इंटरनेट पर निबंध (वर्ग 5 से 12)

Essay on internet in hindi क्लास 5 से लेकर के क्लास 12th इलेवेंथ ट्वेल्थ क्लास के छात्रों के लिए अक्सर कभी ना कभी इंटरनेट पर निबंध लिखने के लिए सवाल जरूर मिलता हैं या फिर इंटरनेट के बारे में जानकारी प्राप्त करने के उत्सुक लोग इंटरनेट पर इंटरनेट के बारे में जानकारी सर्च करते रहते हैं.

इंटरनेट क्या हैं. इंटरनेट का अविष्कार इंटरनेट के बारे में सभी प्रकार के जानकारी आपको इस पोस्ट में नीचे मिलने वाला हैं जिसमें इंटरनेट से संबंधित पूरी जानकारी दी गई हैं. वर्तमान जीवन ऐसा हो गया हैं कि अब  अपने घर में बैठे रहते हैं और घर से बैठे ही अधिकतर काम को  ऑनलाइन कर लेते हैं.

आज के समय में कोरोनावायरस के वजह से सभी वर्क फ्रॉम होम भी हो रहा हैं. जोकि इंटरनेट के वजह से ही संभव हो पाया हैं. इसलिए इंटरनेट एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय हैं. जिसके बारे में जानकारी  सभी को अवश्य होना ही चाहिए.

Essay on internet in Hindi 

प्रस्तावना

इंटरनेट एक ऐसा जाल हैं जिसके द्वारा कहीं भी कभी भी किसी के भी द्वारा कुछ भी खोजना हो, जानना हो, समझना हो, सीखना हो, पढ़ना हो, यह सभी चीजें आसानी से संभव हो उसे इंटरनेट के नाम से जानते हैं. वर्तमान समय में सभी लोग लगभग इंटरनेट से परिचित हैं. चाहे वह गांव के लोग हो या शहर के लोग हो. हम सभी के पास एक मोबाइल फोन जरूर हैं. जिसमें इंटरनेट की भी सुविधा मौजूद रहता हैं.

कभी भी किसी भी चीज के बारे में आजकल जानकारी प्राप्त करना होता हैं तो, उसके लिए अपने स्मार्टफोन की सहायता से इंटरनेट के माध्यम से यूट्यूब गूगल में जा कर के किसी भी चीज के बारे में जानकारी बहुत ही आसानी से प्राप्त कर लेते हैं. यह सब कुछ तभी संभव हैं जब इंटरनेट नेटवर्क की सुविधा उपलब्ध हैं.

अभी कुछ दिन पहले भारत में नोटबंदी हुआ था. उस समय लोगों के पास कैश की समस्या थी. लेकिन उस समस्या को भी सभी लोगों ने इंटरनेट टेक्नोलॉजी के माध्यम से डिजिटल पेमेंट करके बहुत ही आसानी से कैश प्रॉब्लम को भी झेल लिया. क्योंकि इंटरनेट टेक्नोलॉजी इतना आगे बढ़ गया हैं कि किसी को भी पैसा अपने खाते से डिजिटल ट्रांसफर कर सकते हैं. जिससे देश में कैशलेस समस्या को भी आसानी से हैंडल कर लिया गया.

 

essay on internet in hindi

इंटरनेट का मतलब क्या होता हैं 

Internet का मतलब होता हैं जाल. अब जाल का मतलब क्या होता हैं. आइए एक उदाहरण से समझते हैं. जैसे एक जाल आपस में बहुत सारे तार एक दूसरे के साथ जुड़ा रहता हैं. वैसे ही इंटरनेट भी एक ऐसा जाल हैं. जो एक दूसरे के साथ जुड़ा हुआ हैं. इंटरनेट जाल से भी महाजाल कहा जा सकता हैं. क्योंकि इसका कोई सीमा कोई अंत नहीं होता हैं. इंटरनेट यानी कि महाजाल एक अनंत सीमा हैं. जिसमें गोता लगाकर के आप कुछ भी जानने का समझने का सीखने का समस्या का समाधान पाने का उपाय खोज सकते हैं.

