वीपीएन क्या हैं वीपीएन का 7+ उपयोग एवं विशेषता

वीपीएन क्या हैं वीपीएन का उपयोग क्यों किया जाता हैं वीपीएन के बारे में इस लेख में हम लोग पूरी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं जिसमें VPN का उपयोग क्यों किया जाता हैं VPN kya hai in hindi क्या हैं VPN के फायदे के बारे में विस्तृत जानकारी पाने के लिए इस लेख को पूरा पढना होगा.

किसी भी ब्राउजर में कभी हम लोग जरूर एक समस्या का सामना कीये होंगे जैसे कभी-कभी किसी वेबसाइट को हम लोग ओपन करते हैं तो वह वेबसाइट ओपन नहीं होता हैं क्योंकि किसी न किसी कारण से उस वेबसाइट को वर्तमान लोकेशन के लिए ब्लॉक किया रहता हैं.

जिसके वजह से वेबसाइट को हम लोग नहीं यूज कर पाते हैं वही अभी भी VPN का उपयोग करके हम लोग इस वेबसाइट को ओपन करना चाहे तो बहुत ही आसानी से उसका use कर सकते हैं. पैसा कैसे कमाए

What is vpn in hindi

वीपीएन एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क होता हैं जिससे वर्तमान लोकेशन के नेटवर्क के द्वारा इंटरनेट मुहैंया कराने वाले इंटरनेट सर्विस प्रोफाइल के द्वारा ब्लॉक किए गए वेबसाइट को वीपीएन के द्वारा ओपन किया जा सकता हैं VPN का उपयोग करने से इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर को यह पता नहीं चल पाता हैं कि जिस कंप्यूटर में इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा रहा हैं.

उस कंप्यूटर में किस-किस वेबसाइट या इंटरनेट सेवा का इस्तेमाल किया जा रहा हैं जिसके चलते ब्लॉक किया गया वेबसाइट्स भी वीपीएन का इस्तेमाल करके ओपन करके उपयोग किया जा सकता हैं. वीपीएन का फुल फॉर्म वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क होता हैं जोकि पब्लिक नेटवर्क से प्राइवेट नेटवर्क में सुरक्षित कर देता हैं उसे VPN कहते हैं यदि किसी कंप्यूटर में इस्तेमाल किए जा रहे नेटवर्क को पब्लिक से प्राइवेट नेटवर्क में सुरक्षित करना हैं तो उसके लिए वीपीएन का इस्तेमाल कर सकते हैं.

VPN का उपयोग करके आप अपने हैं कंप्यूटर सिस्टम में किसी भी प्रकार के कामों के लिए सिक्योरिटी यानी जो भी आप अपने कंप्यूटर सिस्टम में इंटरनेट के माध्यम से काम करेंगे उस काम के बारे में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर को पूरी जानकारी नहीं पता चल पाएगा जिसको हम लोग प्राइवेट नेटवर्क के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं. इंटरनेट से पैसा कैसे कमाए

VPN kya hai in hindi

वीपीएन का इतिहास 

वीपीएन का इतिहास बहुत ज्यादा पुराना नहीं हैं वीपीएन का शुरुआत वर्ष 1996 में हुआ जिसको बनाने का श्रेय माइक्रोसॉफ्ट के पीपीटीपी प्रोटोकॉल के मुख्य सिद्धांतों पर विकसित किया गया. वर्तमान समय में और भी कई आधुनिक प्राइवेट नेटवर्क प्रोटोकोल हैं लेकिन 1996 के दौर में इंटरनेट सुरक्षा में VPN का एक महत्वपूर्ण योगदान था जिसका उपयोग करके हैंकर से बचा जा सकता था.

वीपीएन का उपयोग  

वीपीएन का उपयोग करके आप अपने नेटवर्क को पब्लिक से प्राइवेट नेटवर्क में उपयोग कर सकते हैं जिसका उपयोग करने से आपके कंप्यूटर में किए जा रहे कामों को सुरक्षा के दृष्टि से अच्छा हो जाता हैं VPN का उपयोग किसी ऑर्गनाइजेशन कंपनी के द्वारा सुरक्षित कामों के लिए किया जाता हैं.

वीपीएन का उपयोग करने से आपके डाटा को हैक करना आसान नहीं होता हैं VPN का उपयोग करके आप अपने आइडेंटीटी को सेफ रख सकते हैं आप अपने सिस्टम को सेफ एवं प्रोटेक्टेड रख सकते हैं अपने आइडेंटिटी को प्राइवेट और सिक्योर रख सकते हैं.

