डब्लू डब्लू डब्लू क्या हैं कैसे काम करता हैं WWW इतिहास

WWW kya hai किसी भी वेबसाइट को जब हम लोग ओपन करते हैं. तो उसमें सबसे पहले डब्लू डब्लू डब्लू का उपयोग किया जाता हैं. आइए इस लेख में हम लोग डब्लू डब्लू डब्लू क्या हैं. और किस तरह से काम करता हैं डब्ल्यू डब्ल्यू डब्लू का इतिहास क्या हैं. पूरी जानकारी हम लोग इस लेख में नीचे प्राप्त करेंगे.

इंटरनेट पर जितनी भी जानकारी हम लोग प्राप्त करते हैं. उन जानकारियों को इंटरनेट पर स्टोर करके रखा गया हैं. इंटरनेट और डब्लू डब्लू डब्लू इन हिंदी में बहुत ज्यादा समानता हैं. क्योंकि इंटरनेट और डब्लू डब्लू डब्लू एक दूसरे का पूरक हैं.

जब कभी भी किसी वेबसाइट का यूआरएल हम लोग लिखते हैं तो उसका सबसे पहले शुरुआत जो हैं. www से ही होता हैं. जैसे मेरे वेबसाइट का यूआरएल www.gyanitechraviji.com हैं. इसी तरह से इंटरनेट की दुनिया में जितने भी वेबसाइट हैं उन सभी वेबसाइट का यूआरएल डब्लू डब्लू डब्लू से ही शुरू होता हैं. इंटरनेट से पैसा कैसे कमाए

WWW kya hai डब्लू डब्लू डब्लू क्या हैं

www का मतलब वर्ल्ड वाइड वेब होता हैं. www ka full form world wide web होता हैं. वर्ल्ड वाइड वेब में दुनिया के जितने भी वेबसाइट हैं वे सभी वेबसाइट वर्ल्ड वाइड वेब में रजिस्टर्ड होते हैं. दुनिया में जितने भी प्रकार की सूचनाएं हम लोग इंटरनेट पर प्राप्त करते हैं.

उन सभी सूचनाओं का जो डाटा होता हैं वह सारे डाटा वर्ल्ड वाइड वेब के पास मौजूद रहता हैं. वर्ल्ड वाइड वेब किसी भी वेबसाइट का यूआरएल होता हैं जोकि वेबसाइट का एड्रेस यानी कि पता को बतलाता हैं.

www kya hai in hindi

www kya hai

world wide web को वेबसाइट का यूआरएल भी कहा जाता हैं. यूआरएल का मतलब यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर होता हैं. जो कि एक वेबसाइट को आईडेंटिफाई करता हैं. उसके पूरे नाम को बताता हैं. वर्ल्ड वाइड वेब में जितने भी डाटा होते हैं वह सारे डाटा वेब सर्वर के पास मौजूद रहता हैं वेब सर्वर 24 * 7 काम करता हैं.

क्योंकि जब भी किसी क्लाइंट के द्वारा किसी भी सूचना को इंटरनेट पर खोजा जाता हैं तो उस सूचना को वेब सर्वर के पास भेजा जाता हैं. और वहां से web-server उससे संबंधित जानकारी को क्लाइंट के कंप्यूटर पर उपलब्ध कराता हैं. हाउसवाइफ घर बैठे पैसा कैसे कमाए

www in hindi 

किसी भी वेबसाइट में जो सूचना डाला जाता हैं विशेष सूचना टेक्स्ट हो सकता हैं वीडियो हो सकता हैं. इमेज हो सकता हैं ग्रैफिक्स हो सकता हैं. ऑडियो डाटा के माध्यम से उस वेबसाइट में सूचना को रखा जा सकता हैं और यह जितने भी वेबसाइट के अंदर सूचना को रखने का जो तरीका हैं.

यह सारे जितनी भी प्रकार के डाटा हैं वे सभी डाटा वर्ल्ड वाइड वेब के माध्यम से वेब सर्वर के पास store हो जाता हैं.