इंटरनेट पूरे दुनिया का एक ऐसा सूचना प्रौद्योगिकी नेटवर्क जाल हैं. जिसने सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तहलका मचा दिया हैं. इंटरनेट को संक्षिप्त शब्दों में नेट भी कहा जाता हैं. जोकि एक दूसरे कंप्यूटरों के साथ जोड़ करके नेटवर्क का एक महाजाल बन जाता हैं. जिसको इंटरनेट के नाम से जानते हैं.

जितने भी उपग्रह और फाइबर सिस्टम हैं. वह सब लोकल एरिया नेटवर्क एवं वाइड एरिया नेटवर्क सिस्टम के तहत टेलीफोन के माध्यम से कंप्यूटर और नेटवर्क आपस में जुड़ जाते हैं. जब नेटवर्क और कंप्यूटर दोनों आपस में जुड़ते हैं तब आप इंटरनेट का इस्तेमाल करना शुरू कर पाते हैं.

इंटरनेट का इतिहास 

ऐसा कभी ना कभी किसी भी व्यक्ति के मन में सवाल जरूर आता होगा कि इंटरनेट का मालिक कौन हैं तो, इसका जवाब इंटरनेट का कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं हैं. इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क सिस्टम हैं जो बहुत सारे कंप्यूटरों के साथ जुड़ कर के नेटवर्क सुविधा को प्रदान करता हैं.

सबसे पहले दुनिया में इंटरनेट का आविष्कार वर्ष 1969 में टीम बर्नर्स ली ने किया था. पहली बार जब इंटरनेट का अविष्कार किया गया. तब उसका उपयोग अमेरिका के रक्षा विभाग में उन्नत डाटा प्रोजेक्ट्स एजेंसी नेटवर्क से ग्रुप्ड डाटा ट्रांसफर दूरदराज के विभिन्न राज्यों में करने के लिए किया गया.

इसके बाद अमेरिका के ऑनलाइन यूनिवर्सिटी एवं अन्य क्षेत्रों में डाटा संग्रहित किए गए. सूचनाओं को एक दूसरे राज्य अथवा जगह पर भेजने की आवश्यकता महसूस हुई. जोकि धीरे-धीरे नेटवर्क कनेक्शन को बढ़ाते हुए उसको और अनुसंधान करके मजबूत करते हुए. इन सभी कामों को इंटरनेट के माध्यम से किया जाने लगा.

इंटरनेट का विकास Essay on internet in hindi 

उस समय शुरुआत के दिनों में इंटरनेट का स्पीड केबीपीएस में होता था. धीरे-धीरे इसका स्पीड एमबीपीएस में हुआ और आज वर्तमान समय में  इसका स्‍पीड काफी ज्यादा अच्छा हो गया हैं. जो कि जीबीपीएस गति से किसी भी कामों को इंटरनेट के द्वारा कर पाते हैं. जिसके कारण आज के समय में विकास की नई गति को पाने में मदद मिला हैं. जिससे दुनिया के हर क्षेत्र में इंटरनेट तकनीकी क्रांति से दुनिया डिजिटली काम करने के लिए एक नई ऊंचाई प्राप्त कर रहा हैं.

भारत में इंटरनेट का शुरुआत एवं विकास 1980 के दशक में हुआ. उस समय इंटरनेट के बारे में बहुत कम ही लोग जानते थे. जब भारत में इंटरनेट नहीं हुआ करता था. उस समय किसी भी प्रकार के कामों के लिए घंटो लाइन में कतार में खड़ा होना पड़ता था. जिसके चलते समय का भी काफी बर्बादी होता था. और शारीरिक मेहनत भी होता था.

