जीवन एक यात्रा, जीवन का महत्व और उद्देश्य 2022

पृथ्वी पर भगवान के द्वारा जितने भी जीव बनाए गए हैं उनमें मनुष्य का जीवन सबसे श्रेष्ठ होता है तो मनुष्य के जीवन के यात्रा Jivan ek yatra, Life a journey को जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें.

वैसे तो इस संसार में जितने भी प्राणी है जैसे कि पशु पक्षी कीड़े मकोड़े पेड़ पौधे सभी जीवन जीते हैं खाना खाते हैं पानी पीते हैं लेकिन जीवन का जो सही महत्व उद्देश्य और लक्ष्य होता है 

वह मनुष्य ही जान पाते हैं तो आइए इस लेख में जीवन के महत्व और उद्देश्य आदि के बारे में विस्तार से जानते हैं. विज्ञान क्या है परिभाषा 

jivan ek yatra

मनुष्य का jivan एक यात्रा की तरह है जब तक मनुष्य का मृत्यु नहीं हो जाता अंत नहीं हो जाता तब तक जीवन एक यात्रा की तरह चलता ही रहता है. जीवन जीने के तो बहुत सारे रास्ते हैं लेकिन उस रास्ते पर चलने के लिए सही मार्ग खुद ही ढूंढना पड़ता है. 

इतिहास में देखा गया है कि जो व्यक्ति महान और सफल हुए हैं वह अपने मेहनत और समय का सदुपयोग अपने ज्ञान का सदुपयोग करने के बाद ही हुए हैं. चाहे कोई धर्म शास्त्र हो विज्ञान का क्षेत्र हो चिकित्सा का क्षेत्र हो साहित्य कला खेलकूद का क्षेत्रों हो किसी भी क्षेत्र में अपने ज्ञान का सदुपयोग करने से उसमें और भी वृद्धि होती हैं.

jivan ek yatra

मानव jivan yatra में सभी मानव एक यात्री है हर कोई जन्म लेता है फिर वह बड़ा होकर एक संतान को जन्म देता है फिर बूढ़ा होता हैं और फिर उसका मृत्‍यू हो जाता हैं इस तरह उक व्‍यक्ति के जीवन यात्रा का अंत होता हैं.

जीवन में कई तरह के जात पात धर्म संप्रदाय के लड़ाई लड़ते रहते हैं पैसों के आगे पीछे दौड़ते रहते हैं हर किसी से अपने आपको श्रेष्ठ मानते हैं अपने आप को दूसरे व्यक्तियों से ज्यादा ज्ञानवान ज्यादा धार्मिक समझते हैं लेकिन जब उनका अंत समय आता है

उस समय वह हर चीज हर ज्ञान पैसा धन दौलत यहीं पर छोड़ कर चले जाते हैं. उनके साथ कुछ भी नहीं जाता है सिर्फ उनका कर्म ही साथ जाता हैं जो व्यक्ति जैसा कर्म करेगा उसे उसी के अनुरूप फल मिलेगा. 

मनुष्य के जीवन में पांच तथ्य महत्वपूर्ण है मनुष्य का जन्म, अच्छा नींद, शरीर का स्वस्थ रहना, किसी भी प्राणी से निस्वार्थ प्रेम करना और अंत समय में एक शांतिपूर्ण मृत्यु आना.

कहा जाता है कि जब कोई प्यार खुशियां और धन बांटता है तो वह और दुगना हो जाता है घटता नहीं है. किसी भी मनुष्य के रिश्तो में अगर समझौता होता है तो वह जीवन में कभी भी खुश नहीं रह सकता है क्योंकि वह जीवन हमेशा सामंजस्य से ही व्यतीत होता है.

jivan का उद्देश्य

jivan को सुखी बनाने के लिए संयम और विश्‍वास बहुत जरूरी हैं भगवान पर विश्‍वास रखकर कोई कार्य करने से सफल होता हैं संयम अपने आप पर रखना चाहिए

किसी व्यक्ति के पास ज्ञान है योग्यता है अनुभव है तो किसी भी समस्या का समाधान बहुत ही आसानी से कर सकता है दूसरे व्यक्ति को उसकी गलती पर क्षमा मांगने पर क्षमा कर देना मानव का मानवीय गुण होता है.

हर किसी के जीवन में जीवन जीने का एक उद्देश्य होना चाहिए तभी व जीवन सफल हो सकता है  क्योंकि जीवन तो पशु पक्षी कीड़े मकोड़े पेड़ पौधे सभी जीते हैं लेकिन उनके जीवन में कोई उद्देश्य नहीं होता है

किसी के भी jivan में रोजगार जीविकोपार्जन का एक साधन होता है लेकिन जीवन में और भी कई तरह के संघर्ष हमेशा रहते हैं जीवन में सफल होने के लिए महान बनने के लिए हमेशा संघर्ष करना पड़ता है.

सुख समृद्धि तो हर कोई चाहता है लेकिन उसके लिए अपने जीवन में एक उद्देश्य के द्वारा कार्य करना चाहिए तभी सफलता मिल सकती है. सफल जीवन में व्यापार धन प्राप्ति अच्छा रोजगार सफलता का साधन होता है.

अपने जीवन पर विश्वास रख कर अपने आप पर विश्वास रख कर के कोई कार्य करने से संपूर्ण कार्य हमेशा सफल होता है जीवन का उद्देश्य रखना चाहिए कि आलस्य को छोड़ दें

किसी पर भी वहम करना छोड़ दें अपने आप में आत्मविश्वास बनाए रखें कायरता नहीं करें हिम्मत करके बहादुर बनके आत्मविश्वास के साथ किसी भी तरह का कार्य करें तो आदमी अपने जीवन में एक न एक दिन जरुर सफल होगा.

jivan का महत्व

हर किसी के jivan में सुख दुख आता जाता रहता है यही जीवन का एक यात्रा है किसी के भी जीवन में हमेशा सुख नहीं रह सकता या हमेशा दुख नहीं रहता. जिस तरह रात के बाद सुबह होता है

अंधेरा के बाद उजाला होता है सूर्य शाम में अस्त होकर सुबह में निकलते हैं उसी तरह जीवन के इस यात्रा में भी सुख और दुख दोनों समान रहते हैं.लेकिन जीवन का एक महत्व होता है मानव जीवन बहुत ही बहुमूल्य होता है जीवन का महत्व तभी समझ में आता है

जब कोई कहीं जा रहा है दुर्घटना हो गया किसी बड़ी बीमारी के कारण मरते मरते बच जाता है तब उसे अपने जीवन का मूल्य समझ में आता है दूसरों से बैर दूसरों से घृणा दूसरों से अपने आप को श्रेष्ठ मानने से जीवन में कभी सफलता नहीं मिल सकता.

खुद को खुश रखना चाहिए दूसरों को भी खुश रखना चाहिए जीवन में जब ज्ञान प्राप्त करते हैं तो उस ज्ञान का उपयोग अच्छे तरीके से करने से ज्ञान और भी बढ़ता जाता है विश्व में कर्म सबसे प्रधान हैं कर्म से ही जीवन में लाभ प्राप्त होता है.

ये भी पढ़े

सारांश

जीवन एक यात्रा मनुष्य का jivan ऐसा माना जाता है कि कई योनियों में भटकने के बाद प्राप्त होता है इसलिए मनुष्य के जीवन को विषय भोगों में दुनिया के भोग विलास से दूर रख कर के अपने जीवन के लक्ष्य को जीवन के महत्व को समझना आवश्यक होता है.

इस लेख में jivan ek yatra के बारे में जीवन का महत्व jivan का उद्देश्य आदि के बारे में पूरी जानकारी दी गई है फिर भी अगर इस लेख से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट करके जरूर पूछें और यह जानकारी अपने दोस्‍त मित्रों और रिस्‍तेदारों को शेयर जरूर करें.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here