डीमैट अकाउंट क्या होता है डीमैट अकाउंट कैसे खोले

डीमैट अकाउंट क्या हैं Demat account kya hai डीमैट अकाउंट दो शब्दों से मिलकर बना है जिसका मतलब हिंदी में डीमैट खाता होता है। जैसे बैंक में अकाउंट होता है ठीक उसी प्रकार Demat account भी होता है.

लेकिन दोनों का काम अलग है। बैंक के अकाउंट में हम अपने पैसे को जमा करते हैं निकासी करते हैं या फिर अपने पैसों को किसी भी दूसरे अकाउंट में ऑनलाइन ट्रांसफर कर देते हैं या अन्य बैंक से जुड़े हुए कामों के लिए अपने बैंक खाता का उपयोग करते हैं। जबकि डीमैट अकाउंट का उपयोग शेयर खरीदने शेयर बेचने के लिए करते हैं।

सबसे पहले अब सवाल आपके मन में यह आ सकता है कि शेयर क्या है शेयर का मतलब होता है भागीदार, हिस्सेदारी जिसका मतलब होता है यदि किसी भी कंपनी में आप उसका पार्टनर बनना चाहते हैं या कंपनी के कुछ भाग (Share) को खरीदते हैं उसी को शेयर के नाम से जानते हैं। 

उदाहरण के लिए जैसे कोई एक कंपनी है और उस कंपनी में उसका हिस्‍सेदारी, हक प्राप्त करना चाहते हैं या उसमें आप पार्टनर बनना चाहते हैं तो उस कंपनी का शेयर खरीद सकते हैं जिसके बाद आप उस कंपनी में हिस्‍सेदार बन सकते हैं.

Demat account kya hai डीमैट अकाउंट क्या होता हैं

डीमैट अकाउंट एक प्रकार का खाता है जिसके द्वारा किसी कंपनी का शेयर खरीद सकते हैं तथा शेयर को किसी दूसरे व्यक्ति को बेच सकते हैं। शेयर मार्केट के बारे में आप जरूर जानते होंगे यदि नहीं जानते हैं तो इसको पढ़ सकते हैं जैसे शेयर मार्केट में काम करने के लिए, शेयर मार्केट से मुनाफा कमाने के लिए डीमैट अकाउंट ओपन करवाना पड़ता है जिसके बाद ही किसी कंपनी में हम शेयर खरीद सकते हैं या खरीदे हुए शेयर को बेच सकते हैं।

पहले जब टेक्नोलॉजी का विस्तार नहीं था उस समय लोग किसी भी कंपनी में शेयर खरीदने के लिए ऑफलाइन मोड में काम करते थे तब जब वह किसी कंपनी में शेयर खरीदते थे तो शेयर खरीदने के बाद उसके प्रमाण के रूप में कंपनी के तरफ से शेयर का पेपर उनके पास बेचा जाता था उसी पेपर को यदि किसी को बेचना चाहते हैं तो उस समय अपने शेयर को उस पेपर के माध्यम से ही बेचते थे।

Demat account kya hai

लेकिन आज के समय में शेयर खरीदने के लिए शेयर बेचने के लिए ऑनलाइन डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग किया जा रहा है जिसके लिए आपको एक डीमैट अकाउंट जरूर ओपन करवाना पड़ेगा। तभी ऑनलाइन शेयर खरीद सकते हैं या बेच सकते हैं।

SEBI सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया के द्वारा बनाए गए जो नियम है उसके अनुसार शेयर बाजार में पैसा लगाने के लिए स्टॉक खरीदने के लिए, या स्टॉक बेचने के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना आवश्यक है। क्योंकि बिना डीमैट अकाउंट के किसी प्रकार का कोई शेयर खरीद सकते हैं नही बेच सकते हैं।