वीपीएन का उपयोग करके किसी वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं जिसको किसी कारणवश इंटरनेट पर ओपन करना नामुमकिन सा लगता हैं. कभी-कभी ऐसा होता हैं कि किसी विदेश के सरकार के द्वारा किसी वेबसाइट एप आदि को बैन कर दिया जाता हैं तो वहां पर उस वेबसाइट या एप का उपयोग नहीं कर सकते हैं.

उदाहरण के लिए भारत में कुछ दिन पहले बहुत सारे एप के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया गया हैं और भी बहुत सारे उदाहरण हैं जैसे सुरक्षा के दृष्टि से कुछ ऐसे वेबसाइट हैं जिनको कुछ देशों के लिए प्रतिबंधित कर दिया जाता हैं.

वीपीएन कैसे काम करता हैं 

वीपीएन का काम हैं आपके द्वारा किए जा रहे हैं कामों को सुरक्षित एवं सिक्योर रखना . जब भी आप अपने कंप्यूटर या मोबाइल में VPN का उपयोग करते हैं उस समय आपके इंटरनेट कनेक्टिविटी को प्राइवेट मोड में कर देता हैं जब भी अपने मोबाइल या कंप्यूटर में वीपीएन को कनेक्ट करते हैं.

उसके बाद आपके कंप्यूटर या मोबाइल में उपयोग किए जा रहे हैं वेबसाइट या एप में किए जा रहे कामों का जनकारी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के लिए सिक्योर हो जाता हैं जिसके चलते इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर को यह पता नहीं चल पाता हैं कि कौन सी वेबसाइट का उपयोग उस पर्टिकुलर कंप्यूटर में किया जा रहा हैं. VPN का काम हैं नेटवर्क को प्राइवेट मोड में कर देना और डाटा को इंक्रिप्ट करके सिक्योर कर देना.

वीपीएन के फायदे 

  • वीपीएन का उपयोग करने से आपका नेटवर्क प्राइवेट हो जाता हैं.
  • वीपीएन का उपयोग करने से आपका आईडेंटिटी सिक्योर हो जाता हैं.
  • वीपीएन का उपयोग करके आप किसी भी ब्लॉक वेबसाइट को भी आप ओपन कर सकते हैं.
  • वीपीएन का इस्तेमाल करके आप अपने लोकेशन को बदल सकते हैं.
  • जब भी VPN का उपयोग किया जाता हैं तो कनेक्शन इंक्रिप्ट्स मोड में चला जाता हैं इसीलिए इसका इस्तेमाल करके आप हैकर से भी बच सकते हैं.
  • VPN का सेवा आप फ्री में भी उपयोग कर सकते हैं.

कंप्यूटर में वीपीएन का उपयोग कैसे करते हैं  

  • कंप्यूटर लैपटॉप में VPN का उपयोग करने के लिए ओपेरा डेवलपर सॉफ्टवेयर को आपको अपने कंप्यूटर लैपटॉप में इंस्टॉल करना होगा उसके लिए आइए हम लोग स्टेप बाय स्टेप नीचे जानकारी प्राप्त करते हैं.
  • ओपेरा डेवलपर सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिए आप गूगल में सर्च कर सकते हैं ओपेरा डेवलपर सॉफ्टवेयर और वहां से आप फ्री में सॉफ्टवेयर को डाउनलोड कर सकते हैं.
  • सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के बाद आप अपने कंप्यूटर लैपटॉप में सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करें.
  • इंस्टॉल करने के बाद इस सॉफ्टवेयर को ओपन करना होगा
  • ओपन करने के बाद मेनू सेक्शन पर क्लिक करना हैं यह करने के बाद सेटिंग का ऑप्शन मिल जाएगा उस पर क्लिक करना हैं.
  • सेटिंग्स में ऑप्शन में प्राइवेसी एंड सिक्योरिटी का ऑप्शन मिलेगा वहां पर क्लिक करने के बाद VPN का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करना हैं.
  • उसके बाद VPN पर क्लिक करके आप वीपीएन को ऑन कर के उपयोग कर सकते हैं.
  • जब आपके कंप्यूटर लैपटॉप में VPN ऑन हो जाएगा तब आप वीपीएन का उपयोग बहुत ही आसानी से वेब ब्राउजिंग में किसी भी वेबसाइट या किसी भी सर्च इंजिन का उपयोग बहुत ही आसानी से पूरी प्राइवेसी के साथ कर सकते हैं.

वीपीएन का सेवा ऑन हो जाने के बाद आप किसी भी वेबसाइट जो कि आपके सिस्टम में ओपन नहीं हो रहा था उसको आप बहुत ही आसानी से खोल पाएंगे. जब भी आप वीपीएन को अन करके उपयोग करेंगे तो आपके ब्राउज़र के राइट साइड में भी VPN लिखा हुआ दिखेगा जब भी आप उसको एक्टिवेट या डीएक्टिवेट करना चाहे उस पर क्लिक करके बहुत ही आसानी से कर सकते हैं.

मोबाइल में वीपीएन का उपयोग कैसे करें 

  • मोबाइल में VPN का उपयोग करना बहुत ही आसान हैं मोबाइल में वीपीएन का उपयोग करने के लिए नीचे दिए गए ने स्टेप्स को फॉलो करना होगा.
  • प्ले स्टोर में जाकर के VPN सर्च करें.
  • वीपीएन सर्च करने के बाद वहां पर आपको ढेर सारा VPN का एप दिखाई देगा आप उसी एप को इंस्टॉल करें जिस एप को ज्यादातर लोग उपयोग करते हैं.
  • जैसे windscribe एप को अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर सकते हैं
  • एप को इंस्टॉल करने के बाद उस एप को ओपन कर ले
  • उसके बाद आप उस एप में अपने हिसाब से लोकेशन को सेट कर सकते हैं.
  • लोकेशन को सेट करने के बाद आपको उस एप में कनेक्ट का ऑप्शन दिखेगा उस पर आप क्लिक करके अभी वीपीएन को कनेक्ट कर सकते हैं.
  • उसके बाद आपके मोबाइल में VPN कनेक्ट हो जाएगा.
  • अब आप अपने मोबाइल में किसी भी वेबसाइट को पूरी सिक्योरिटी के साथ उपयोग कर सकते हैं.

स्मार्टफोन के लिए कुछ वीपीएन एप का लिस्ट 

  • Windscribe
  • Hola VPN
  • Turbo VPN
  • Express vpn
  • Open vpn
  • VPN gate

फ्री वीपीएन और पेड वीपीएन में अंतर  

  • फ्री VPN का उपयोग करना ज्यादा सुरक्षित नहीं होता हैं इसमें बहुत तरह का सुरक्षा की दृष्टि से समस्या होता हैं.
  • Free VPN में ढेर सारा विज्ञापन आदि को दिखाया जाता हैं. जिससे बार-बार विज्ञापन आपके स्क्रीन पर दिखने लगता हैं.
  • फ्री वीपीएन में सीमित सरवर और कंट्री को चुनने का ऑप्शन रहता हैं.
  • पेड वीपीएन में सुरक्षा सौ परसेंट ग्रांटेड होता हैं.
  • पेड़ VPN में विज्ञापन देखने को नहीं मिलेगा.
  • वीपीएन में कंट्री अनलिमिटेड बदल सकते हैं

VPN ka full form kya hota hai

वीपीएन का फुल फॉम Virturla Private network होता हैं.

वीपीएन का नुकसान  

वीपीएन का उपयोग करने से आप अपने डाटा और सिक्योरिटी को ही सुरक्षित रख सकते हैं क्योंकि वीपीएन के पास आपके बारे में आपका डाटा हर समय उपलब्ध रहता हैं इसलिए VPN का इस्तेमाल करने से यह समझना गलत होगा कि मेरे द्वारा इस्तेमाल किए गए डाटा के बारे में कहीं पर कोई जानकारी नहीं होगा.

  • फ्री वीपीएन का उपयोग करने से जो फ्री VPN का सेवा प्रदाता के द्वारा डाटा को गलत इस्तेमाल किया जा सकता हैं.
  • किसी भी चीज का दो पहलू होता हैं वीपीएन का इस्तेमाल करके हम लोग अपने ही डाटा को छुपा सकते हैं ठीक वैसे ही वीपीएन का इस्तेमाल करके किसी के डाटा को हैक करके अपने इंफॉर्मेशन को छुपा सकते हैं.
  • VPN का इस्तेमाल करने से इंटरनेट का स्पीड कम हो जाता हैं क्योंकि इंटरनेट और सर्वर के बीच में एक तीसरा वीपीएन सर्वर भी जुड़ जाता हैं जिसके कारण नेट का स्पीड स्लो हो जाता हैं.

सारांश  

वीपीएन क्या हैं इसके बारे में इस लेख में पूरी जानकारी दी गई हैं वैसे भी वीपीएन के बारे में मेरी राय हैं की VPN का उपयोग वैसे किसी खास जरूरत के हिसाब से हैं करना चाहिए.

इस लेख में दी गई जानकारी आप लोगों को कैसा लगा कृपया कमेंट करके अपना राय जरूर दें और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment