हाई क्वालिटी कंटेंट क्‍या हैं? इसे कैसे लिखते है 12+ टिप्‍स

हाई क्वालिटी कंटेंट क्‍यों और कैसे लिखें आज इंटरनेट पर नए-नए ब्लॉग वेबसाइट बनाए जा रहे हैं। कई ऐसी वेबसाइट आपको इंटरनेट पर दिखाई देंगी, जो ब्लॉग वेबसाइट के तहत काम कर रही हैं।

लेकिन उस वेबसाइट पर कंटेंट कैसा है? इससे उस ब्लॉग वेबसाइट का वैल्यू पता चलता है. जो अच्छा ब्लॉग वेबसाइट होगा, उस वेबसाइट पर कम ब्‍लॉग पोस्ट पर भी ज्यादा ट्रैफिक दिखाई देगा. 

लेकिन जो अच्छा आर्टिकल वाला वेबसाइट नहीं होगा, उसपर आपको ज्यादा पोस्ट पर भी कम ट्रैफिक देखने को मिलेगा. यदि आप लगातार ब्लॉग पोस्ट लिखते जा रहे हैं. लेकिन उस ब्लॉग पोस्ट में क्वालिटी बिल्कुल भी नहीं है. फिर वैसे कंटेंट का कोई मतलब नहीं है. 

यदि आप भी एक ब्लॉगर हैं. लगातार आर्टिकल लिखते जा रहे हैं, तो एक बार अपने कंटेंट का वैल्यू भी जरूर एनालिसिस करें. यदि आप जानना चाहते होंगे कि क्वालिटी कंटेंट कैसे लिखें तो बिल्कुल सही जगह पर हैं. क्योंकि हम आपको यहां हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने की पूरी जानकारी देंगे.

क्वालिटी कंटेंट क्या होता है?

एक ऐसा कंटेंट जिसमें छोटे-छोटे वाक्य लिखे गए हो. जिसमें शब्दों को सही तरह से लिखा गया हो. व्याकरण का सही तरीके से उपयोग किया गया हो. मात्राओं को सही ढंग से लिखा गया हो. जहां जरूरत हो, वहां पर पूर्ण विराम लगाया गया हो. वाक्य में जहां आवश्यकता हो, वहां पर कॉमा भी लगाया गया हो. 

जितने भी प्रकार के विराम चिन्ह हैं। उनका उपयोग सही जगह पर किया गया हो. एक ही शब्द बार-बार नहीं लिखा गया हो. जिस टॉपिक को बताया जा रहा है उस टॉपिक का सटीक जवाब लिखा गया हो. उसे ही हाई क्वालिटी कंटेंट कहते हैं।

High Quality Content Kaise Likhe - हाई क्वालिटी कंटेंट्स कैसे लिखें

जिस टॉपिक आर्टिकल को तैयार कर रहे हैं. उसके बारे में सबसे पहले आपको विस्तार से जानकारी रखना होगा. तभी आप एक हाई क्वालिटी का कंटेंट तैयार कर पाएंगे। यदि आप सोचते हैं। हम कहीं से थोड़ा बहुत पढ़ कर एक अच्छा पोस्‍ट तैयार कर सकते हैं। ऐसा बिल्कुल भी संभव नहीं है। 

क्योंकि वैसे लोग जो उस टॉपिक काअनुभव रखते हैं. वह आपसे बेहतर आर्टिकल लिख सकते हैं. इसीलिए वैसे टॉपिक पर ही कंटेंट तैयार कीजिए, जिस पर आप 100% सही तरीके से अपना विचार प्रकट कर पाएंगे।

क्वालिटी कंटेंट क्‍या हैं

यदि अभी भी आपको क्वालिटी कंटेंट का मतलब समझ नहीं आया हैं। एक बार किसी भी अखबार को ध्यान से पढ़िए. उसमें देखिए, कि कैसे वाक्यों को लिखा गया है. आपके दिमाग पर जो पर्दा है, वह पूरी तरह से हट जाएगा. आपको समझ आएगा, कि क्वालिटी कंटेंट्स क्या होता है। 

हम कभी भी कुछ भी लिख देते हैं। उसके बाद ऐसा सोचेंगे, कि हमने जो लिखा, वह पूरी तरह से सही है. लेकिन हमें यह पता नहीं होगा, कि हम जो लेख लिखे , उसमें ग्रामेटिकल एरर है। उसमें वाक्य किस तरह का लिखा गया है. उसमें खड़ीपाई लगाया गया, या नहीं लगाया गया हैं. इन सभी चीजों पर हमें ध्‍यान देना चाहिए.

