सुपर कंप्यूटर क्या हैं, इतिहास, विशेषता, उपयोग एवं फायदे

दुनिया में कंप्यूटर के क्षेत्र में कई अविष्कार किए गए उनमें से सबसे बेहतर एक सुपर कंप्यूटर का भी आविष्कार किया गया. जिसको हिंदी में महा सगंणक के नाम से जानते हैं. सुपर कंप्यूटर क्या है Super Computer in hindi बनाने की आवश्यकता क्यों पड़ा. सुपर कंप्यूटर का इतिहास, विशेषता, उपयोग एवं फायदे के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे.

एक ऐसा कंप्यूटर जो एक सामान्य कंप्यूटर की तुलना में 100 गुना से भी अधिक तेजी से काम करता हो वैसे कंप्यूटर को महा संगणक के नाम से जानते हैं. तकनीक की दुनिया में वर्तमान समय में बड़े-बड़े अत्याधुनिक अविष्कार हुए हैं जिनमें एक महा संगणक भी शामिल है.

सुपर कंप्यूटर एक ऐसा ऊंच तकनीक से भरा हुआ कंप्यूटर है जोकि बहुत तीव्र गति से किसी भी जटिलताओं से भरे कार्य को पूरा करता है. एक प्रकार का ऐसा कंप्यूटर होता है जो कि एक सेकंड में अरबों गणना कर सकता है.सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने (13+ तरीके ) , योग्‍यता, कोर्स व कार्य

सुपर कंप्यूटर क्या है

इस कंप्यूटर के नाम में सुपर शब्द लगा हुआ है जिसका मतलब होता है एक ऐसा कंप्यूटर जो एक सामान्य कंप्यूटर से बिल्कुल ही अलग एवं उससे अधिक शक्तिशाली क्षमता वाले कंप्यूटर को महा संगणक कंप्यूटर कहते हैं.

दुनिया में कई प्रकार के अनुसंधान के लिए विशेष प्रकार के Supercomputer का अविष्कार किया गया. जिससे दुनिया के कुछ प्रमुख संस्थान जैसे विश्वविद्यालय, सैन्य संस्थान, वैज्ञानिक अनुसंधान, स्वास्थ्य के क्षेत्र में अनुसंधान, सुरक्षा के क्षेत्र में अनुसंधान, परमाणु अनुसंधान और मौसम के क्षेत्र में अनुसंधान में किसी भी प्रकार के बड़े से बड़े घटनाओं को तुरंत सेकंडो में करने के लिए वर्तमान समय में इसका उपयोग किया जा रहा है.

Super Computer in hindi

आइए एक उदाहरण से समझते हैं

दुनिया में जितने भी शक्तिशाली देश हैं वह देश अपने सुरक्षा के दृष्टिकोण से दुनिया के अन्य गतिविधियों पर नजर रखने के लिए इस महा कंप्यूटर का उपयोग करते हैं. इस कंप्यूटर से दुनिया में सैन्य गतिविधि परमाणु गतिविधि परमाणु अस्त्र शस्त्र मौसम की स्थिति आदि को जानने के लिए बड़े-बड़े शक्तिशाली देश इसका इस्तेमाल करते हैं.

सुपर कंप्यूटर का उपयोग

मुख्य रूप से इस कंप्यूटर का उपयोग नीचे दिए गए निम्न क्षेत्र में किया जाता है.

  • पृथ्वी के स्थितियों के बारे में जानकारी के लिए तथा भू विज्ञान से संबंधित कार्यों के लिए इस सुपर पावर प्रणाली का उपयोग किया जाता है.
  • मौसम की स्थिति जानने के लिए तथा मौसम में होने वाले बदलाव की समीक्षा के लिए उपयोग किया जाता है.
  • ब्रह्मांड में घटने वाले खगोलीय घटनाओं के बारे में जानकारी तथा उसमें हो रहे बदलाव के बारे में जानने के लिए भी सुपर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है.
  • मानव शरीर के बारे में हो रहे अलग-अलग प्रकार के बदलाव बीमारी विज्ञान के क्षेत्र में नए-नए अनुसंधान के लिए इस कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है.
  • भौतिक विज्ञान से संबंधित कार्यों के लिए उस को मापने के लिए भौतिक द्रव्य की स्थिति आदि को जानने के लिए भी उपयोग किया जाता है.
  • टेक्नोलॉजिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में टेक्नोलॉजी के नए आविष्कारों के लिए भी इस कंप्यूटर का उपयोग होता है.

सुपर कंप्यूटर की जरूरत क्यों है

दुनिया में अभी भी कुछ ऐसे देश हैं जिसके पास सुपरकंप्यूटर नहीं है वैसे देश जिनके पास सुपरकंप्यूटर नहीं है उन देशों के द्वारा भी अब इस पर काम किया जा रहा है. तथा वैसे देश किसी दूसरे देश से सुपर कंप्यूटर को खरीदना चाहते हैं. कंप्यूटर एक्सपर्ट कैसे बने,आठ 8 बेहतरीन तरीकें

जैसा कि ऊपर हमने बताया है कि इस कंप्यूटर का सुरक्षा अनुसंधान के क्षेत्र में तथा और भी कई क्षेत्रों में अपने देश की स्थिति को मजबूत बनाने के होता हैं.

दुनिया के अन्य देशों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए वर्तमान समय में इस कंप्यूटर की जरूरत हर एक देश को है.

दुनिया में सुपर पावर बनने के लिए आज के समय में टेक्नोलॉजी ही एक ऐसा चीज है जिससे किसी भी देश को सुपर पावर बनाया जा सकता है. आज युद्ध के क्षेत्र में भी तकनीक का बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है. 

एक समय था जब भारत अमेरिका से सुपर कंप्यूटर को खरीदना चाहता था लेकिन उस दौर में अमेरिका ने सुपर कंप्यूटर को भारत को देने के लिए तैयार नहीं हुआ था. 

क्योंकि अमेरिका को लगता था कि वह दुनिया के अन्य देशों के अभी इस बेहतर सुपर कंप्यूटर तकनीक को देता है तो इससे अन्य देश भी मजबूत होंगे.

लेकिन आज के समय में भारत अपने देश में तकनीक के नए आयाम को हासिल किया है. आज भारत में भी कई बेहतरीन सुपर कंप्यूटर को बनाया गया है जिसका दुनिया में भी स्थान है.

एक समय था जब अमेरिका तकनीक के मामलों में बहुत ज्यादा आगे था दुनिया में अमेरिका तकनीक के क्षेत्र में कई बेहतर प्रणाली को विकसित किया था जो कि दुनिया के अन्य देशों के पास नहीं था. लेकिन तकनीक के क्षेत्र में भारत और चीन के साथ कई ऐसे देश है जो अब अमेरिका के साथ तकनीक के क्षेत्र में ताल से ताल मिला रहे हैं.

आज इस तकनीक के क्षेत्र में भी भारत ने दुनिया में अपना बेहतर एवं अलग पहचान बनाया है. आज भारत तकनीक के क्षेत्र में दुनिया में अपना एक अच्छा स्थान रखता है.

सुपर कंप्यूटर का इतिहास

दुनिया का पहला सुपरकंप्‍यूटर का नाम ईलीआक 4 हैं इस पर 1975 में सुचारू रूप बनाना प्रारंभ किया. इस कंप्यूटर को डेनियल स्लोटनिक ने बनाया था. यह कंप्यूटर अकेले एक बार में 64 कंप्यूटरों का काम कर सकता था. यह दुनिया का पहला सबसे शक्तिशाली महा कंप्यूटर बना था.

अमेरिका के द्वारा 1980 के दशक में सुपर कंप्यूटर के क्षेत्र में काम करना शुरू किया गया. जिसके बाद वर्ष 1990 में अमेरिका के द्वारा एक सुपर कंप्यूटर को तैयार किया गया उसी दौरान जापान में भी कई प्रोसेसर से लैस सुपर कंप्यूटर को निर्माण किया गया था.

भारत में सुपर कंप्यूटर

भारत में सबसे पहले अमेरिका से सुपर कंप्यूटर के लिए प्रयास किया गया था.

उसके बाद भारत ने अपना पहला सुपर कंप्यूटर परम 8000 को बनाने का काम शुरू किया. भारत में सबसे पहली बार वर्ष 1991 में सुपर कंप्यूटर के निर्माण के क्षेत्र में काम करना प्रारंभ किया गया. आज भारत में कई सुपर कंप्यूटर है जिसका नाम कुछ इस प्रकार है. कंप्‍यूटर की बेसिक जानकारी, परिभाषा

  • Saharsa t cray xc40
  • Aditya Lenovo IBM
  • TIFR Color Boson
  • IIT Delhi HPC
  • Param Yuva 2

सुपर कंप्यूटर की कीमत

दुनिया में जितने भी सामान्य कंप्यूटर का उपयोग किया जा रहा है उसका कीमत लगभग सभी लोगों को पता है. लेकिन एक सुपर कंप्यूटर का कीमत लाखों डॉलर में है. इस महा संगणक कंप्यूटर का उपयोग एक सामान्य व्यक्ति के लिए संभव नहीं है. 

क्योंकि इसको चलाने के लिए विशेष प्रकार की तकनीकी जानकारी एवं उच्च क्षमता वाले कई ऐसे तकनीक की जरूरत है. वैसे समान रूप से इसका कीमत भी बहुत ज्यादा है एक अनुमान के अनुसार सुपर कंप्यूटर का कीमत डॉलर 100 000 है.

सुपर कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम

दुनिया में जितने भी महा संगणक कंप्यूटर हैं उनमें अधिकतर लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग किया जाता है इसके अलावा भी CentOs, Cray, Bullx SCS, इत्यादि का किया जाात हैं. 14+बेस्‍ट कंप्यूटर कोर्स 

सुपर कंप्यूटर की विशेषता

  • इस कंप्यूटर को बड़े से बड़े डाटा को कैलकुलेट करने के लिए उपयोग किया जाता है जैसे प्रति सेकंड में खरबो की संख्या में डाटा एनालिसिस करने की क्षमता होता है.
  • इस महा संगणक को किसी विशेष अनुसंधान केंद्र के लिए इस्तेमाल किया जाता है.
  • सामान्य क्षेत्र में इसका उपयोग लगभग नहीं है.
  • इस महा संगणक का आकार एक सामान्य कंप्यूटर के तुलना में बहुत ही ज्यादा भिन्न होता हैं. इसको ठंडा रखने के लिए विशेष प्रकार की व्यवस्था करना पड़ता है.

FAQ

दुनिया का सबसे पहला सुपर कंप्यूटर

सीडीसी 6600 दुनिया का सबसे पहला सुपर कंप्यूटर था जिसको सेयमोर क्रे ने वर्ष 1964 में बनाया था.

क्या हम सुपर कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं

नहीं क्योंकि यह एक बहुत ही महंगा एवं खर्चीला है.

अभी तक दुनिया में कितने सुपर कंप्यूटर को बनाया गया है

वर्तमान समय में दुनिया में महा सगंणक को कई देशों में उपयोग किया जा रहा है जिसकी संख्या अनगिनत है.

सुपर कंप्यूटर एक नज़र

फ़िल्म, सिनेमा, रोजगार अनुसंधान,चिकित्सकीय पद्धति में कई प्रकार के कामों के लिए प्रयोग किया जाता है. हाई डेफिनिशन वाले सिनेमा बनाए जा रहे हैं, उनसे सुपर तकनीक के लिए महासंगणक कंप्यूटर का इस्‍तेमाल किया जाता है, जिससे कई प्रकार के दिखाए गए चित्र को अलग अलग प्रकार से परिवर्तित करके दिखाया जाता है. 

 

 

 

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment