यूट्यूब एल्गोरिथम कैसे काम करता है 2024

यूट्यूब एल्गोरिथम कैसे काम करता है? जितने भी नए यूट्यूबर हैं. उनको सबसे पहले यह समझना होगा कि यूट्यूब का एल्गोरिथम किस तरह से काम करता है. जिसके आधार पर आप अपने कंटेंट का प्लानिंग कर पाएंगे. उसके बाद जितना बेहतर आप कंटेंट लोगों के लिए बनाएंगे. उतना ही ज्यादा आपको फायदा होगा. अब देखिए जो भी नए लोग यूट्यूब पर काम करते हैं. 

उनको एल्गोरिथम के बारे में कुछ भी पता नहीं होता है. वे लोग कुछ भी वीडियो बनाने लगते हैं. फिर कई वीडियो डालने के बाद भी उनको कुछ बेहतर रिजल्ट नहीं मिलता है. जिसके कारण वह निराश, हताश हो जाते हैं. इसलिए इस लेख में हम आपको यूट्यूब के एल्गोरिथम की नॉलेज लेकर आए हैं. जिसमें आपको सारे स्टेप्स बताएंगे कि कैसे इसका सिस्टम कार्य करता है. जिसके आधार पर आप बेहतर इनफॉर्मेशन प्राप्‍त करके अच्छा कंटेंट केवल दर्शकों के लिए बना पाएंगे.

किसी भी सर्च इंजन प्लेटफार्म पर सबसे ज्यादा प्रेफरेंस दर्शकों का होता है. लेकिन जितने भी लोग गूगल हो या यूट्यूब कहीं पर भी कुछ इनफॉर्मेशन सर्च करते हैं. उनके लिए सर्च इंजन का सबसे पहला लक्ष्य यही होता है कि हम अपने दर्शकों को उनके इच्छा के अनुसार बेहतर से बेहतर इनफॉर्मेशन प्रदान करें.

यूट्यूब एल्गोरिथम कैसे काम करता है

जो दर्शन हैं उनका रुचि किस विषय को देखने में सबसे ज्यादा है. उसी से संबंधित जो भी कंटेंट यूट्यूब या गूगल में होता है. उसको सबसे पहले लोगों के लिए रिकमेंड किया जाता है. अब मान लीजिए कि हमें सबसे ज्यादा जनरल नॉलेज के बारे में जानना पसंद है. 

YouTube Algorithm Kaise Kam Karta Hai यूट्यूब एल्गोरिथम कैसे काम करता है

हमारे लिए यूट्यूब अपने होम स्क्रीन पर सबसे ज्यादा जनरल नॉलेज रिलेटेड वाला वीडियो ही दिखाएगा. जिससे हम उस पर क्लिक करके देखना पसंद करेंगे. अब ऐसा नहीं होगा कि हम पसंद करते हैं, जनरल नॉलेज और हमारे होम स्क्रीन पर यूट्यूब में खाना बनाने वाला कोई वीडियो को दिखाया जाएगा. क्योंकि हमारा इंटरेस्ट उन वीडियो में नहीं है. जिसमें खाना बनाने के बारे में बताया गया है. अब इसके आधार पर आप समझ गए होंगे कि लोग क्या देखना पसंद कर रहे हैं. हम उन्हीं के लिए बेहतर टॉपिक का चयन करके बेहतर इनफॉर्मेशन बनाने का प्रयास करें.

1. वर्तमान ट्रेंडिंग टॉपिक को समझें

एक कहावत है कि हमें हवा के साथ चलना चाहिए. जब भी हम हवा के विपरीत काम करने का प्रयास करते हैं, तो हमें असफलता ही मिलती है. इसीलिए मान लीजिए की यूट्यूब पर अभी सर्च किया जा रहा है कि यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए. लेकिन आप उससे अलग हटकर वीडियो बना रहे हैं कि यूट्यूब एल्गोरिथम क्या है.  अब यहां पर दर्शक केवल यूट्यूब से पैसे कमाने वाले वीडियो को ही देखना पसंद कर रहे हैं.

तब यदि आप यूट्यूब के एल्गोरिथम पर काम करेंगे और उस पर वीडियो बनाएंगे. तब दर्शक उसको देखना पसंद नहीं करेंगे. उस स्थिति में आपका वीडियो यूट्यूब भी ज्यादा लोगों को सजेस्ट नहीं करेगा. रिकमेंड नहीं करेगा. क्योंकि लोगों को जो पसंद हैं.वह चीज नहीं है. जो चीज ज्यादा पसंद किया जा रहा हैं. उसी चीज पर आप काम करिए. वही चीज बनाए. तब आपको YT के तरफ से भी हेल्प मिलेगा और लोग उसको ज्यादा देखेंगे भी.

