क्या है

पहले एक समय था जब पैसा रूपया का कोई नाम नहीं जानता था उस समय लोगों का जीवन बहुत ही अलग था। क्योंकि उस समय लोगों को पैसा के बारे में जानकारी नहीं था।

आदि काल में लोग खाने पीने के सामान के बारे में भी नहीं जानते थे जो भी वस्तु मिलता था वही खाते थे। धीरे-धीरे मनुष्य को अलग-अलग खाने पीने की सामानों के बारे में जानकारी हुआ।

उस समय लोग किसी भी प्रकार के वस्तुओं को एक दूसरे के साथ आदान-प्रदान करके किसी भी चीज का लेनदेन करते थे लेकिन उसके बाद धीरे-धीरे सी के अस्तित्व में आए जिसको पहले आना कौडी पैसा रुपया का उपयोग करना शुरू किया।

इस तरह से मानव सभ्यता में अलग-अलग प्रकार के कई शोध करते हुए आज आधुनिक युग में हम लोग प्रवेश कर चुके हैं। जहां पर पैसा रूपया के साथ-साथ अब तो डिजिटल क्रिप्टोकरेंसी का भी युग शुरू हो गया है।

अभी तक तो हम लोग केवल पैसा रूपया का ही उपयोग करते थे पैसा ₹पया सिक्का नोट इत्यादि के नाम से तो हम सभी लोग परिचित हैं। लेकिन अब तो इससे भी आगे बढ़ते हुए डिजिटल करेंसी के युग में हम लोग प्रवेश कर चुके हैं जिसको Cryptocurrency के नाम से जाना जा रहा है।

करेंसी का मतलब क्या होता है

भारत में मुद्रा के रूप में रुपए का उपयोग किया जाता है ऐसे ही दुनिया में कई देश हैं जहां का करेंसी अलग-अलग है जैसे हर देश का अलग-अलग भाषा है ठीक उसी प्रकार अलग-अलग देश में अलग-अलग करेंसी यानी मुद्रा का उपयोग किया जाता है उदाहरण के लिए अमेरिका में डॉलर का उपयोग किया जाता है।

सऊदी अरब में रियाल का उपयोग किया जाता है कनाडा में यूरो का उपयोग किया जाता है ठीक इसी प्रकार दुनिया में जितने भी अलग-अलग देश हैं वहां अलग-अलग प्रकार के करेंसी का उपयोग किया जाता है।

जिस देश में अलग-अलग तरह के करेंसी उपयोग किया जाता है उसको वहां के सरकार के द्वारा मान्यता दिया जाता है जिसके आधार पर उस देश में करेंसी का उपयोग किया जाता है सरकार के द्वारा वहां के करेंसी की वैल्यू भी निर्धारित किया जाता है।

जिससे किसी भी प्रकार के सामान को खरीदा जा सकता है या एक दूसरे के साथ उसके उचित मूल्य के आधार पर किसी भी वस्तु का भी आदान-प्रदान किया जाता है।

उदाहरण के लिए भारत में रुपए का इस्तेमाल किया जाता है और यदि हम भारत में ₹100 से किसी भी सामान को खरीदना चाहते हैं तो आसानी से फिजिकल रूप में हम किसी भी सामान को खरीद सकते हैं।

क्योंकि भारत सरकार के द्वारा करेंसी मुद्रा को कागज पर या सिक्कों पर प्रिंट करके उसके उचित मूल्य के आधार पर मान्यता दिया गया है जिससे किसी भी वस्तु को खरीदा जा सकता है।

लेकिन यदि Cryptocurrency की बात किया जाए तो इस करेंसी को किसी भी सिक्के या पेपर पर प्रिंट नहीं किया जा सकता है। यह डिजिटल रूप में मौजूद रहता है इस करेंसी को हम अपने पर्स में नहीं रख सकते हैं।

इस करेंसी को हम अपने स्मार्टफोन में जरूर रख सकते हैं और इसको डिजिटली उपयोग भी कर सकते हैं लेकिन अभी भी भारत में Cryptocurrency का उपयोग पूरी तरह से नहीं होता है।

Cryptocurrency का उपयोग

क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग सामान्य रूप से डिजिटल प्लेटफॉर्म पर किसी भी प्रकार की ऑनलाइन शॉपिंग के लिए कर सकते हैं इन्वेस्टमेंट के लिए कर सकते हैं। तथा और भी जरूरी के जो भी काम है उसके लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म पर इस करेंसी का उपयोग कर सकते हैं।

Cryptocurrency कैसे काम करती है

क्रिप्टोकरेंसी पूर्ण रूप से डिजिटल तरीके से ब्लॉक चैन के आधार पर काम करती है क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से जो भी लेनदेन होता है उसका रिकॉर्ड एक बेहतर कंप्यूटर में मौजूद रहता है तथा उसके नियंत्रण में रहता है जिसको Cryptocurrency माइनिंग के नाम से भी जानते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी के द्वारा जब किसी भी प्रकार का कोई लेनदेन किया जाता है तो उसकी पूरी जानकारी ब्लॉकचेन में अपडेट हो जाता है। जिसका मतलब है उसे एक ब्लॉक चैन में रखा जाता है जिसका सुरक्षा पूरी तरह से इंक्रिप्टेड होता है। जब भी Cryptocurrency के माध्यम से किसी प्रकार का लेनदेन किया जाता है।

तब उस लेनदेन को पूर्ण रूप से सुरक्षित करने के लिए क्रिप्टोग्राफिक ब्लॉकचेन के माध्यम से उस ट्रांजैक्शन को डिजिटल सिग्नेचर के माध्यम से प्रमाणित किया जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी से किसी प्रकार के ट्रांजैक्शन को पूरी तरह से सिक्योरिटी के साथ प्रोसेस किया जाता है जिसके लिए कई प्रकार के सिक्योरिटी चैन से इस ट्रांजैक्शन को गुजारना पड़ता है इसीलिए इसे पूरी तरह से सिक्योर और सुरक्षित माना जाता है।

Cryptocurrency मार्केट

क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसा मार्केट होता है जहां पर क्रिप्टोकरेंसी का खरीद बिक्री होता है जिस तरह से बाजार में सामानों का खरीद बिक्री होता है ठीक उसी प्रकार डिजिटल प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टोकरेंसी मार्केट होता है जहां से क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कहते हैं इस मार्केट से क्रिप्टोकरेंसी का एक्सचेंज किया जाता है जिसको क्रिप्टो मार्केट के नाम से भी जानते हैं।

यहां कोई भी अपना क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकता है उसको बेच सकता है या Cryptocurrency में इन्वेस्ट कर सकता है। क्रिप्टोकरेंसी में कई प्रकार के करेंसी मौजूद हैं जैसे Bitcoin, Light Coin, Voice Coin इत्यादि।

जैसा कि अभी तक हम लोग Cryptocurrency के बारे में जानकारी प्राप्त किए हैं उसमें बताया गया है कि यह पूरी तरह से डिजिटली ही काम करता है यदि क्रिप्टोकरेंसी को एक्सचेंज करना चाहते हैं तो उसके लिए क्रेडिट कार्ड या फिर स्विफ्ट कोड के माध्यम से वायर ट्रांसफर के थ्रू डिजिटल प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टोकरेंसी के लिए पेमेंट कर सकते हैं। 

इस प्लेटफार्म के माध्यम से यदि कागजी मुद्रा को क्रिप्टोकरेंसी मुद्रा में परिवर्तित करना चाहते हैं तो क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के माध्यम से कर सकते हैं या फिर Cryptocurrency मुद्रा को कागजी मुद्रा में परिवर्तित करना चाहते हैं तो उसको भी नीचे दिए गए कुछ प्रमुख वेबसाइट के माध्यम से अपनी मुद्रा को exchange कर सकते हैं।

  • Coinbase
  • Bitfinex
  • Binance
  • Kraken
  • Bithumb
  • BitFlyer
  • Cucoin
  • Bittrex
  • Coinone
  • Coincheck
  • Crypto.com

दुनिया के कुछ प्रमुख Cryptocurrency मार्केट के नाम यहां ऊपर बताए गए हैं जो कि बहुत ही ज्यादा पॉपुलर हैं। इसके अलावा भी कई ऐसे क्रिप्टोकरेंसी मार्केट से जहां से आप क्रिप्टोकरेंसी का अदला-बदली कर सकते हैं। उसके लिए आप गूगल सर्च का भी उपयोग कर सकते हैं।

भारतीय क्रिप्टोकरेंसी मार्केट

जहॉं तक भारत की बात की जाए तो भारत में भी Cryptocurrency मार्केट का क्रेज लोगों में है भारत में क्रिप्टोकरेंसी के सबसे कुछ बेहतर एवं प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज है जिसका नाम नीचे बताया गया है जिससे आप डिजिटल करेंसी को खरीद सकते हैं।

  • Wazirx
  • Coin switch
  • CoinDCX
  • Unocoin

Cryptocurrency के प्रकार 

क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार का डिजिटल करेंसी है इसके कई प्रकार हैं जिसके अलग-अलग करेंसी का नाम है जिसको खरीदा जा सकता है उन्हीं में से कुछ प्रमुख पॉपुलर डिजिटल करेंसी के बारे में नीचे जानकारी दिया गया है।

1. Bitcoin BTC

बिटकॉइन दुनिया का सबसे प्रसिद्ध एवं पॉपुलर Cryptocurrency है जो कि दुनिया में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है इस करेंसी को वर्ष 2009 में संतोषी Nakamoto ने बनाया था। जो कि दुनिया में बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध हुआ।

इसके पहले भी डिजिटल करेंसी बनाने का प्रयास किया गया था लेकिन वह सफल नहीं हुआ था बिटकॉइन दुनिया का सबसे प्रसिद्ध एवं महंगा करेंसी है।

Bitcoin - Cryptocurrency

2. Ethereum ETH

यह करेंसी दुनिया की सबसे दूसरी प्रसिद्ध करेंसी है जोकि दुनिया में 2015 में लॉन्च किया गया था। यह करेंसी भी डिजिटल करेंसी के रूप में बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है।

यह डिसेंट्रलाइज्ड प्लेटफार्म पर उपयोग किया जाने वाला करेंसी है

3. Tether USDT

यह करेंसी बिटवीन की तरह ही बहुत ही प्रसिद्ध डिजिटल करेंसी है इस करेंसी को वर्ष 2014 में लांच किया गया था। वर्ष 2022 सितंबर में इस करेंसी को दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा Cryptocurrency मार्केट के रूप में भी जाना गया इसका मार्केट कैपेसिटी डॉलर 67.9 बिलियन है

4. USD Coin USDC

इस Cryptocurrency का वैल्यू यूएसए डॉलर के अनुसार है अभी तक का एक बेहतर क्रिप्टोकरेंसी है जिसको 2018 में सेंटर Consortium के द्वारा लांच किया गया। सितंबर 2022 के अनुसार USD coin का मार्केट कैपेसिटी डॉलर 55.5 बिलियन है

5. Binance Coin BNB

इस क्रिप्टोकरेंसी को 2017 में लांच किया गया जिसके बाद से इस करेंसी ने भी दुनिया में एक अपना बेहतर मुकाम हासिल किया है।

6. Solana SOL

यह भी एक बेहतर Cryptocurrency है लेकिन कुछ दिन पहले हैं इस करेंसी में बहुत ही गिरावट देखा गया था लेकिन 2021 में इसने फिर से अपना बेहतर प्रदर्शन करते हुए अच्छा स्थान प्राप्त किया। यह अभी बाजार में बहुत ही बेहतर रूप में आगे बढ़ने वाला क्रिप्टोकरेंसी है।

7. Ripple XRP

रिबेल दुनिया में 2012 में लॉन्च किया गया था। यह एक डिसटीब्यूटर ओपन सोर्स प्रोटोकॉल के तहत काम करने वाला क्रिप्टोकरेंसी है। दुनिया में इस क्रिप्टोकरेंसी को एक बहुत ही बेहतर क्रिप्टोकरेंसी के रूप में भी जाना जाता है।

क्योंकि इसका ओवरऑल मार्केट लगभग डॉलर 10 बिलियन का है यह बहुत ही सिक्योर एवं सुरक्षित फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन का भी बेहतर प्रबंधन करता है।

8. Polygon

पोलियन करेंसी को अक्टूबर 2017 में लॉन्च किया गया था जिसको पहले मैटिक नेटवर्क के नाम से भी जाना जाता था। पॉली गन को जयंती कानानी संदीप नीलवाल और अनुराग अर्जुन के द्वारा डेवलप किया गया।

इस क्रिप्टोकरेंसी को बनाने में इन लोगों ने अपनी पूरी अनुभव क्षमता को इसको बेहतर बननो के लिए लगाया है। दुनिया में एक बेहतर क्रिप्टोकरेंसी के रूप में भी जाना जाता है।

9. Peercoin PPC

इस करेंसी को वर्ष 2012 में लांच किया गया था। इस करेंसी को पियर टु पियर करेंसी के नाम से भी जाना जाता है।

10. Namecoin NMC

यह करेंसी पूरी तरह से बिटकॉन से आधारित है क्योंकि इसमें बिटकॉइन की तरह ग्रुप ऑफ वर्क एल्गोरिथ्म का ही इस्तेमाल किया गया है। इसको बनाने के लिए बिटकॉइन सॉफ्टवेयर का उपयोग किया गया है जो की पूरी तरह से डीसेंट्रललाइज है।

Cryptocurrency में इन्वेस्ट कैसे करें

यदि आप क्रिप्टोकरेंसी में पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो इसके लिए आप गूगल सर्च में जाकर के क्रिप्टोकरेंसी वेबसाइट सर्च कर सकते हैं। वैसे इस लेख में हमने ऊपर क्रिप्टोकरेंसी के लिए कई महत्वपूर्ण वेबसाइट के बारे में बताया है जहां से आप क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट कर सकते हैं।

इसके साथ-साथ क्रिप्टोकरेंसी के लिए कई मोबाइल ऐप भी मौजूद है जिसको आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड एंड इंस्टॉल कर सकते हैं और क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट कर सकते हैं।

Cryptocurrency के फायदे

क्रिप्टोकरेंसी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर अपना पैसा इन्वेस्ट करने का कुछ महत्वपूर्ण फायदे हैं। जैसे यदि आप अपने पैसे को डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से बढ़ाना चाहते हैं तो आप क्रिप्टोकरेंसी में पैसे इन्वेस्ट कर सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी में पैसा इन्वेस्ट करने के बाद जैसे ही करेंसी का value बढ़ता है तो आपके द्वारा इनवेस्ट किए गए पैसे का भी वैल्यू बढ़ जाता है।

  • क्रिप्टोकरेंसी के लिए किसी प्रकार की बैंकिंग प्रणाली की आवश्यकता नहीं है यह पूरी तरह से डिजिटल है।
  • क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह से सुरक्षित करेंसी है।
  • क्रिप्टोकरेंसी में करेंसी खरीद करके बेच सकते हैं जिससे आप मुनाफा भी कमा सकते हैं।
  • करेंसी से करेंसी खरीदना बेचना इन्वेस्ट करना आदि कामों को भी डिजिटल तरीके से कर सकते हैं।
  • क्रिप्टोकरेंसी के कीमतों में बहुत ही जल्द उछाल भी आता है जिससे आप पैसों को तेजी से आगे बढ़ा सकते हैं लेकिन इसका उपयोग करने के लिए जानकारी और सावधानी दोनों होना जरूरी है।

Cryptocurrency के नुकसान

क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल करेंसी है जो कि दुनिया में पहले नहीं था वर्तमान समय में आगे बढ़ रहा है इसलिए इसके बारे में लोगों को जानकारी बहुत ही कम होता है। जिसके कारण क्रिप्टोकरेंसी में कुछ असावधानी के कारण नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी में इसका कोई ऑथराइज्ड आईडेंटिटी नहीं होता है। इसका पूरी तरह से ऑनलाइन कंट्रोल होता है इसमें करेंसी की वैल्यू कम या ज्यादा भी हो सकती है। इसमें करेंसी अप्रत्याशित रूप से घटती है और बढ़ती भी है।

  • कभी भी किसी भी करेंसी का वैल्‍यू घट सकता है या बढ़ भी सकता है
  • डिजिटल प्लेटफॉर्म वैसे तो बहुत सुरक्षित है लेकिन कभी-कभी इसमें कई प्रकार के ऐसे वायरस होते हैं जिससे आपके करेंसी को हैक भी किया जा सकता है।
  • क्रिप्टोकरेंसी में किसी भी प्रकार का लीगल नियंत्रण नहीं है जिससे इसका उपयोग गलत तरीके से भी किया जा सकता है।
  • क्रिप्टोकरेंसी का कोई फिजिकल अस्तित्व नहीं है जिससे इसको सिक्के और नोट के रूप में देखा या रखा नही जा सकता है।

भारत में क्रिप्टोकरेंसी की सरकारी मान्यता

भारत में क्रिप्टोकरेंसी को पूरी तरह से लीगल है क्योंकि इसको सरकार के द्वारा लीगल रूप से मान्य किया गया है। वैसे अभी भी कई देशों में क्रिप्टोकरेंसी अवैध है लेकिन कुछ देशों में क्रिप्टोकरेंसी मान्य भी है जिस तरह से क्रिप्टोकरेंसी का मार्केट आगे बढ़ रहा है आने वाले भविष्य में कई देशों में इस को मान्यता भी जरूर मिल जाएगा।

FAQ

क्रिप्टोकरेंसी क्या है

क्रिप्टोकरंसी एक डिजिटल करेंसी है वर्चुअल करेंसी है जिसको ऑनलाइन खरीदा जा सकता है बेचा जा सकता है।

क्या डिजिटल करेंसी को एक्सचेंज कर सकते हैं

डिजिटल करेंसी को ऑनलाइन एक्सचेंज किया जा सकता है उसके लिए कई ऑनलाइन वेबसाइट है जहां पर आप अपने फिजिकल करेंसी को डिजिटल करेंसी में भी परिवर्तित कर सकते हैं अपने क्रिप्टोकरेंसी को फिजिकल करेंसी के रूप में भी परिवर्तित कर सकते हैं।

भारत में क्रिप्टोकरंसी की स्थिति

भारत में क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह से कानूनी है इस को कानूनी रूप से मान्यता मिला हुआ है।

क्रिप्टोकरेंसी कौन बनाता है

क्रिप्टोकरेंसी डिजिटल करेंसी होता है जिसको एक प्रोग्राम सॉफ्टवेयर के साथ बनाया जाता है जिसको बनाने के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम करते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी कैसे खरीदें

भारत में क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए ऊपर कई वेबसाइट बताया गया है जहां से आप क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं साथ ही साथ अपने स्मार्टफोन से भी आप क्रिप्टोकरेंसी ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं और वहां से भी क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं।

What is blockchain technology

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी एक प्रकार का क्रिप्टोकरेंसी को सिक्योर करने का टेक्नोलॉजी है जिससे डिजिटल करेंसी को सुरक्षित रखा जाता है उसमें किसी प्रकार के छेड़छाड़ से बचाने के लिए इस ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है।

सारांश

Cryptocurrency को यदि एक लाइन में समझा जा तो क्रिप्टोकरेंसी कंप्यूटर पर रखा जाने वाला एक डिजिटल फाइल है। जिसको एक कंप्यूटर पर रखा जाता है जो नेटवर्क के तहत काम करता है।

जिस तरह से अपने अकाउंट को किसी भी यूपीआई ऐप के माध्यम से जोड़ने के बाद उस यूपीआई ऐप के वॉलेट में पैसा जमा कर दिया जाता है ठीक उसी प्रकार क्रिप्टोकरेंसी में अपने फिजिकल मनी को वर्चुअल मनी के रूप में रखा जाता है इसी को क्रिप्टोकरेंसी कहते हैं।

इस लेख में Cryptocurrency kya hai क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करता है क्रिप्टोकरेंसी में कई प्रकार के अलग-अलग करेंसी होते हैं क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीद सकते हैं

इसके फायदे और हानि के बारे में पूरी जानकारी दी गई है फिर भी Cryptocurrency से संबंधित या अन्य इस लेख से संबंधित कोई सवाल हो तो कृपया कमेंट करके जरूर पूछें तथा इस जानकारी को अपनी सोशल मीडिया पर भी शेयर जरूर करें।

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here