Internet development1
Internet development

इंटरनेट का महत्व क्या हैं

Internet का जब से अविष्कार हुआ उसके बाद से इंटरनेट का महत्व बताने के लिए परिभाषा भी कम पड़ जाएगा. क्योंकि इंटरनेट एक ऐसा चीज हैं जिसके बिना देश का विकास विश्व का विकास, घर का विकास, आदमी का विकास, पढ़ाई का विकास, रोजगार का विकास, नए टेक्निक्स का विकास, कर पाना बहुत ही मुश्किल हैं. एक समय हुआ करता था.

जब इंटरनेट के बिना सभी कामों को किया जाता था. लेकिन यदि आज के समय में इंटरनेट को हटा दिया जाए तो हम लोग उसी समय में चले जाएंगे जब 18वीं शताब्दी 19वीं शताब्दी में जैसे लोग रहते थे. उसी तरह का जीवन यापन आज के समय में भी हो जाएगा.

क्योंकि इंटरनेट के हो जाने के कारण आज सब कुछ आसान और संभव हो गया हैं. आज के समय में कोरोनावायरस के कारण सारे स्कूल बंद हैं. फिर भी बच्चों का पढ़ाई बंद नहीं हैं. बच्चे अपने घर से इंटरनेट टेक्नोलॉजी के माध्यम से अपना पढ़ाई कर रहे हैं. बड़े-बड़े कंपनियों और छोटे-छोटे कंपनियों का काम भी घर से इंटरनेट के माध्यम से किया जा रहा हैं.

किसी के पास किसी भी प्रकार की सूचना को पहुंचाना हो तो उसके लिए हम लोग सेकंड में सूचना को एक जगह से दूसरी जगह भेज पाते हैं. यह सब कुछ इंटरनेट का महत्व बतलाता हैं.

इसलिए इंटरनेट का आज महत्त्व इतना ज्यादा हैं कि लोग आज के समय में इंटरनेट के बिना रहना जैसे घर हो लेकिन उसमें भोजन ना हो ठीक वैसा ही हैं. यदि आपके पास घर हो भोजन हो लेकिन यदि इंटरनेट न हो तो लगेगा कि आप भूखे के समान हैं.

इंटरनेट का उपयोग क्या हैं 

Internet का उपयोग सबसे बड़ा आज के समय में फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, लिंकडइन एवं और भी सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट हैं. जिस वेबसाइट के माध्यम से दुनिया के किसी के साथ बातचीत संभव हो पाया हैं. इंटरनेट का उपयोग केवल सोशल नेटवर्किंग साइट तक ही सीमित नहीं हैं. इंटरनेट के माध्यम से आज डिजिटल फेस टू फेस वीडियो कॉलिंग संभव हो पाया हैं.

  • घर से ऑनलाइन पढ़ाई संभव हो पाया हैं
  • ऑनलाइन नौकरी भी संभव हो पाया हैं
  • आज रोजगार के लिए इंटरनेट से ही जानकारियां प्राप्त हो जाता हैं.

इंटरनेट का उपयोग स्वास्थ्य चिकित्सा, अनुसंधान सुरक्षा शिक्षा, रोजगार एक दूसरे के साथ संपर्क स्थापित करना. यह सब कुछ इंटरनेट के कारण ही संभव हो पाया हैं. इंटरनेट के उपयोग के बारे में यदि बताया जाए तो यह पोस्ट इतना लंबा हो सकता हैं. जिसको पढ़ने में भी बहुत ज्यादा समय देना पड़ सकता हैं. इंटरनेट दुनिया के हर क्षेत्र में हैं.

शिक्षा के क्षेत्र में इंटरनेट की भूमिका 

एक समय ऐसा होता था जब पढ़ने के लिए ऑफलाइन मोड में किसी कोचिंग संस्थान या शिक्षक के पास जा कर के ही केवल पढ़ाई किया जा सकता था. लेकिन आज के समय में इंटरनेट के माध्यम से शिक्षा बहुत ही आसान हो गया हैं. क्योंकि आज इंटरनेट पर शिक्षा के बारे में लगभग सभी जानकारियां उपलब्ध हैं.

लेकिन यही जब इंटरनेट नहीं हुआ करता था. उस समय किसी भी सवाल के बारे में जानकारी प्राप्त करना होता था तो यह बहुत कठिन होता था. क्योंकि उस सवाल का जवाब पाने के लिए वैसे लोगों को खोजना पड़ता था जो उस सवाल का उत्तर बता सके. उसके लिए पैदल कितने कोस की यात्रा भी करना पड़ता था. इंटरनेट जब नहीं था उस समय पढ़ना आज के समय की तुलना में बहुत ही कठिन था.

Internet in education

इंटरनेट कैसे काम करता हैं 

Internet कोई वस्तु या समान नहीं हैं जिसको देखा जा सके. इंटरनेट का काम करने का जो तरीका हैं. वह इंसानों से अलग हैं. क्योंकि इंटरनेट एक कंप्यूटर के साथ अलग-अलग ढेर सारे कंप्यूटरों को जोड़ने पर एक दूसरे के साथ नेटवर्क कनेक्टिविटी बनता हैं.

ठीक वैसे ही जब एक कंप्यूटर के साथ बहुत सारे यानि कि ढेर सारे कंप्यूटरों का एक साथ आपस में कनेक्टिविटी होता हैं. जुड़ाव होता हैं. तब एक दूसरे के साथ नेटवर्क सिस्टम बन जाता हैं. इस तरह से एक कंप्यूटर का डाटा दूसरे कंप्यूटर में ट्रांसफर होने लगता हैं. यह एक सीधा एवं सटीक उदाहरण इंटरनेट का काम करने का हैं. वैसे इंटरनेट पूरी दुनिया में फैला हुआ हैं. 

इंटरनेट से लाभ

आज का जो समय है उसके हिसाब से इंटरनेट हर एक व्यक्ति का जरूरत बन गया है जैसे किसी भी व्यक्ति को जीने के लिए भोजन की आवश्यकता है ठीक उसी प्रकार इंटरनेट की भी आवश्यकता लोगों के लिए हो गया है क्योंकि हर एक छोटा से छोटा काम या फिर बड़ा से बड़ा काम करने के लिए इंटरनेट की आवश्यकता है.
यदि इंटरनेट की सुविधा है तो घर बैठकर ही ऑनलाइन कामों को निपटाया जा सकता है. दुनिया के लगभग 60 से 70 % काम इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन किया जा रहा है आइए नीचे इंटरनेट से लाभ के बारे में उदाहरण से समझते हैं.
आज के समय में यदि आप लोकल ट्रेन से यात्रा करना चाहते हैं तो उसके लिए भी आपको रेलवे काउंटर पर लाइन में लगकर टिकट लेने की आवश्यकता नहीं है आप अपने स्मार्टफोन से घर बैठकर लोकल ट्रेन का टिकट बुक कर सकते हैं यह एक छोटा सा उदाहरण है जोकि इंटरनेट के लाभ को परिभाषित करता है.
ठीक उसी प्रकार इंटरनेट की सहायता से बहुत से ऐसे काम है जिसको बहुत ही कम समय में और आसानी से अपने घर बैठ कर के किया जा सकता है.

इंटरनेट से लाभ का दूसरे उदाहरण से समझते हैं

शहर में जो लोग रह रहे हैं वे सभी लोग जो खाना बनाने में असमर्थ हैं या जो बाहर का खाना खाना पसंद करते हैं उन लोगों के लिए इंटरनेट इतना मददगार हो गया है कि वह लोग अपने घर में बैठकर ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से खाना का आर्डर करते हैं जिसको करने के कुछ ही देर बाद खाना उनके घर पर पहुंच जाता है यह सब कुछ इतना आसान इंटरनेट से ही हुआ है.

इंटरनेट से लाभ बैंकिंग प्रणाली के लिए

किसी भी बैंक में खाता खुलवाना हो पैसा निकालना हो पैसा जमा करना हो या बैंक से संबंधित किसी भी प्रकार के कामों के लिए पहले के समय में बैंक में सुबह से दोपहर शाम तक भी लाइन में खड़ा रहना पड़ता था तब भी काम होने की गारंटी नहीं होता था.
क्योंकि उस समय टेक्नोलॉजी और इंटरनेट नहीं हुआ करता था जिसके कारण बैंक से संबंधित सभी प्रकार के कामों को रजिस्टर पर किया जाता था जिसके चलते बैंक के कार्य प्रणाली काफी धीमी गति से होता था जिसके कारण लंबी लंबी लाइन लोगों की लग जाती थी.
लेकिन आज की समय की यदि बात किया जाए तो बैंक का मतलब लाइन नहीं बैंक का मतलब आपका अपना घर आपका अपना स्मार्टफोन ही आपका बैंक है ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि जो भी लोग इस स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं.
वह सभी अपने स्मार्टफोन में बैंकिंग के जो काम है उन सभी कामों को अपने स्मार्टफोन से कर लेते हैं या कर रहे हैं या जो लोग स्मार्टफोन का भी इस्तेमाल नहीं करते हैं वे लोग भी एटीएम कार्ड या फिर बैंक में भी जाते हैं तो भी उनको बहुत कम समय में बैंक के जो भी काम होता है लेनदेन से संबंधित या अन्य जो काम होते हैं वह बहुत ही जल्द कंप्यूटर और इंटरनेट के माध्यम से पूरा हो जाता है.

इंटरनेट का दुरुपयोग 

एक सिक्के के दो पहलू होता हैं. ठीक वैसे ही इंटरनेट से जीतना ही ज्यादा लाभ हैं उतना ही हानि भी हैं. लेकिन इंटरनेट से अधिकतर विकास हैं लाभ हैं नुकसान कम हैं.

अब सवाल हो जाएगा कि ऊपर हमने बताया हैं कि इंटरनेट से ज्यादा लाभ भी हैं और नुकसान भी हैं लेकिन इंटरनेट को यदि सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो हानि बिल्कुल भी नहीं हैं. इसलिए मैं कह रहा हूं कि इंटरनेट से ज्यादा लाभ हैं. आइए नीचे इंटरनेट से हानि क्या हैं उसके बारे में जानते हैं.

  • आज दुनिया के सभी लोगों का डाटा या उनके बारे में जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध हैं.
  • बैंक अकाउंट का खाता ऑनलाइन एक्सेस करने पर धोखाधड़ी का खतरा.
  • ऑनलाइन हैंकिंग क्रैकिंग का खतरा.

इंटरनेट के आ जाने से जितनी ज्यादा लाभकारी जानकारियां प्राप्त होती हैं. उतना ही ज्यादा गलत जानकारी भी लोगों तक पहुंचता हैं. जिससे समाज में द्वेष बढ़ने लगता हैं. इंटरनेट के हो जाने से छोटे-छोटे बच्चे छात्र-छात्राएं गलत जानकारियां प्राप्त  कर लेते हैं. जिससे उनके दिमाग के अंदर नाकारात्मक ऊर्जा के साथ नाकारात्मक विषयों में ध्यान भटकने लगता हैं.

भारत एवं विश्व में इंटरनेट का स्थिति 

भारत में एक समय था जब इंटरनेट का स्पीड बहुत ही ज्यादा कम हुआ करता था. जिसके कारण इंटरनेट से किसी भी सूचनाओं को प्राप्त करने में बहुत ही कठिनाई होता था. इंटरनेट की दुनिया में 2G इंटरनेट का स्पीड भारत में इस्तेमाल किया गया. उसके बाद 3G इंटरनेट  चला. 3G के बाद 4G स्पीड का जिओ के द्वारा लॉन्च किया गया. तब से भारत में इंटरनेट का एक नई क्रांति का संचार हुआ.

जिसके कारण आज भारत के अधिकतर लोग स्मार्टफोन का उपयोग करने लगे. अभी वर्तमान में 5जी इंटरनेट पर भी काम शुरू हो चुका हैं. धीरे-धीरे इंटरनेट के स्पीड के क्षेत्र में भारत में भी नए-नए इंटरनेट क्रांति हो रहा हैं.

जहां तक दुनिया में इंटरनेट की बात की जाए तो दुनिया में सबसे ज्यादा टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आगे रहने वाला अमेरिका चीन जापान में इंटरनेट को और भी ज्यादा तेज बनाने के लिए भारत से पहले ही उन देशों में काम शुरू हो जाता हैं. लेकिन आज टेक्नोलॉजी की दुनिया में भारत भी उन सभी देशों की तुलना में पीछे नहीं हैं. भारत भी टेक्नोलॉजी की दुनिया में एक नई संचार के साथ आगे बढ़ रहा हैं.

Internet

इंटरनेट के बिना जीवन

जैसे कहा जा सकता हैं कि भोजन के बिना जीवन ठीक वैसे ही वर्तमान समय में इंटरनेट के बिना जीवन कहा जा सकता हैं. क्योंकि इंटरनेट के साथ लोगों का इतना लगाव हैं इतना जुड़ाव हैं कि लोग अपने स्मार्टफोन के साथ सोते हैं और अपने स्मार्टफोन के साथ ही सुबह का उनका शुरुआत होता हैं.

इसलिए आज के परिवेश में इंटरनेट के बिना जीवन का कल्पना नहीं किया जा सकता हैं. भारत में पहले शहरों में अधिकतर स्मार्टफोन का  उपयोग किया जाता था. लेकिन जब से इंटरनेट की दुनिया में 4G स्पीड आया तब से इंटरनेट का इस्तेमाल गांव में घर घर में लोग कर रहे हैं.

पहले स्मार्टफोन गांव में कम ही लोगों के पास हुआ करता था. लेकिन आज के समय में गांव के 80 परसेंट लोगों के पास स्मार्टफोन के साथ इंटरनेट कनेक्टिविटी भी उपलब्ध हैं.वर्तमान समय इंटरनेट और एक स्मार्टफोन किसी भी आदमी का यह दोनों अच्छे बेस्ट फ्रेंड हैं. क्योंकि इंटरनेट और स्मार्टफोन आपके पास हैं तो आपके पास दुनिया के सारे दोस्त उसमें उपलब्ध हैं.

FAQs.

इंटरनेट का अविष्कार कब हुआ 

Internet का अविष्कार वर्ष 1969 में 3टिम बर्नर्स ली ने किया था

भारत में इंटरनेट का कब आया.

भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल 1980 के दशक में शुरू हुआ.

इंटरनेट किसे कहते हैं

Internet एक नेटवर्क सिस्टम हैं जो की पूरी तरह से सूचना प्रौद्योगिकी पर आधारित हैं जिसको हिंदी में जाल के नाम से जानते हैं.

इंटरनेट को हिंदी में क्या कहते हैं 

Internet को हिंदी में जाल महाजाल के नाम से जानते हैं.

ये भी पढ़े

सारांश 

यदि इंटरनेट से जुड़ी कोई भी जानकारी आपको चाहिए तो कृपया कमेंट करके जरूर पूछें. essay on internet in hindi के बारे में दी गई जानकारी आपको कैसा लगा. अपनी राय जरूर दें और जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

2 thoughts on “इंटरनेट पर निबंध (वर्ग 5 से 12)”

Leave a Comment