2. अपने दर्शकों का रुचि समझे

यूट्यूब एल्गोरिथम जो चीज हम सर्च करते हैं. उसको अपने पास सेव करके रख लेगा और उसको बार-बार यह देखते रहेगा कि हम क्या सर्च कर रहे हैं. हमारा इंटरेस्ट उसको पता चल जाएगा. ऐसे ही जितने भी लोग यूट्यूब पर कुछ भी सर्च करेंगे. उनको जो इंटरेस्ट होगा. वह गूगल या YT अपने पास इंस्टॉल करके रख लेता और उनके इंटरेस्ट के अनुसार जो भी सामग्री होता हैं. उसको ज्यादा भेजता हैं. जिससे क्या होता हैं कि हमारा इंटरेस्ट यदि रसगुल्ला खाने में हैं. 

तब हमें रसगुल्ला ही दिया जाएगा तो हम ज्यादा खाएंगे. यही सटीक लाइन बैठता हैं कि जो चीज हम देखना चाहते हैं. वही चीज़ हमको यूट्यूब दिख रहा है, तो हम ज्यादा देखेंगे. यही रणनीति भी हैं. जितने भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म हो यूट्यूब हो गूगल हो हर जगह पर वैसे कंटेंट का ज्यादा प्रेफरेंस दिया जाता हैं. 

अब आपको यह समझना होगा कि हमारे दर्शक क्या चीज खाना पसंद कर रहे हैं. क्या उनको रसगुल्ला अभी पसंद है, तो उनको रसगुल्ला ही दीजिए. उनको यदि आप पापड़ी या कोई दूसरा आइटम खिलाएंगे, तो वह नहीं खाएंगे. यही चीज है जिसको समझ जाएंगे तो यूट्यूब पर आपका वीडियो लोग देखना शुरू कर देंगे.

3. यूट्यूब आपके वीडियो को कैसे समझता है

अब देखिए एक चीज आपको जानना जरूरी है कि यूट्यूब का एल्गोरिथम जब आप वीडियो बना देंगे, तो उसको कैसे समझेगा. रिड कैसे करेगा. देखिए जो भी आप अपने चैनल के कीवर्ड में शब्द डालेंगे तथा आप वीडियो के टाइटल, डिस्क्रिप्शन, टैग में जो भी कीवर्ड डालेंगे तथा जो आप वीडियो में शब्द बोलेंगे. 

उन सारे शब्दों को और कीवर्ड को यूट्यूब मैच कराएगा. जिसके आधार पर वह बेस्ट निष्कर्ष निकाल पाएगा कि आपका वीडियो किस कीवर्ड पर रैंक कराना हैं तथा किस लोगों को दिखाना हैं. इसीलिए आपको अपने चैनल का कीवर्ड टाइटल, टैग और डिस्क्रिप्शन पर अच्छे से काम करना चाहिए. जिससे यूट्यूब के एल्गोरिथम आपके वीडियो को सही से समझ पाता हैं तथा सही लोगों को रिकमेंड करता हैं.

4. कीवर्ड मैच कैसे करें

आपको अपने यूट्यूब चैनल का कीवर्ड, टाइटल, टैग, डिस्क्रिप्शन कैसे आपको सिमिलर मैच कराना चाहिए. मान लीजिए आप यूट्यूब टॉपिक पर काम करते हैं, तो आप जितना भी कीवर्ड चैनल के टैग में डालेंगे. वहां पर सारे कीवर्ड में आपको यूट्यूब शब्द मेंशन करना चाहिए. उसके बाद जब किसी टॉपिक को बनाते हैं, तो वीडियो के टाइटल में भी आपको यूट्यूब शब्द जरूर लिखना चाहिए.

डिस्क्रिप्शन में भी कीवर्ड को डालना चाहिए तथा वही कीवर्ड टैग में भी डालना चाहिए. जितना भी टैग आप डालेंगे. उन सारे कीवर्ड के शुरुआत, बीच में या कहीं भी यूट्यूब शब्द आना चाहिए. जिससे क्या होगा कि आपके टॉपिक का एक ग्रीन सिग्नल मिलेगा. यूट्यूब यह समझेगा कि आपका कंटेंट यूट्यूब पर फोकस हैं और वैसे लोगों को दिखाना है जो इससे रिलेटेड चीजों के बारे में जानना पसंद करते हैं.

सारांश

आशा करते हैं कि यूट्यूब एल्गोरिथम कैसे काम करता है की इनफार्मेशन आपको जरूर अच्छा लगा होगा. क्योंकि इसमें हम सारे स्टेप को कवर किए हैं. जिससे आपको यह समझने में बहुत ही आसानी हुआ होगा कि यूट्यूब का जो सिस्टम की कार्य प्रणाली है. वह किस तरह से कार्य करती है तथा लोगों के लिए बेहतर इनफॉर्मेशन कैसे प्रदान करती है.

आपका जो कंटेंट होगा, उसको कैसे सही लोगों के पास पहुंचाता है. इन सभी चीजों के बारे में पूरी तरह से हम यहां पर आपको समझाने का प्रयास किए हैं. जिससे आपको बहुत ही ज्यादा फायदा हो सकता है. फिर भी यदि आपको किसी भी प्रकार का डाउट है तो आप कमेंट करके जरूर पूछे.

Leave a Comment