इंटरनेट पर आप जाकर दूसरों का ब्लॉग पोस्ट पढ़ते हैं. वहां पर कई तरह के ब्लॉग दिखाई देंगे. जिसमें बहुत ही अशुद्ध वाक्य पढ़ने को मिलेंगे. 

यदि सोचते होंगे, कि दूसरे लोग इसी तरह से लिख कर आगे बढ़ रहे हैं. हम भी इसी तरह से काम करेंगे, तो 1 दिन आप फेल हो जाएंगे. आपका ब्लॉग वेबसाइट पूरी तरह से बंद हो जाएगा. इसलिए अब हम लोग नीचे क्वालिटी कंटेंट कैसे लिखते हैं? उसको स्टेप बाय स्टेप सीखेंगे.

हाई क्वालिटी कंटेंट कैसे लिखें

वाक्य छोटा रखें

एक हाई क्वालिटी कंटेंट तैयार करने के लिए छोटे-छोटे वाक्य लिखें. वाक्य लिखने का भी एक नियम है. एक वाक्य में 15 से 20 शब्द ही होना चाहिए. एक क्वालिटी कंटेंट तभी तैयार होगा, जब एक वाक्य में 20 से ज्यादा शब्द नहीं होंगे. 

कभी-कभी किसी वाक्य में इससे ज्यादा शब्द हो सकता है. लेकिन हर वाक्य में लंबे लंबे शब्द लिखते जा रहे हैं, तो रुक जाइए. वाक्य को छोटा बनाइए. छोटे वाक्य लोगों को पढ़ने में बहुत ही आनंद आता है. लोग उसको अच्छे से समझते हैं. उसका वैल्यू अच्छे से समझ पाते हैं. इसलिए अपने दिमाग में नोट करके रख लीजिए. आज से हमें क्वालिटी कंटेंट में छोटे-छोटे वाक्य लिखना है.

वाक्य को सही विराम चिन्‍ह से बंद करें

ऊपर छोटे-छोटे वाक्य लिखने के लिए बताया गया हैं. लेकिन केवल इतना से ही काम चलने वाला नहीं है. जहां आपका वाक्य समाप्त हो रहा है, वहां पर आप खड़पाई (.) लगाइए. जहां वाक्य में कॉमा लगाने की जरूरत है, वहां कॉमा (,) भी लगाइए. जिस वाक्य में प्रश्नवाचक चिन्ह की आवश्यकता है, वहां पर इसका भी उपयोग कीजिए. क्वालिटी कंटेंट के वाक्य में सही तरह से इन विरामों का उपयोग कीजिए.

वाक्य की शुद्धता पर ध्यान दें

जब छोटे-छोटे वाक्य लिखेंगे, तो गलतियां भी कम होगा. फिर भी आपको शुद्धता पर ध्यान देना आवश्यक है. व्याकरण के अनुसार किस शब्द में किन मात्राओं का उपयोग करना है, इसका भी ध्यान रखें. शुद्धता सबसे प्रमुख चीज है. 

आप जो लिखते हैं, उसको लाखों लोग पढ़ते हैं. उनमें से कई विद्वान लोग भी होंगे. जो आपके द्वारा लिखे गए शब्दों को पढ़ेंगे. इसीलिए अपने लेखक की गरिमा को समझते हुए, अपने शब्दों की शुद्धता पर सबसे ज्यादा ध्यान दें. कंटेंट लिखने के बाद उसको अच्छे से एडिट करें. जहां भी अशुद्धियां हैं। उसको ठीक करके लिखें.

हाई क्वालिटी कंटेंट में पाराग्राफ छोटा रखें

एक पैराग्राफ में कितने वाक्य लिखना सही है? क्या आप जानते हैं. नहीं जानते, तो आपको हम यहां बताएंगे. एक क्वालिटी कंटेंट के लिए 3 से 5 वाक्य एक पैराग्राफ में होने चाहिए.