WWW का इतिहास  

इंटरनेट की दुनिया में वर्ल्ड वाइड वेब www का अविष्कारक Tim Berners Lee हैं www का आविष्कार किया. जिसका मतलब डब्लू से वर्ल्ड वर्ल्ड का मतलब कि दुनिया में जितने भी वेबसाइट हैं. उसके बारे में जानकारी रखना वाइड का मतलब बड़ा यानी विस्तृत रूप में दुनिया के वेबसाइट के बारे में गहराई से वेबसाइट के बारे में जानकारी रखना.

वेब का मतलब वेबसाइट होता हैं. वेबसाइट का मतलब वेब पेजेस होता हैं. एक वेबसाइट के अंदर ढेर सारा वेब पेज हो सकता हैं. जिसमें अलग-अलग तरह के जानकारियां दी गई रहती हैं.

वर्ल्‍ड वाइड वेब कैसे काम करता हैं  

ऊपर दी गई जानकारी से आप यह समझ गए होंगे कि www kya hai और इसका फुल फॉर्म क्या होता हैं इसका इतिहास क्या हैं अब वर्ल्ड वाइड वेब कैसे काम करता हैं.

वर्ल्ड वाइड वेब इंटरनेट के माध्यम से जब कभी किसी भी सूचना को सर्च किया जाता हैं तो उसके लिए एक ब्राउजर इंटरनेट वेबसाइट टेक्स्ट के माध्यम से किसी भी सूचना को इंटरनेट पर सर्च किया जाता हैं.

सर्च करने के बाद वर्ल्ड वाइड वेब सर्च किए गए डाटा से संबंधित जानकारी को वेब सर्वर के पास भेजता हैं और वहां से उससे संबंधित जानकारी को क्लाइंट सिस्टम के पास उपलब्ध कराया जाता हैं.

इंटरनेट वर्सेस वर्ल्ड वाइड वेब 

इंटरनेट के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए आप लोग इंटरनेट क्या हैं के बारे में लेख को पूरा पढ़ सकते हैं जहां तक इंटरनेट की बात हैं इंटरनेट एक जाल हैं जिसमें दुनिया के जितने भी नेटवर्क हैं वह सारे इस जाल से जुड़े हुए हैं. जबकि वर्ल्ड वाइड वेब यानी डब्लू डब्लू डब्लू एक वेबसाइट का यूआरएल होता हैं जिसके पास दुनिया के सारे वेबसाइट के बारे में जानकारी होता हैं.

Internet और www में अंतर  

  • इंटरनेट बिना www के भी चल सकता हैं.
  • वर्ल्ड वाइड वेब यानी www को इस्तेमाल करने के लिए इंटरनेट की आवश्यकता जरूरी हैं.
  • इंटरनेट का शुरुआत वर्ष 1960 में हुआ था.
  • www का अविष्कार वर्ष 1989 में Tim berners-lee के द्वारा किया गया था.
  • इंटरनेट का संचालन पूरी तरह से हार्डवेयर के इस्तेमाल से होता हैं.
  • www का उपयोग सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाता हैं.
  • इंटरनेट आईपी ऐड्रेस का उपयोग करके किसी भी कंप्यूटर का लोकेशन एक्सेस करता हैं.
  • www हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकोल के द्वारा संचालित होता हैं.

सारांश 

WWW kya hai इस लेख में दी गई हैं. साथ ही साथ डब्‍लू डब्‍लू डब्‍लू का फुल फॉर्म क्या होता हैं डब्‍लू डब्‍लू डब्‍लू कैसे काम करता हैं. इसका इतिहास क्या हैं के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी दी गई हैं. वैसे डब्‍लू डब्‍लू डब्‍लू क्या होता हैं.

इसके बारे में अभी एक लाइन में इसका उत्तर दिया जाए तो www एक वर्ल्ड वाइड वेब होता हैं जिसमें दुनिया का सारे वेबसाइट का इंफॉर्मेशन मौजूद रहता हैं.

वर्ल्ड वाइड वेब के बारे में दी गई जानकारी आप लोगों को कैसा लगा कृपया कमेंट करके अपना राय जरूर दें. और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी करें.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here