What is Computer virus in hindi  – कंप्यूटर वायरस क्या हैंं

 क्या है Computer virus in hindi language कंप्यूटर वायरस से कंप्यूटर को क्या नुकसान होता है Computer Virus से Computer को कैसे बचाया जा सकता है कंप्यूटर वायरस को बनाने का उद्देश्य क्या है.

कंप्यूटर वायरस Computer को कितना प्रभावित करता है. कंप्यूटर वायरस Computer के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक है Computer Virus, Computer में फैलने के कारण Computer पूरी तरह से बंद हो सकता है.

इस लेख में Computer Virus के बारे में हम लोग पूरी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो चलिए Computer Virus के बारे में हम लोग विस्तृत जानकारी नीचे प्राप्त करते हैं.

What is Computer virus in hindi 

Virus एक प्रकार का कंप्यूटर का एक प्रोग्राम होता है जो कि Computer को बर्बाद करने के लिए या उसके डाटा को पूरी तरह से नष्ट करने के लिए डाटा को हैक करने के लिए तैयार किया गया है. जैसे मनुष्य को तरह-तरह की बीमारियों के द्वारा परेशान होना पड़ता है.

उसी तरह से Computer सिस्टम को भी Computer Virus के द्वारा प्रभावित होना पड़ता है जिसके कारण Computer पूरी तरह से अपने कामों को नहीं कर पाता है.

Computer virus in hindi language

Computer virus in hindi 

Virus एक प्रकार का हानिकारक तत्व होता है जो कि कंप्यूटर के भाषा में इसको एक प्रोग्रामिंग Virus या Virus सॉफ्टवेयर के रूप में तैयार किया जाता है और इसको किसी ना किसी Computer के माध्यम से एक कंप्यूटर से दूसरे Computer में भेज करके और उस Computer को प्रभावित करता है.

जिसके कारण Computer पूरी तरह से Virus के प्रभाव में आ जाता है.

 

कंप्यूटर वायरस के दुष्परिणाम क्या है  

कंप्यूटर में जब Virus पूरी तरह से अपना पकड़ बना लेता है या बनाने लगता है उसके बाद Computer का जो कार्य करने का तरीका होता है उसमें पूरी तरह से बदलाव आ जाता है Computer पूरी तरह से अपने काम को से फिरफार्म नहीं कर पाता है.

Virus को Computer के किसी एक हिस्से में फैलने के बाद Virus Computer को धीरे-धीरे पूरी तरह से Computer को अपने कब्जे में लेने लगता है और Computer को सक्रिय रूप से काम करने में बाधा उत्पन्न करता है.

  • Computer के speed गति को प्रभावित करता है.
  • फाइल को नष्ट कर देता है.
  • Computer के फोल्डर को नष्ट कर देता है.
  • Computer में जो डाटा होते हैं उसको डिलीट कर देता है.
  • डाटा को शॉर्टकट फाइल में कन्वर्ट कर देता है.
  • Computer के डाटा को हैक कर लेता है.
  • Computer को अस्थाई रूप से बंद कर देता है.
  • हार्ड डिक्स मेमोरी को कार्य करने से रोकता है.

कंप्यूटर वायरस के कुछ प्रकार  

कंप्यूटर का जो Virus होता है वह भी तरह तरह के होते हैं और उनका फैलने का भी जो प्रक्रिया होता हो तरह-तरह के माध्यम से एक Computer से दूसरे Computer में फैलता है Computer के Virus जो होते हैं उनके लक्षण भिन्न-भिन्न प्रकार के होते हैं.

और उनका जो Computer को संचालित करने में जो रोकने का प्रक्रिया होता है वह भी तरह तरह का होता है आइए हम लोग जानते हैं कि Computer के कुछ Virus के प्रकार किस तरह का होता है.

  • Boot sector virus
  • Micro virus
  • Network virus
  • File infector virus
  • Malware virus
  • Browser hijacker virus
  • Encrypted virus

Boot sector virus: – इस तरह के Virus जो होते हैं वह Computer के जो मेन बोर्ड में फैल जाते हैं और उसको निकालना भी काफी मुश्किल होता है बूट सेक्टर Virus को फैलने के बाद Computer को Virus से मुक्त करने के लिए फॉर्मेट करना पड़ता है क्योंकि बिना फॉर्मेट किए इस तरह का Virus को हटाना मुश्किल है.

Micro virus: – माइक्रो Virus एक छोटे प्रकार का Virus होता है जो कि Computer के कुछ छोटे-छोटे फाइल एप्लीकेशन को प्रभावित करता है और इस Virus को Computer से हटाने के लिए किसी एंटीVirus को इंस्टॉल करके हटाया जा सकता है.

Network virus:- नेटवर्क Virus के नाम से ही पता चलता है कि इस तरह का Virus जो है वह इंटरनेट यानी कि नेटवर्क के माध्यम से Computer में फैलता है Computer में जब हम लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो लोकल एरिया नेटवर्क के माध्यम से जो Virus होते हैं.

वह धीरे-धीरे Computer को प्रभावित करना शुरू करते हैं और नेटवर्क इंटरनेट को चलाने में यह दिक्कत उत्पन्न करते हैं और इस तरह के नेटवर्क फैलने से Computer और इंटरनेट का जो कनेक्टिविटी होता है वह प्रभावित होने लगता है इस तरह के Virus को worms भी कहा जाता है.

File infector virus:-फाइल इनफेक्टर Virus के नाम से यह पता चलता है कि इस तरह के जो Virus होते हैं वह Computer के जो फाइल होते हैं उन को प्रभावित करते हैं फाइल इन फैक्ट्री Virus जब Computer में प्रवेश करते हैं तो Computer के जो फाइल होते हैं उसको नष्ट करने लगते हैं और उस फाइल को ओपन करने में दिक्कत उत्पन्न करते हैं.

Malware virus:- Malware Virus एक प्रकार का ऐसा Virus होता है जो Computer इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले सिस्टम को प्रभावित करता है और Malware Virus को Computer से हटाने के लिए Computer में एंटीVirus को इंस्टॉल करके इस तरह के Virus को हटाया जा सकता है

इस तरह के Virus Computer में जो फाइल फोल्डर होते हैं उसको नष्ट करने का काम करते हैं.

Browser hijacker virus:- इस तरह के जो Virus होते हैं वह Computer में ज्यादातर इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले Computer के डाटा को हैक करने का काम करते हैं Computer में इस्तेमाल किए जा रहे ब्राउज़र के द्वारा इस तरह के Virus Computer को भी पूरी तरह से प्रभावित करते हैं.

Encrypted virus:- इस तरह के Virus जो होते हैं वह काफी सूक्ष्म दिखने वाले Virus होते हैं और धीरे-धीरे यह Computer को स्लो करने लगते हैं लेकिन इस तरह के Virus को पकड़ना एंटीVirus के लिए भी काफी मुश्किल होता है.

इंक्रिप्टेड Virus Computer के फाइल और फोल्डर को तो नुकसान नहीं पहुंचाते लेकिन Computer की स्पीड और उसके परफॉर्मेंस को प्रभावित करते हैं.

कंप्यूटर वायरस के लक्षण  

जब कोई Computer का स्पीड कम हो जाए और उसका जो काम करने का गति है वह धीरे-धीरे कम होने लगे तो समझना चाहिए Computer में Virus का प्रवेश हो चुका है दूसरा Computer में जो फाइल फोल्डर है उसको ओपन करने पर और शॉर्टकट में कन्वर्ट हो जाए तो इससे भी Computer में Virus के होने का पता चलता है.

Computer में Virus जब प्रवेश कर जाते हैं तो Computer को पूरी तरह से प्रभावित करने लगते हैं तो आपको Computer में बहुत तरह का बदलाव दिखने लगता है जिससे आपको समझ जाना चाहिए कि आपके Computer में Virus प्रवेश कर चुका है.

कंप्यूटर में वायरस फैलने का कारण  

Computer में Virus फैलने का मुख्य कारण है किसी भी Computer में ज्यादा इंटरनेट का इस्तेमाल करने से उसमे Virus फैलने का डर बना रहता है क्योंकि इंटरनेट के माध्यम से तरह-तरह के वेबसाइट को विजिट किया जाता है और उसके कारण उन वेबसाइट में जो Virus होते हैं वह Computer में भी प्रवेश कर जाते हैं.

Computer में Virus फैलने का कारण है किसी दूसरे डिवाइस में इस्तेमाल किए जा रहे पेन ड्राइव सीडी डीवीडी फ्लॉपी डिस्क इत्यादि को एक Computer से दूसरे Computer में इस्तेमाल करने पर Virus फैल जाता है.

कंप्यूटर वायरस को कंप्यूटर में फैलने से कैसे बचाएं  

किसी भी Computer में Virus को फैलने से रोकने के लिए किसी दूसरे Computer में इस्तेमाल किए जा रहे पेन ड्राइव डीवीडी फ्लॉपी डिस्क या उस में इस्तेमाल किए जा रहे डेटा को किसी दूसरे Computer में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि उस Computer के Virus जो है वहां से आपके Computer में भी प्रवेश कर सकते हैं.

लेकिन यहां पर सवाल आ जाता है कि यदि किसी दूसरे Computer के डाटा को किसी तीसरे Computer में इस्तेमाल करना जरूरी है तो उसके लिए एंटीVirus का उपयोग जरूर करना चाहिए. Computer में ज्यादातर इंटरनेट का इस्तेमाल करने से भी Virus फैलता है.

इसलिए जरूरत ना हो तो ज्यादा इंटरनेट का उपयोग ना करें Computer को सुरक्षित रखने के लिए एंटीVirus का उपयोग जरूर करें.

Virus ka full form: – vital information resource under siege

कंप्यूटर वायरस कैसे हटाएं  

कंप्यूटर से Virus को हटाने के लिए Computer में एंटी Virus का इस्तेमाल करना चाहिए एंटीVirus का इस्तेमाल करने से Computer में जो Virus होते हैं उन Virus को एंटीVirus निकाल कर बाहर कर देता है यदि आप ज्यादा इंटरनेट का इस्तेमाल ना करते हैं तो आप फ्री एंटीVirus का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

नहीं तो आप एंटीVirus को खरीद करके भी आप अपने Computer को सेफ और सुरक्षित रख सकते हैं नीचे दिए गए इन एंटीVirus का उपयोग करके आप Computer को सुरक्षित रख सकते हैं.

  • Avast antivirus
  • McAfee total protection
  • Kaspersky internet security
  • Norton security standard
  • Guardian total security
  • AVG ultimate
  • K7 total security
  • Quick heal total security antivirus
  • Bitdefender antivirus.

ये भी पढ़े

सारांश  

यहां पर कंप्यूटर वायरस क्या है कंप्यूटर वायरस को फैलने से कैसे रोका जा सकता है Computer Virus के लक्षण क्या है Computer Virus को Computer से कैसे हटाया जा सकता है Computer Virus के बारे में पूरी जानकारी दी गई है फिर भी कंप्यूटर वायरस से संबंधित कोई सवाल हो तो कृपया कमेंट करके जरूर पूछें.

Computer Virus के बारे में यह जानकारी कैसा लगा कृपया कमेंट करके अपना राय जरूर दें और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी करें.

Leave a Comment