उसके बाद आपको पैराग्राफ बदल देना चाहिए. पाठकों के लिए 3 से 5 पैराग्राफ पढ़ने के लिए सबसे आसान एवं बेहतर है. ऐसे पैराग्राफ को पाठक बहुत ही आनंदमय होकर पढ़ते हैं। इसलिए पैराग्राफ भी छोटा रखने का प्रयास करें.

शब्द बार-बार नहीं दोहरायें

जब आप कंटेंट लिखते हैं, उस समय एक ही शब्द को बार-बार लिखते हैं. ऐसा तब होता है, जब आपके पास उस विषय के बारे में अच्छी जानकारी नहीं है. यदि आप भी ऐसा करते हैं, तो ऐसा करना आज ही से छोड़ दीजिए. जहां उचित शब्द की आवश्यकता है, वही शब्दों को दोबारा लिखें. एक ही शब्द बार-बार लिखने से हाई क्वालिटी कंटेंट का क्वालिटी समाप्त हो जाता है. ब्‍लॉग कैसे लिखें.

क्वालिटी कंटेंट में अपनी भावनाओं को व्यक्त करें

अलग-अलग विषयों पर अलग-अलग व्यक्तियों के द्वारा एक ही विषय के बारे में कई तरह के कंटेंट उपलब्ध हैं. यदि आप उन्हीं आर्टिकल को पढ़ते हैं। उसके बाद उसी तरह का कंटेंट तैयार करते हैं। इसका कोई मतलब नहीं है। 

क्योंकि उस लेख में नया कुछ भी नहीं है. शब्दों को हेरफेर करके, उसी तरह का आर्टिकल लिख रहे हैं. इससे पाठकों को उस विषय के बारे में कुछ भी नया नहीं मिलने वाला है. यदि ऐसा करते हैं, तो इसको आज से ही छोड़ दीजिए. 

अलग-अलग प्लेटफार्म पर एक विषय के बारे में बेहतर से बेहतर जानकारी प्राप्त करने का प्रयास कर सकते हैं. लेकिन जब क्वालिटी कंटेंट लिखेंगे, उस समय उस विषय के बारे में आपका विचार क्या हैं? उसके बारे में लिखेंगे. 

आप उस विषय के बारे में नया लोगों को क्या देने वाले हैं, यह सबसे महत्वपूर्ण है. इसीलिए किसी भी टॉपिक पर जब लिखना शुरू करें, उसमें अपना विचार जरूर डालने का प्रयास करें. आप कई प्रकार से उदाहरण देकर उस विषय के बारे में लोगों को समझा सकते हैं. उस विषय के बारे में अनुभव शेयर कर पाएंगे। 

किसी भी क्वालिटी कंटेंट में जो भी जानकारी दे रहे हैं, उस जानकारी को प्रमाणित करने के लिए कुछ रियल लाइफ उदाहरण देने का प्रयास करें. यदि आप कहीं से उसके बारे में जानकारी प्राप्त किए हैं. वहां पर उनको क्रेडिट दे सकते हैं। जिससे उस कंटेंट का क्वालिटी प्रमाणित होगा. जो भी पाठक पढ़ेंगे उनको आपके द्वारा दी गई जानकारी पर विश्वास बढ़ेगा.

हाई क्वालिटी कंटेंट में कीमती जानकारी दें

कभी-कभी हम लोग इंटरनेट पर किसी सवाल का सही जवाब पाने के लिए गूगल में सर्च करते हैं. वहां हम चाहते हैं। हमारे सवाल का सही जवाब प्राप्त हो सके. कई बार ऐसा होगा, कि हम जहां पर उस सवाल का जवाब प्राप्त करने के लिए जाएंगे. वहां हमारे सवाल का सही जवाब नहीं मिल पाता। 

इसलिए अगर आप भी एक लेखक हैं, तो इन बातों का ध्यान रखना है. जब भी किसी भी विषय के बारे में क्वालिटी कंटेंट लिखते हैं, तो उस विषय के बारे में सटीक जवाब दें. एक बार जब कोई पाठक आपके जवाब को पढ़ें, तो उसको कहीं दूसरे जगह जाने की जरूरत नहीं पड़े.

किसी भी विषय के बारे में जानकारी यह सोच कर देना चाहिए. क्योंकि जो जानकारी आप दे रहे हैं, वह लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा कीमती है. ब्‍लॉग पोस्‍ट को कहां शेयर करें

कंप्लीट जानकारी देने का प्रयास करें

एक टॉपिक से संबंधित जितने भी सवाल हैं, उन सभी सवालों का जवाब एक टॉपिक में कवर करना चाहिए. जिससे पाठकों को उस टॉपिक से संबंधित पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त हो सकता ह.।

जब आप किसी टॉपिक के बारे में पूरी जानकारी देते हैं, तो पाठकों का आपके प्रति रुचि बढ़ता है. एक बेहतर लेखक का सम्मान बहुत ही ज्यादा है. इसीलिए अपनी लेखनी का सम्मान बढ़ाने के लिए आपको कंप्लीट जानकारी देने का प्रयास करना चाहिए.

टॉपिक के बारे में रिसर्च करें

किसी विषय के बारे में अगर हम जानते हैं, यह हमारे लिए अच्छा है. लेकिन इसके अलावा भी हमें, उस टॉपिक के बारे में अच्छे से रिसर्च करना चाहिए. क्योंकि जब हम हाई क्वालिटी कंटेंट लिखते हैं, उस समय हम टॉपिक में पूरी जानकारी लिखने का प्रयास करते हैं.

इसलिए जब हम उस टॉपिक के बारे में रिसर्च करके लिखेंगे, तो हर एक छोटी से छोटी जानकारी को भी शेयर करेंगे. इसलिए टॉपिक को अच्छे से रिसर्च करके लिखना चाहिए.

दूसरों से अलग लिखने का प्रयास करें

केवल यूनीक कंटेंट का मतलब दूसरों से अलग नहीं होता है. यूनीक आर्टिकल का मतलब वैसा लेख, जिसमें लेखक का पूरा अपना विचार समर्पित है. वही यूनीक कंटेंट होता है. इसलिए दूसरों से अलग हटकर अपना संपूर्ण विचार किसी भी टॉपिक में डालने का प्रयास करें.

अलग लिखने का मतलब यह नहीं है, कि उस टॉपिक का कोई दूसरा जवाब लिखेंगे. उस टॉपिक का जो जवाब होता है, जवाब वही रहेगा. लेकिन लिखने का शैली अलग होगा. उसमें केवल विचार हमारा अपना होगा.

अपना अनुभव शेयर करें

अलग-अलग विषयों के बारे में लिखते समय हमें अपने अनुभव को भी शेयर करना चाहिए. यदि किसी टॉपिक से संबंधित हमारा अपना अनुभव होगा, तो उसको शेयर कर पाएंगे।

जैसे यदि आप ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? के बारे में पोस्ट लिख रहे हैं, तो उसमें आप जिस तरह से पैसे कमा रहे हैं. उसके बारे में भी रियल लाइफ उदाहरण दे सकते हैं. इस तरह से आप अलग-अलग टॉपिक में अपना अनुभव साझा कर पाएंगे।

क्वालिटी कंटेंट में व्याकरण पर ध्यान दें

वाक्यों की शुद्धता के लिए व्याकरण का ध्यान रखना सबसे जरूरी है. जब हम कंटेंट लिखेंगे उस वाक्य में कहां, किस तरह के मात्रा की आवश्यकता है, उसको सही से लिखना जरूरी है. व्याकरण हमारे कंटेंट को शुद्धता प्रदान करता है. इसीलिए इसका ध्यान रखना भी सबसे जरूरी है.

सारांश

लेखनी के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए यहां पर हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने के बारे में जानकारी दी गई है. हाई क्वालिटी कंटेंट कैसे एवं क्‍यों लिखें यहां पर दी गई जानकारी को सही तरीके से उपयोग कर सकते हैं. जिसके बाद आप एक अच्छा ब्लॉग पोस्ट लिख सकते हैं।

यदि आप किसी अखबार में काम करते हैं. एक पत्रकार हैं, एक लेखक हैं। किसी कंपनी में लेखनी का काम करते हैं, तो आपको हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने में यह पोस्ट मदद कर सकता है।

ऐसे ही बेहतर जानकारी पाने के लिए हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब कर सकते हैं. क्योंकि हम यहां पर आपको केवल वैसी जानकारी देने का प्रयास करते हैं, जो आपके लिए मूल्यवान है। Quality Articles.

1 thought on “हाई क्वालिटी कंटेंट क्‍या हैं? इसे कैसे लिखते है 12+ टिप्‍स”

Leave a Comment