Demat account का परिभाषा

जिस तरह से हम लोग अपने पैसों को अपने बैंक खाता में रखते हैं जिस पर पूरा भरोसा करते हैं और हमारा पैसा बैंक में सुरक्षित रहता है ठीक इसी प्रकार अपने शेयर को सुरक्षित रखने के लिए डीमैट अकाउंट का उपयोग करते है जिसके माध्यम से डीमैट अकाउंट में हमारा शेयर पूरी तरह से सुरक्षित रहता है। जिसमें किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी या नुकसान की गुंजाइश नहीं होता है।

What is demat accout in hindi

 कोई भी व्यक्ति जिसका उम्र 18 वर्ष से ज्यादा है वह अपना डीमैट अकाउंट ओपन कर सकता है। अब सवाल यह भी मन में आपको जरूर आएगा कि Demat account कौन खोलेगा डीमैट अकाउंट कैसे खोलें.

तो भारत में डीमैट अकाउंट ओपन करवाने के लिए मुख्य रूप से दो संस्था है (NSDL एनएसडीएल नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड). (CSDL सीडीएसएल सेंट्रल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड).

इन दोनों संस्थाओं से बहुत सारे एजेंट जुड़े हुए हैं जिनके द्वारा Demat account ओपन किया जाता है। डीमैट अकाउंट खोलना बहुत ही आसान है अब तो डिजिटल प्लेटफॉर्म पर इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे आप अपने डीमैट अकाउंट ओपन कर सकते हैं।

उसके लिए आपको वेबसाइट पर जाना है और जो भी जानकारी है उसको ऑनलाइन फिल अप करना है आपका डीमैट अकाउंट ओपन हो जाएगा।

Demat account कैसे काम करता है

जब डीमैट अकाउंट ओपन हो जाता है उसके बाद यदि हम किसी कंपनी से शेयर खरीदना चाहते हैं तो खरीद सकते हैं जो भी शेयर खरीदेंगे व डिजिटल रूप में डीमैट अकाउंट में ही मौजूद रहता है।

उदाहरण के लिए जैसे हम लोग अपने बैंक अकाउंट में पैसा जमा करते हैं तो वह डिजिटल मनी के रूप में बैंक के अकाउंट में जमा रहता है जिसका उपयोग हम लोग ऑनलाइन भी करते हैं तथा एटीएम से पैसा निकाल कर के फिजिकली भी करते हैं।

लेकिन डीमैट अकाउंट में अपने शेयर को केवल डिजिटल डीमैट अकाउंट में ही रख सकते हैं और उसको डिजिटली ही किसी को भी बेच सकते हैं लेकिन शेयर को हम फिजिकली अपने पास नहीं रख सकते। क्योंकि शेयर एक डिजिटल प्लेटफार्म पर Share value के रूप में ही मौजूद रहता है।

डीमैट अकाउंट के द्वारा शेयर को यदि हम बेचना चाहते हैं तो वैसे लोगों को ही बेच सकते हैं जिसका डीमैट अकाउंट है। क्योंकि शेयर एक डीमैट अकाउंट से दूसरे डीमैट अकाउंट में ही ट्रांसफर किया जा सकता है। जिसका डीमैट अकाउंट नहीं है उसको हम अपने शेयर को नहीं बेच सकते हैं।

डीमेट शब्द का मतलब डिजिटली ही अपने शेयर को रखने वाले प्लेटफार्म को डीमेट कहते हैं। अकाउंट शब्‍द का व्याख्या हमने ऊपर भी किया है और अकाउंट शब्द से हम सभी लोग परिचित हैं। क्योंकि बैंक में खाता लगभग हम सभी लोग उपयोग करते हैं। वैसे डीमेट शब्द का पूरा नाम dematerialize होता है।

वर्तमान समय में शेयर खरीदना और शेयर बेचना बहुत ही आसान है क्योंकि इसके लिए किसी भी ऑफिस या कार्यालय में जाना नहीं पड़ता है। ऑनलाइन डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग करके बहुत ही आसानी से अपने स्मार्टफोन से ही पने शेयर को बेच सकते हैं या शेयर खरीद भी सकते हैं।

डीमैट अकाउंट खोलने के लिए जरूरी पेपर

यदि आप अपने Demat account ओपन करवाना चाहते हैं तो उसके लिए नीचे बताए गए कुछ जरूरी कागजात अवश्य होना चाहिए तभी आप Demat account ओपन करवा सकते हैं।

  • पैन कार्ड 
  • वोटर आई कार्ड 
  • पासपोर्ट 
  • ड्राइवरी लाइसेंस 
  • बैंक सत्यापित पासबुक 
  • आईटी रिटर्न फाइल 
  • बिजली का बिल 
  • गैस का बिल
  • फोटो से युक्त कोई भी सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त आईडेंटिटी कार्ड

इसमें जो भी दस्तावेज बताया गया है इनमें से प्रमुख रूप से आपके पास पैन कार्ड आधार कार्ड बैंक अकाउंट है तो आप अपने Demat account ओपन करवा सकते हैं। इसके लिए आपको कम से कम 2 या 4 पासपोर्ट साइज फोटो रखना होगा तथा उसके साथ आपको अपने बैंक के अकाउंट की चेक बुक का एक कैंसिल चेक भी रखना है।

डीमैट अकाउंट कैसे खोलें

जैसा कि ऊपर हमने बताया है कि डीमैट अकाउंट खोलने के लिए दो प्रमुख संस्थाएं हैं उन संस्थाओं के द्वारा भारत में कम से कम पांच सौ से ज्यादा ब्रोकर काम करते हैं 

उन एजेंटों के द्वारा अपना डीमैट अकाउंट ओपन कर सकते हैं वैसे आजकल डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म पर वेबसाइट है जिसके द्वारा Demat account ओपन कर सकते हैं। एक डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए सबसे बेहतर प्लेटफार्म zerodha है।

जीरोधा से आसानी से अपने डीमैट अकाउंट को खोल सकते हैं डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए एक ब्रोकर के रूप में जीरोधा बहुत ही बेहतर ब्रोकर है जो कि अपने कस्टमर को बेहतर सर्विस प्रदान करता है।

जीरोधा से Demat account ओपन करने के लिए हमने जो जरूरी पेपर बताया है उसको अपने पास रखना है जिसके द्वारा आप अपने अकाउंट को ओपन करवाने के लिए उपयोग करेंगे।

Demat account kaise khole

Zerodha में डीमैट अकाउंट कैसे खोलें

Step 1. (https://zerodha.com/) zerodha में अपना डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए इसके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है।

Step 2. उसके बाद वहां पर जो भी ऑप्शन दिया गया है एक नया अकाउंट ओपन करने के लिए उसके अनुसार आपको सारे ऑप्शन को फिल अप करना है।

Step 3. जिसमें आप अपने बारे में पूरी जानकारी देंगे जैसे आप अपना पूरा नाम मोबाइल नंबर ईमेल आईडी ऐड्रेस इत्यादि सब कुछ को सही से भरेगें करेंगे।

Step 4.  उसके बाद ऑनलाइन सारे दस्तावेज को अपलोड करके verify करेंगे या फिर जीरोधा के द्वारा भी home service सहायता से आप अपने डॉक्यूमेंट को और फॉर्म जो ऑनलाइन आपने fillup किया है उसको भी जमा करवा सकते हैं।

Step 5.  अपने द्वारा भी पूरी डॉक्यूमेंट को ऑनलाइन सबमिट करने के बाद उसको आप डाउनलोड करके उसका प्रिंट आउट निकाल करके स्वयं भी जीरोधा के कार्यालय में जमा कर सकते हैं।

डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए कुछ चार्ज भी लगते हैं जिसको आप अपने ऑनलाइन बैंकिंग के द्वारा भी जमा कर सकते हैं। जो भी शुल्क होगा वह आपको वेबसाइट पर या फिर जीरोधा के कस्टमर सपोर्ट के द्वारा जानकारी दे दिया जाएगा।

जब डिजिटल प्लेटफॉर्म के द्वारा अपने डीमैट अकाउंट की सारी प्रक्रिया को पूरी कर लेते हैं उसके बाद बहुत कम समय में ही आपका डीमैट अकाउंट ओपन हो जाता है। जिसके बारे में जानकारी ईमेल के माध्यम से या कॉल के माध्यम से मिल जाता है।

शेयर खरीद कर और बेचकर पैसा कमाने के लिए Demat account जरूरी है। डीमैट अकाउंट बनाने के लिए किसी बेहतर ब्रोकर का होना जरूरी है जो कि हमने बताया कि जीरोधा एक बेहतर ब्रोकर है। जिसके द्वारा अपना डीमैट अकाउंट ओपन कर सकते हैं। जिसके बाद आप शेयर खरीद सकते हैं और बेच सकते हैं और शेयर मार्केट से पैसा भी कमा सकते हैं।

डीमैट अकाउंट ओपनिंग चार्जेस

डीमैट अकाउंट जब ओपन करते हैं तो उसके लिए कुछ चार्ज भी देना होता है जोकि कम से कम लगता है डीमैट अकाउंट खोलने में आपको ज्यादा पैसा नहीं लगता है लगभग एक डीमैट अकाउंट ओपन करवाने में 1000 या उससे कम पैसा जरूर लग सकता है।

Demat account को सही तरीके से मैनेज करने के लिए Demat account को पूरी तरह से सुचारू एवं सुरक्षित रखने के लिए कुछ चार्ज भी लगते हैं। जो आपको Demat account खुलवाते समय देने पड़ते हैं। हर साल में एक बार आपको डीमैट अकाउंट के लिए कुछ पैसा देना होता है जो कि आपका डीमैट अकाउंट का maintenance चार्ज के रूप में चार्ज किया जाता है।

वैसे डीमैट अकाउंट में जब शेयर खरीदते हैं या बेचते हैं उस पर भी कुछ चार्ज लगता है उसके बारे में जब शेयर खरीदेंगे बेचेगें तो उस पर जो भी चार्ज होगा उसी समय जानकारी मिल पाएगा।

डीमैट अकाउंट के फायदे

डीमैट अकाउंट खोलने के कई सारे फायदे हैं जिसके बारे में आइए नीचे जानते हैं।

शेयर मार्केट से पैसा कमाने के लिए सबसे जरूरी है एक Demat account का होना। डीमैट अकाउंट होगा तभी आप शेयर मार्केट से पैसा कमा पाएंगे।

शेयर मार्केट से शेयर खरीदने के लिए शेयर बेचने के लिए और उससे मुनाफा कमाने के लिए Demat account जरूरी है।

डीमैट अकाउंट से जब शेयर खरीदते हैं और उस शेयर का वैल्यू बढ़ जाता है तब अपने शेयर को उसी समय बेचते हैं तो आपको ज्यादा मुनाफा भी होता है।

डिजिटल प्लेटफॉर्म का जब उपयोग नहीं किया जाता था उस समय शेयर मार्केट से शेयर खरीदने और बेचने के लिए ऑफलाइन मोड में पेपर का आदान प्रदान करना पड़ता था। जिससे शेयर खरीदना और बेचना आसान नहीं था

लेकिन आज डीमैट अकाउंट के कारण ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर डिजिटल अपने स्मार्टफोन से शेयर खरीदना और बेचना आसान हो गया है।

Demat account पूरी तरह से सुरक्षित एवं सिक्योर है इसमें किसी प्रकार की धोखाधड़ी का सामना नहीं करना पड़ता है।

बैंक अकाउंट की तरह डीमैट अकाउंट है जिसका ऑनलाइन भी उपयोग अपने हिसाब से कर सकते हैं।

Demat account से नुकसान

हर चीज के फायदे और नुकसान होते हैं बस उसको जो सही तरीके से उपयोग करता है वह फायदा में होता है। और जो उसका सही तरीके से उपयोग नहीं करता है उसे नुकसान भी झेलना पड़ता है। 

ठीक इसी तरह यदि आप डीमैट अकाउंट ओपन करते हैं और इसका उपयोग सही तरीके से करते हैं तो आप ढेर सारा पैसा कमा सकते हैं। लेकिन यदि आप अपने Demat account को सही तरीके से उपयोग नहीं करते हैं तो इससे कुछ नुकसान भी हो सकता है।

जैसे यदि शेयर मार्केट के बारे में पूरी जानकारी नहीं प्राप्त किया है और अपना डीमैट अकाउंट ओपन करवा लेते हैं। तो इसमें आपको कुछ पैसा भी खर्च करना पड़ता है इसलिए उस डीमैट अकाउंट से किसी भी प्रकार का कोई कमाई नहीं करते हैं।

तो फिर कुछ पैसा यहां नुकसान हो जाता है। इसीलिए शेयर मार्केट और Demat account के बारे में सबसे पहले पूरी जानकारी प्राप्त कर लें। उसके बाद Demat account ओपन करें और शेयर मार्केट में अपना पैसा लगाए तो इस से ढेर सारा पैसा कमा पाएंगे।

डीमैट अकाउंट स्‍पेशल टिप्‍स

शुरुआत में जब आपके पास जानकारी कम होता है उस समय डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिए किसी एजेंट या ब्रोकर की सहायता ले सकते हैं। 

जिससे डीमैट अकाउंट ओपन करवाने में मदद मिलेगा साथ ही साथ शेयर खरीदने और बेचने के बारे में भी बेहतर जानकारी मिलेगा। इसीलिए सबसे पहले जब शेयर मार्केट में अपना पहला कदम बढ़ाते है उसके पहले पूरी जानकारी प्राप्‍त करें। तथा किसी बेहतर जानकार ब्रोकर या एजेंट से अपना डीमैट अकाउंट ओपन करवाएं।

FAQ

क्या डीमैट अकाउंट ट्रांसफर होता है

डीमैट अकाउंट को ट्रांसफर करना संभव नहीं है यह एक व्यक्ति के नाम पर ही रहता है यदि दूसरा डीमैट अकाउंट ओपन करवाना चाहते हैं तो कर सकते हैं।

डीमैट अकाउंट क्या है

डीमैट अकाउंट एक प्रकार का अकाउंट है जिसके द्वारा शेयर खरीदा या बेचा जा सकता है।

एक व्यक्ति कितना डीमैट अकाउंट ओपन करवा सकता है

Demat account बैंक अकाउंट की तरह ही ओपेन कर सकते हैं।

डीमैट अकाउंट के लिए जरूरी दस्तावेज

पैन कार्ड, आधार कार्ड, दो पासपोर्ट साइज फोटो, एक कैंसिल चेक।

सारांश

डीमैट अकाउंट क्या है Demat account in hindi के बारे में इस लेख में हमने जो भी महत्वपूर्ण जानकारी है उसको देने का प्रयास किया है। आशा है कि Demat account kya hai, डीमैट अकाउंट के बारे में दी गई जानकारी आप लोगों को जरूर अच्छा लगा होगा। 

इस वेबसाइट पर हर एक टॉपिक के बारे में पूरी जानकारी देने का प्रयास किया जाता है। ताकि हमारे पाठकों को किसी दूसरे जगह जाने की जरूरत ना पड़े। इसलिए निरंतर इस वेबसाइट को विजिट करते रहें। यहॉं पूरी जानकारी के साथ एक बेहतरीन जानकारी निरंतर दी जाती है।

Leave a Comment