पेपल अकाउंट कैसे बनाएं पेपल क्या हैं

पेपल अकाउंट कैसे बनाएं PayPal account kaise banaye पेपल क्या हैं इंटरनेट के इस जमाने में हम सभी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं दुनिया के किसी भी कोने में यदि कोई सामान हैं और उसको खरीदना चाहते हैं तो इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन खरीद सकते हैं PayPal account kaise banaye in hindi अपने देश के अंदर किसी भी तरह के सामान को खरीदने के लिए एटीएम कार्ड डेबिट कार्ड इंटरनेट बैंकिंग या यूपीआई से पेमेंट आसानी से हो जाता हैं.

लेकिन जब किसी भी तरह का सामान भी देश से या किसी अन्य देश से खरीदना होता हैं उस समय जब पेमेंट करना होता हैं तो उस देश का करेंसी अलग होता हैं तब वहां पर पेमेंट करने के लिए समस्या होता हैं उसी समस्या को हल करने के लिए पेपल एक ऐसा कंपनी हैं जो किसी भी देश के समान खरीदने पर पेपल के द्वारा पेमेंट करने तथा पेमेंट रिसीव करने का सुविधा मुहैंया कराता हैं.

यदि आप भी कभी ना कभी किसी देश से किसी भी तरह का कोई सामान खरीदते होंगे या खरीदे होंगे या खरीदने के बारे में सोच रहे होंगे तो आपको पेपल से पाला जरूर पडा होगा फिर भी यदि आप पेपल के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी रखते हैं या Paypal के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो इस लेख में आपको पेपल के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी जिसमें पेपल क्या हैं पेपल अकाउंट कैसे बनाते हैं पेपल का लाभ पेपल कैसे काम करता हैंसभी तरह के सवालों का जवाब आपको इस लेख में नीचे विस्तार से मिलने वाला हैं.  इंटरनेट क्या हैं

पेपल अकाउंट कैसे बनाएं

पेपल दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन पेमेंट करने वाला एक प्लेटफार्म हैं जिसके माध्यम से ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं ऑनलाइन पेमेंट रिसीव कर सकते हैं दुनिया के किसी भी देश से यदि आप पैसा भेजना चाहते हैं या दुनिया के किसी भी देश से आप पैसा रिसीव करना चाहते हैं तो पेपल के द्वारा आप कर सकते हैं.

दुनिया में जितने भी तरह का करेंसी इस्तेमाल किया जाता हैं उन सभी करेंसी के माध्यम से यदि आप पेमेंट रिसीव करना चाहते हैं अपने देश के करेंसी में या आप अपने देश से किसी देश को आप पैसा भेजना चाहते हैं. तो आपका जो करेंसी हैं उस करेंसी में आप पेमेंट करेंगे और जहां आप पैसा भेजना चाहते हैं वहां पर PayPal के द्वारा उस करेंसी में पैसा को पेमेंट कर दिया जाता हैं. पेपल से पैसा भेजना तथा रिसीव करना बहुत ही सुरक्षित तथा आसान हैं. पेपल के माध्यम से दुनिया में कहीं भी पैसा भेजना तथा पैसा रिसीव करना एक सुरक्षित एवं आसान ऑनलाइन प्लेटफॉर्म हैं. ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं

PayPal account kaise banaye in hindi

इतिहास 

पेपल का इतिहास बहुत ज्यादा पुराना नहीं हैं पेपल को जब सबसे पहले शुरू किया गया था उस समय एक सॉफ्टवेयर कंपनी के रूप में किया गया था. लेकिन एक साल बाद पेपल को ऑनलाइन ग्लोबल पेमेंट्स ट्रांसफर प्रणाली के रूप में विकसित किया गया.

जबकि उस समय ऑनलाइन ज्यादातर पेमेंट का उपयोग नहीं किया जाता था फिर भी PayPal Company के द्वारा भविष्य को देखते हुए उस समय ऑनलाइन पेमेंट ट्रांसफर एवं रिसीव करने के लिए पेपल को लांच किया. पेपल की स्थापना दिसंबर 1998 में किया गया था उस समय पेपल का नाम Confinity कंपनी के नाम से था जिसको कुछ दिनों के बाद बदल कर के पेपल कर दिया गया.

पेपल का मालिक कौन हैं 

पेपल एक कंपनी हैं जिसका मालिक सीईओ प्रेसिडेंट Dan Schulman हैं. जब पेपल को बनाया गया था उस समय इसके जो फाउंडर सदस्य थे उनका नाम इस प्रकार हैं. Max Levchin, Peter Thiel, Luke Nosek, Ken Howery.

PayPal कंपनी बनाने का मुख्य उद्देश्य था कि जब किसी देश से दूसरे देश में ऑनलाइन किसी भी तरह का व्यापार किया जाएगा और उसका ऑनलाइन पैसा का लेन देन करने के लिए पैसा का आदान प्रदान करने के लिए पेमेंट रिसीव करने के लिए पेमेंट को पिक करने के लिए एक प्लेटफार्म की जरूरत थी जो कि पेपल ने दूरदर्शिता का परिचय देते हुए एक ऐसा प्लेटफार्म तैयार किया जिसके माध्यम से आज लोग किसी दूसरे कंट्री से कमाई करके अपने कंट्री में उस करेंसी का पैसा आसानी से प्राप्त कर लेते हैं. 

पेपल किस देश की कंपनी हैं

पेपल एक अमेरिकन कंपनी हैं जिस का हेड क्वार्टर अमेरिका के कैलिफोर्निया शहर में स्थित हैं. वैसे Paypal पूरी दुनिया में ऑनलाइन पेमेंट के लिए काम करता हैं इसलिए इसका कार्यालय दुनिया के लगभग अनेक देशों में स्थित हैं लेकिन पेपल का जो कॉरपोरेट्स हेड क्वार्टर हैं जो मुख्य कार्यालय हैं वह अमेरिका के कैलिफोर्निया San Jose में स्थित हैं.

पेपल पर कितने तरह का अकाउंट बना सकते हैं

पेपल पर मुख्य रूप से 2 तरह का अकाउंट बनाया जाता हैं

  • Individual account
  • Business account

Individual account

इंडिविजुअल अकाउंट वैसा अकाउंट होता हैं जिसमें किसी एक व्यक्ति का अपना पर्सनल उपयोग के लिए अकाउंट बनाया जाता हैं. जिससे अकाउंट के द्वारा वह व्यक्ति किसी भी तरह का ऑनलाइन पेमेंट कर सकता हैं या पेमेंट को रिसीव कर सकता हैं लेकिन उस खातों को किसी व्यापार या फिर अन्य किसी तरह के व्यापार से संबंधित कामों के लिए उपयोग नहीं करता हैं वैसे जो खाते होते हैं वह सभी पर्सनल अकाउंट यानी कि इंडिविजुअल खाता Paypal पर बनाया जाता हैं.

पर्सनल अकाउंट बनाने के लिए कोई ज्यादा चीजों की आवश्यकता नहीं होता हैं आसानी से पर्सनल अकाउंट को बनाया जा सकता हैं और इस पर्सनल अकाउंट से अधिक किसी को पेमेंट करना हैं तो डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के माध्यम से किसी को पेमेंट किया जा सकता हैं. 

Business account

बिजनेस अकाउंट वैसा अकाउंट होता हैं जो कि किसी कंपनी के नाम से बनाया जाता हैं तथा उस अकाउंट का उपयोग भी बिजनेस व्यापार से संबंधित पेमेंट करने का या पेमेंट रिसीव करने के लिए किया जाता हैं बिजनेस अकाउंट किसी एक ग्रुप के नाम पर भी हो सकता हैं. पर्सनल अकाउंट से ज्यादा बिजनेस अकाउंट में जो सुविधाएं होता हैं वह ज्यादा मिलता हैं इसमें आप ज्यादा संख्या में क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड पेमेंट करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

लेकिन इसमें जो ज्यादा सुविधा मिलता हैं उसके लिए कुछ एक्स्ट्रा चार्ज भी होते हैं जो की पर्सनल खाता में नहीं करना पड़ता हैं. बिजनेस अकाउंट में सुविधाएं ज्यादा मिलता हैं जिसके चलते अलग से कुछ चार्जेस भी पेपल अप्लाई करता हैं वही जो इंडिविजुअल खाता हैं उसमें चार्जेस कम लगता हैं तथा उसमें लिमिटेड पेमेंट तथा क्रेडिट डेबिट कार्ड उपयोग करने की सुविधा मिलता हैं.

Paypal में किसी भी तरह का खाता बनाने के लिए कोई चार्जेस नहीं देना पड़ता हैं फ्री में खाता बनाया जा सकता हैं चाहे वह पर्सनल खाता हो या बिजनेस अकाउंट हो दोनों ही तरह के खाता बनाने के लिए कोई चार्जेस नहीं लगता हैं.

पेपल खाता बनाने के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स

PayPal account पेपल में खाता बनाने के लिए ज्यादा डॉक्यूमेंट की आवश्यकता नहीं होता हैं लेकिन कुछ जरूरी चीजें आपके पास जरूर होना चाहिए.

  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • बैंक अकाउंट
  • डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पेपल अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले आप अपने कंप्यूटर या स्मार्टफोन से paypal को ओपन करेंगे.
  • Sign up पर क्लिक करेंगे
  • उसके बाद दो ऑप्शन दिखाई देगा individual account, business account
  • Individual account पर क्लिक करेंगे
  • कंटिन्यू पर क्लिक करेंगे
  • अब आपको अपना मोबाइल नंबर डालना हैं
  • Next पर क्लिक करना हैं
  • उसके बाद एक ओटीपी आपके मोबाइल पर जाएगा
  • उसको आप मोबाईल नम्‍बर वेरीफाई करने के लिए इंटर करेंगे 
  • उसके बाद आप ऑटोमेटिक नेक्स्ट पेज पर चले जाएंगे
  • अब आपको अपना ईमेल आईडी डालना हैं
  • उसके बाद पासवर्ड सेट करेंगे
  • फिर कंफर्म पासवर्ड इंटर करेंगे
  • उसके बाद नेक्स्ट पर क्लिक करेंगे.
  • अब आप अपना कंट्री चयन करेंगे
  • फर्स्ट नेम मिडिल नेम और लास्ट नेम को भरेंगे
  • अपना डेट ऑफ बर्थ डालेंगे
  • अपना एड्रेस लिखेंगे
  • अपने टाउन सिटी को इंटर करेंगे
  • अपना राज्य का नाम चयन करेंगे
  • अपने पिन कोड को डालेंगे
  • उसके बाद तीन बॉक्स को आप thick करेंगे
  • Agree and create account पर क्लिक करेंगे.
  • उसके बाद अब आप अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड को पेमेंट करने के लिए ऐड करेंगे
  • कार्ड नंबर को डालेंगे
  • Choose your card type
  • Card expiry date
  • Security code जो डेबिट कार्ड के बैक साइड में होता हैं
  • Click on link card.
  • इस तरह से आप अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड को भी ऐड कर पाएंगे
  • उसके बाद जो आपका ईमेल आईडी हैं उस पर एक वेरिफिकेशन मिल जाता हैं उसको आप ओपन करके और अपना अकाउंट को वेरीफाई कर लेंगे
  • इस तरह से आपका अकाउंट पेपल पर तैयार हो जाता हैं
  • अब यदि आप किसी भी तरह का कोई खरीदारी करना चाहते हैं तो आप पेपल के द्वारा पेमेंट कर सकते हैं.

पेपल कैसे काम करता हैं

PayPal  पेपल का काम करने का जो तरीका हैं इस तरह का हैं कि यदि हम भारतीय रुपीस में पेपल को पैसा पेमेंट करते हैं तो वह जिस कंट्री में आप पैसा भेज रहे हैं उस कंट्री में उस पैसे को उस कंट्री के करेंसी के हिसाब से ट्रांसफर करके और पैसा को वहां भेज देता हैं.

पेपल से अधिक पैसा रिसीव करना चाहते हैं तो उसके लिए यदि अमेरिका से हम डॉलर में पैसा कमाए हैं और उस पैसे को अपने भारतीय मुद्रा में लेना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे पहले पेपल के द्वारा उस पैसे को पेपल अकाउंट में ट्रांसफर करेंगे जिसके लिए पेपल ईमेल ऐड्रेस को पेपल अकाउंट के लिए इस्तेमाल करता हैं और उस ईमेल एड्रेस पर अमेरिका से पैसा पेपल के पास आएगा और पेपल उस डॉलर वाले कमाई को भारतीय मुद्रा यानी कि रुपया में कन्वर्ट करके खाते में ट्रांसफर कर देता हैं.

PayPal पर अकाउंट बनाने के बाद जो ईमेल आईडी होता हैं वही पेपल का खाता होता हैं जैसे कभी भी किसी तरह का कोई पेमेंट स्वीकार करना होता हैं तो उस ईमेल आईडी पर पेपल पैसा स्वीकार करता हैं.

पेपल से पैसा आपने खाता में लेने के लिए Paypal में अपने बैंक का अकाउंट ऐड करना पड़ता हैं उसके बाद जब Paypal के पास पैसा आता हैं तो पेपल उस पैसे को आपके खाते में ट्रांसफर कर देता हैं.

Paypal se paise kaise kamaye

पेपल से पैसा कमाने के लिए सबसे पहले Paypal account क्रिएट करना होता हैं उसके बाद पेपल पर जब आप account बना लेते हैं उसके बाद पेपल का एक प्रोग्राम हैं जिसको रेफर एंड अर्न प्रोग्राम के नाम से जाना जाता हैं इस प्रोग्राम के साथ आप अपना खाता बनाने के बाद दूसरों को यदि रेफर करते हैं और दूसरा व्यक्ति भी पेपल पर अपना अकाउंट बनाता हैं तो इसके लिए पैसा पेपल के द्वारा दिया जाता हैं.

इस तरह से आप रेफर एंड अर्न प्रोग्राम से जुड़ कर के Paypal से आप पैसा कमा सकते हैं इसके लिए हर एक रेफर किए गए लोगों के द्वारा यदि अकाउंट पेपल पर बनाया जाता हैं तो उसके लिए ₹400 दिया जाता हैं यह पैसा समय के अनुसार घट बढ़ सकता हैं इसलिए करंट जानकारी पाने के लिए Paypal का वेबसाइट पर जाकर के पता कर सकते हैं और इस तरह से आप पेपल के रेफर एंड अर्न प्रोग्राम से पैसा कमा सकते हैं.

फायदे

यदि कल्पना किया जाए कि Paypal के बिना विदेश में पैसा भेजना तथा विदेश से पैसा लेना कितना मुश्किल काम हैं इसलिए पेपल एक ऐसा ऑनलाइन पेमेंट रिसीव करने के लिए अपील करने के लिए एक ऐसा प्लेटफार्म हैं जिसके माध्यम से आसानी से पैसा को एक दूसरे जगह ट्रांसफर किया जा सकता हैं.

  • पेपल सौ परसेंट प्रोटेक्शन प्रदान करता हैं जिससे किसी भी तरह का कोई लेन-देन में दिक्कत नहीं हो.
  • सुरक्षित पैसा भेजने के लिए एक बहुत बढ़िया प्लेटफार्म हैं.
  • यदि कभी किसी कंट्री में किसी सेलर को पैसा आप भेजते हैं और वह आपके साथ कुछ गलत करता हैं तो आप पेपल के माध्यम से उस पर करवाई कर सकते हैं.
  • किसी भी तरह के दिक्कत होने पर पेपल के द्वारा आपको सपोर्ट मिलता हैं.
  • पेपल से पैसा को ट्रांसफर करने के लिए रिसीव करने के लिए आपको कुछ ऑफर भी दिया जाता हैं.

डिसएडवांटेज

चाहे कोई भी चीज हो उसका जितना ज्यादा फायदा लाभ होता हैं उसमें कुछ न कुछ जरूर उसका डिश एडवांटेज भी होता हैं. जब किसी पेपल अकाउंट होल्डर के द्वारा पेपल का जो टर्म्स एंड कंडीशन हैं या किसी भी तरह का गलत एक्टिविटी किया जाता हैं तब पेपल आपके अकाउंट को बंद कर देता हैं.

पेपल एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म हैं इसलिए कभी-कभी पेपल में किसी तरह का कोई इशु होता हैं तो उसको ठीक करने के लिए आपको ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सपोर्ट लेना पड़ता हैं जिसमें आपको कुछ समय का इंतजार करना पड़ता हैं.

FAQ

पेपल कहां की कंपनी हैं 

PayPal एक अमेरिकन कंपनी हैं जिसका हेड क्वार्टर कैलिफोर्निया में स्थित हैं.

पेपल का इस्तेमाल क्यों करें 

PayPal का इस्तेमाल करना जरूरी हैं क्योंकि इसके बिना आप किसी दूसरे देश में पैसा ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं या वहां से पैसा रिसीव नहीं कर सकते इसलिए इंटरनेशनल जब भी किसी तरह का लेन-देन करने की आवश्यकता होगा तो आपको पेपल का उपयोग करना ही पड़ेगा.

पेपल के फाउंडर कौन हैं 

PayPal के फाउंडर्स मैक्स Levchin, Peter Thiel, Luke Nosek, Ken Howery हैं इन लोगों ने मिलकर ही वर्ष 1998 में पेपल का निर्माण किया था.

क्या इंडिया में पेपल का कार्यालय हैं 

भारत में पेपल का कार्यालय तमिलनाडु के राजधानी चेन्नई में स्थित हैं.

पेपल का शुरुआत कब हुआ था

PayPal का शुरुआत सबसे पहले वर्ष 1998 में हुआ जो कि एक सॉफ्टवेयर कंपनी के रूप में हुआ और उसके कुछ ही दिनों बाद इसको ऑनलाइन इंटरनेशनल पेमेंट ट्रांसफर के रूप में विकसित किया गया.

पेपल अकाउंट कितने तरह के होते हैं 

 PayPal अकाउंट मुख्य रूप से दो प्रकार का होता हैं पहला इंडिविजुअल अकाउंट और दूसरा बिजनेस अकाउंट.

पेपल अकाउंट क्या हैं पेपल अकाउंट कैसे बनाएं

पेपल अकाउंट एक प्रकार का खाता हैं जिसके माध्यम से जब किसी भी दूसरे देश में या यह कहिए कि जब विश्व में किसी भी कंट्री में किसी तरह का फंड को ट्रांसफर करना होता हैं या फंड को स्वीकार करना होता हैं तो उसके लिए Paypal account का उपयोग किया जाता हैं.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment