SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें? SEO Friendly Blog लिखना सीखें

SEO Friendly blog post Kaise likhe ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें। एक ब्लॉगर के लिए SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट लिखना बहुत ही जरूरी है. क्योंकि गूगल या अन्य सर्च इंजन वेबसाइट में टॉप में रैंक करने के लिए SEO-friendly ब्लॉग पोस्ट बहुत ही जरूरी है। यदि आप SEO फ्रेंडली ब्‍लॉग पोस्ट नहीं लिखते हैं तो आपका Content कितना भी बेहतर हो वह गूगल में रैंक नहीं करेगा।

इसलिए SEO-friendly ब्‍लॉग पोस्ट का वैल्यू बहुत ही ज्यादा है जैसा कि ब्लॉगिंग के क्षेत्र में कहा गया है कि Content is king यह तो सही है लेकिन इसके साथ-साथ Content SEO friendly भी होना जरूरी हैं।

यदि आप जानना चाहते हैं कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन post कैसे लिखते हैं जिससे आपका ब्लॉग पोस्ट गूगल में बहुत जल्द रैंक करें तो इस लेख में आपको SEO-friendly ब्‍लॉग पोस्ट लिखने के जो भी बेहतरीन टिप्स एंड ट्रिक है उसके बारे में जानकारी दी गई है।

SEO Friendly blog post Kaise likhe

एक ब्लॉग वेबसाइट को पूरी तरह से ऑप्टिमाइज कर लेने के बाद सबसे जरूरी जो प्रमुख चीज है वह वेबसाइट का कंटेंट होता है जिसके आधार पर वेबसाइट का ब्लॉग पोस्ट रैंक करता है। आप जो भी Content लिख रहे हैं 

उस Content को एसीओ ऑप्टिमाइज करके लिखेंगे तो वह ब्‍लॉग पोस्ट 24 घंटा के अंदर ही गूगल के टॉप पेज पर आ सकता है। आइए नीचे SEO friendly ब्लॉग पोस्ट लिखने के जो भी इंपॉर्टेंट पॉइंट्स है उसको स्टेप by स्टेप सीखते हैं।

SEO Friendly blog post Kaise likhe

Keyword Research

ब्लॉगिंग के क्षेत्र में जब आप एक ब्लॉग लिखते हैं उसके पहले कीवर्ड के बारे में जानकारी प्राप्त करना जरूरी है क्योंकि एक कीवर्ड से ही एक पूरा Content तैयार होता है इसलिए जब भी आप किसी भी पोस्ट को लिखने के बारे में सोचें उससे पहले जिस टॉपिक पर आप पोस्ट लिखना चाहते हैं 

उस टॉपिक के बारे में कीवर्ड रिसर्च टूल के माध्यम से उस कीवर्ड पर कितना डिफिकल्टी है सर्च volume क्या है सीपीसी क्या है इन तीन प्रमुख चीजों के बारे में जरूर जानकारी प्राप्त करें उसके बाद ही उस कीबर्ड पर कंटेंट लिखना शुरू करें।

शुरुआत के दिनों में जब ब्लॉगिंग के क्षेत्र में शुरुआत करते हैं उस समय वैसे कीवर्ड पर काम करना चाहिए जिस कीवर्ड पर बहुत ही कम डिफिकल्टी है 

उदाहरण के लिए 1 से 20 तक के बीच में जिस कीवर्ड का डिफिकल्टी है वैसे ही कीवर्ड पर आपको ब्‍लॉग पोस्ट लिखना चाहिए।

धीरे-धीरे जब आपका ब्लॉग वेबसाइट पुराना होगा उस पर डोमिनो authority इनक्रीस होगा उसके बाद उस ब्लॉग पोस्ट पर आप वैसे कीवर्ड को भी टारगेट कर सकते हैं जिसका डिफिकल्टी मीडियम में हो।

ब्‍लॉग पोस्ट लिखना शुरू करें

जब कीवर्ड रिसर्च की प्रक्रिया को आप पूरी कर लेते हैं उसके बाद उस कीवर्ड पर एक बेहतर ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं ब्लॉग पोस्ट लिखते समय आपको जिस keyword पर ब्‍लॉग पोस्ट लिखना है उस कीवर्ड को टारगेट करते हुए ब्‍लॉग पोस्ट लिखना है।

कीवर्ड टारगेट करने का मतलब यह नहीं है कि आप उस कीवर्ड को बार-बार अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखें। 

उदाहरण के लिए यदि आप कंप्यूटर क्या है पोस्ट लिखते हैं तो उसमें कंप्यूटर क्या है शब्द को दो से तीन बार से ज्यादा नहीं लिखें।

कंप्यूटर शब्द को आप जरूरत के हिसाब से बार-बार लिख सकते हैं लेकिन कंप्यूटर शब्‍द को भी एक ब्लॉग पोस्ट में जितने शब्‍द का लेख हैं उसका दो परसेंट ही Computer शब्द का उपयोग करें।

Focus Keyword

ब्लॉग पोस्ट के शुरुआत के 150 शब्दों के भीतर ही आप अपने फोकस कीवर्ड का एक बार उपयोग करें।

जिस कीवर्ड पर भी आप ब्‍लॉग पोस्ट लिख रहे हैं उस कीवर्ड का उपयोग आपको शुरुआत के पहले पैराग्राफ में 150 शब्दों के बीच में या शुरू में जरूर उपयोग करना है।

Second Heading

एक ब्लॉग पोस्ट में दूसरा जो हेडिंग हम लोग अपने Content के अंदर देते हैं उस हेडिंग में आपको अपना फोकस कीवर्ड को पूरी तरह से लिखना है जैसे अभी आपने एक ब्लॉग पोस्ट कंप्यूटर क्या है पर लिखा है तो आप उस कीवर्ड को हेडिंग में ठीक इसी प्रकार से लिखेंगे।

Heading का उपयोग करें

एक ब्लॉग पोस्ट को लिखने के बाद उसको पूरी तरीके से अरेंज करना भी जरूरी है इसलिए जब आप ब्लॉग पोस्ट को छोटे छोटे पैराग्राफ में डिवाइड कर लेते हैं उसके बाद हर एक पैराग्राफ का हेडिंग दें जिसके लिए आप Heading 1, Heading 2, Heading3 का उपयोग कर सकते हैं।

पैराग्राफ को छोटा रखें

एक ब्लॉग पोस्ट के अंदर कई पैराग्राफ होते हैं लेकिन आपको यह समझना होगा कि एक पैराग्राफ में कितना लाइन या शब्द रखें। ब्‍लॉग पोस्ट के लिए एक पैराग्राफ के अंदर 200 से लेकर 300 शब्द होने चाहिए 

इससे ज्यादा शब्द का एक पैराग्राफ नहीं रखना है। पैराग्राफ को जितना छोटा रखेंगे उतना ही एसीओ के हिसाब से भी बेहतर है तथा रीडर्स के लिए भी अच्छा है।

Similar keyword का उपयोग करें

जिस कीवर्ड पर टारगेट करके आप पोस्ट लिख रहे हैं उसी कीवर्ड से संबंधित जो सिमिलर शब्द हैं उसका ब्‍लॉग पोस्ट में उपयोग जरूर करें क्योंकि जब एक कीवर्ड पर आप ब्‍लॉग पोस्ट लिखते हैं तो उसमें बहुत सारे सिमिलर कीवर्ड का भी उपयोग किया जाता है 

जिससे एक कीवर्ड के साथ-साथ आपका जो सिमिलर कीवर्ड है वह भी गूगल में रैंक करता है और इससे भी आपका Traffic इनक्रीस होता है साथ ही साथ सिमिलर कीवर्ड का उपयोग करने से एक ब्‍लॉग पोस्ट पूरी तरह से SEO-friendly भी बनता है इसलिए अधिक से अधिक जितना हो सके सिमिलर कीवर्ड का भी ब्‍लॉग पोस्ट के अंदर उपयोग करें।

कीवर्ड को बोल्ड करें

जो भी आपका फोकस कीवर्ड है या फोकस कीवर्ड से संबंधित जितने भी कीवर्ड हैं उसको यदि आप बोर्ड या Italic करते हैं तो इससे आपके ब्लॉग पोस्ट का जो भी सिमिलर कीवर्ड है वह भी गूगल के नजर में आता है और गूगल उसको रैंक करने का प्रयास करता है। 

पोस्ट के अंदर कुछ महत्वपूर्ण शब्द को जो कि आपके कीवर्ड से संबंधित है उसको बोल्ड करें। इसका मतलब यह नहीं है कि आप एक ब्लॉग पोस्ट में बहुत सारे शब्दों को बोल्ड कर दें इससे आपका ब्लॉग पोस्ट का बनावट थोड़ा अच्छा नहीं लगेगा इसलिए अपने ब्लॉग पोस्ट में है कम से कम चार पांच संबंधित जो कीवर्ड है उसी को बोल्ड करें।

Image Alt Tag का उपयोग करें

एक ब्लॉग पोस्ट के अंदर इमेज का बहुत ही ज्यादा महत्व है कह सकते हैं कि जितना एक ब्‍लॉग पोस्ट में लिखे हुए शब्द का वैल्यू है उतना ही भैलू एक इमेज का भी है इसलिए अपने ब्लॉग पोस्ट में एक बेहतर इमेज का उपयोग जरूर करें।

यदि हो सके तो आप स्वयं एक इमेज बनाएं वह ईमेज पूरी तरह से यूनिक होगा। क्योंकि जो इमेज आप गूगल से या किसी वेबसाइट से डाउनलोड करते हैं वह इमेज पहले भी कहीं ना कहीं किसी न किसी वेबसाइट के द्वारा उपयोग जरूर किया गया होगा.

इससे वह इमेज पूरी तरह से यूनिक नहीं होता है इसलिए जो आप इमेज का उपयोग अपने ब्लॉग पोस्ट में करने वाले है यदि आप स्वयं बनाते हैं तो वह इमेज भी यूनिक होता है और गूगल को यूनीक कंटेंट यूनिक इमेज बहुत ही पसंद है।

इसलिए आपने ब्‍लॉग पोस्ट में एक या दो बेहतर इमेज का उपयोग करें और उस इमेज को SEO फ्रेंडली बनाने के लिए Alt Tag का उपयोग जरूर करें।

External Link

एक ब्लॉग पोस्ट के अंदर जितने भी Content लिखे जाते हैं उस Content ka authority तभी इनक्रीस होता है जब उसमें एक बेहतर एक्सटर्नल लिंक का उपयोग किया जाता है इसलिए जब आप एक ब्लॉग पोस्ट लिख लेते हैं और उसका SEO करते हैं 

उस समय वैसे किसी दूसरे वेबसाइट का Do फॉलो एक्सटर्नल लिंक अपने ब्‍लॉग पोस्ट में लगाए। जिसका डोमिनो authority बेहतर हो उस वेबसाइट का ऑर्गेनिक ट्रैफिक बेहतर हो तथा वह वेबसाइट गूगल के नजर में बहुत ही बेहतर हो वैसे किसी भी बेहतर वेबसाइट का लिंक अपने ब्लॉग पोस्ट में जरूर लगाएं।

एक्सटर्नल लिंक का उपयोग करते समय एक बात का ध्यान रखना है कि जो भी आप Content लिखे हैं उसी कॉन्टेंट से रिलेटेड Content या सिमिलर कंटेंट का ही एक्सटर्नल लिंक अपने ब्लॉग पोस्ट में उपयोग करें।

Do फॉलो एक्सटर्नल लिंक से आपके ब्लॉग पोस्ट का Page authority इनक्रीस होता है तथा गूगल को इससे ट्रस्ट प्रदान होता है।

एक्सटर्नल लिंक को अपने ब्लॉग पोस्ट के अंदर किसी सिमिलर कीवर्ड पर ही लगाना चाहिए एक्सटर्नल लिंक वैसे किसी keyword पर लगाना चाहिए जो कि एक शब्द या ज्यादा से ज्यादा 3 शब्दों का हैं। उस पर एक्सटर्नल लिंक लगा सकते हैं।

उदाहरण के लिए यदि एक ब्‍लॉग पोस्ट कंप्यूटर क्या है के ऊपर लिखा है तो आप एक्सटर्नल लिंक को कंप्यूटर शब्द पर लगा सकते हैं।

Internal Link

एक्सटर्नल लिंक के साथ-साथ एक ब्लॉग पोस्ट को गूगल में रैंक कराने के लिए तथा उसका एसीओ फ्रेंडली पोस्ट को बनाने के लिए इंटरनल लिंक का भी भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है 

इसलिए आप अपने ब्लॉग पोस्ट के अंदर जो भी similar post है उसका लिंक जरूर लगाएं। एक ब्लॉग पोस्ट के अंदर कम से कम 5 से 10 इंटरनल लिंकिंग का उपयोग जरूर करें।

एक महत्वपूर्ण बात जो भी आप ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं उस ब्लॉग पोस्ट का लिंक भी कम से कम आपके दूसरे अलग-अलग 5 से 10 पोस्ट में भी लिंक होना बहुत ही जरूरी है। गूगल के लिए या एक बहुत ही महत्वपूर्ण एवं सीक्रेट्स रैंकिंग फेक्टर है जिसको कोई नहीं बताता है।

Main Title

ब्लॉग पोस्ट के सबसे ऊपर में ब्लॉग पोस्ट का पहला टाइटल होता है जिसमें आप अपने ब्लॉग पोस्ट के जो फोकस keyword है उसको लिखें तथा वैसे कुछ शब्दों को वहां पर लिखे जिससे आपका ब्लॉग पोस्ट का हेडिंग पूरी तरह से बेहतर एवं clickable बन जाए। जिससे आपके ब्लॉग पोस्ट का गूगल में सीटीआर इंक्रीज होगा।

SEO Title

फोकस कीवर्ड को एसीओ टाइटल में सेम टू सेम लिखना है SEO टाइटल में आपको शुरुआत में कीवर्ड में हेरफेर नहीं करना है अपना प्रमुख कीवर्ड लिखने के बाद यदि उसमें space है तो आप सिमिलर कीवर्ड को भी जरूर ऐड करें।

Permalink

एक ब्लॉग पोस्ट का पहचान permalink से होता है गूगल सबसे पहले Permalink को read करता है 

इसलिए ब्‍लॉग पोस्‍ट का permalink SEO-friendly होना जरूरी है जैसे एक पोस्ट कंप्यूटर क्या है के बारे में लिखते हैं तो उसका permalink आप इस तरह से लिख सकते हैं जैसे gyanitechraviji.com/computer-kya-hai-in-hindi.

Meta Description

गूगल में जब कोई भी यूजर सर्च करता है तो वहां पर टाइटल के साथ नीचे मेटा डिस्क्रिप्शन दिखाई देता है इसलिए मेटा डिस्क्रिप्शन को भी यूनिक तरीके से बेहतर शब्दों के साथ सजाएं मेटा डिस्क्रिप्शन में अपने फोकस कीवर्ड का एक बार उपयोग जरूर करें।

हाई क्वालिटी कंटेंट लिखें

एक ब्लॉग पोस्ट गूगल में बहुत जल्द रैंक करने के लिए हाई क्वालिटी Content लिखना बहुत ही जरूरी है हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने का मतलब यह है कि जब किसी भी कीवर्ड पर काम करते हैं 

उसके पहले आप गूगल में जाकर के उस कीवर्ड को सर्च करें और पहले से जो भी वेबसाइट पर पोस्ट लिखा गया है उसको जरूर पढ़ें पढ़ने के बाद हो सकता है तो उससे बेहतर क्वालिटी कंटेंट लिखने का प्रयास करें तभी आप गूगल में रैंक कर सकते हैं।

बेहतरीन टिप्स

SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट लिखने के साथ-साथ गूगल में रैंक करने के लिए सबसे जरूरी है कि आप इस लेख में बताया गए सभी पॉइंट को बेहतर तरीके से अरेंज करें और नियमित रूप से ब्‍लॉग पोस्ट को लिखते रहें इस लेख में बताए गए जो भी जरूरी पॉइंट्स है उस पर ध्यान दें और इस तरह से एक ब्लॉग पोस्ट को तैयार करें।

FAQ

SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट लिखना जरूरी है क्या

SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट लिखना जरूरी ही नहीं बहुत जरूरी है क्योंकि सर्च इंजन आपके ब्‍लॉग पोस्ट को तभी समझता है जब वह पूरी तरह से एसईओ फ्रेंडली ऑप्टिमाइज हो।

SEO-friendly और यूजर फ्रेंडली Blog पोस्ट में क्या अंतर है

एसीओ फ्रेंडली वैसा पोस्ट होता है जोकि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के हिसाब से लिखा गया है जबकि यूजर फ्रेंडली ऐसा ब्लॉग पोस्ट होता है जो कि यूजर को ध्यान में रखते हुए लिखा गया हो।

यूजर फ्रेंडली पोस्ट के साथ SEO-friendly पोस्ट का मिश्रण होना जरूरी है तभी एक ब्‍लॉग पोस्ट गूगल में रैंक करेगा।

सारांश

SEO Friendly blog post Kaise likhe इस ब्लॉग पोस्ट में दी गई जानकारी एक नए ब्लॉगर के साथ-साथ जो भी SEO-friendly ब्‍लॉग पोस्ट से संबंधित जानकारी सर्च कर रहे हैं उनके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इस लेख में सर्च इंजन optimized post kaise लिखते हैं के बारे में बहुत ही बेहतर जानकारी दी गई है 

इसलिए यदि इस लेख को अच्छी तरह से पढ़ कर और उसको इंप्लीमेंट करते हैं तो आशा है कि आप भी अपने ब्लॉग पोस्ट को बेहतर तरीके से rank कर पाएंगे। 

Leave a Comment