आईआईटी क्या हैं आईआईटी का फुल फॉर्म, योग्यता व फायदें

IIT kya hai आईआईटी क्या होता हैं What is iit in hindi आईआईटी कॉलेज में पढ़ने के लिए स्टूडेंट की योग्यता क्या होनी चाहिए. भारत में आईआईटी के कितने कॉलेज हैं. आईआईटी से पढ़ने का फायदा. आईआईटी का फुल फॉर्म क्या होता हैं.

आईआईटी का तैयारी कैसे किया जाता हैं.आजकल कई ऐसे छात्र हैं जो कि इंजीनियर बनना चाहते हैं इंजीनियर बनने के बाद अच्छे और सम्मानित जॉब करके अपना नाम रौशन करना चाहते हैं.

इस लेख में IIT kya hai, आईआईटी एग्जाम देने के लिए योग्यता. आईआईटी का कोर्स कितने साल का होता हैं. आईआईटी करने के लिए क्या उम्र होनी चाहिए. ऑनलाइन पढ़ाई कैसे करें

What is IIT in hindi आईआईटी क्या हैं

आईआईटी एक इंजीनियरिंग का सार्वजनिक संस्थान होता हैं जिसका हर साल परीक्षा होता हैं और उसके माध्यम से कई छात्र उच्चस्तर के इंजीनियर कॉलेज में सफल छात्र दाखिला करा पाते हैंं।

आईआईटी एक ऐसा प्रतिष्ठित संस्थान हैं जिसमें अपनी पढ़ाई पूरा करके बहुत ही कुशल और काबिल इंजीनियर बनने के बाद कई प्रतिष्ठित और बड़े-बड़े कंपनियों में जॉब करते हैं.

आईआईटी का कोर्स एक तरह से ग्रेजुएशन के तरह ही होता हैं लेकिन इसमें इंजीनियरिंग का पढ़ाई हाता हैंं जिसको B.Tech और B.E. के नाम से जाना जाता हैं जो की 12वीं पास करने के बाद कोई भी छात्र एग्‍जाम पास करके कर सकता हैं.

iit kya hai

IIT ka full form kya hai

आईआईटी एक ऐसा प्रतिष्ठित संस्थान हैं जिसमें की लाखों छात्र हर साल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करके देश के जाने माने कंपनियों में अच्छे पैकेज पर नौकरी करते हैं. कभी कभी भारत के बाहर विदेशों में भी अच्छे जॉब करके देश का नाम रोशन करते हैं. आईआईटी का फुल फॉर्म इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी होता हैं.

  • I:-Indian
  • I:-Institute of
  • T:-Technology

IIT को हिंदी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहा जाता हैं.

  • I:-Indian:- भारतीय
  • I:-Institute of:- प्रौद्योगिकी
  • T:-Technology:- संस्थान

सबसे पहले भारत में आईआईटी संस्थान 1951 में खड़कपुर में स्थापित किया गया था. लेकिन वर्तमान समय में कई आईआईटी इंस्टिट्यूट स्थापित हो गए हैं. आईआईटी भारत में जितने भी शिक्षण संस्थान हैं जो कि उच्च शिक्षा छात्रों को प्राप्त करवाते हैं उनमें से सबसे मुख्य संस्थानों में एक माना जाता हैं. 12वीं के बाद साइंस स्‍टूडेंट क्या करें

आईआईटी कब किया जाता हैं 

अगर किसी छात्र को आईआईटी से इंजीनियर, वैज्ञानिक, टेक्नोलॉजिस्ट रिसर्च आदि बनना हैं तो उसके लिए 10th के परीक्षा के बाद ही अपने कोर्स के लिए मेहनत करना पड़ता हैं. आईआईटी के परीक्षा 12वीं पास करने के बाद दिया जाता हैं.

आईआईटी की परीक्षा बहुत ही हार्ड लेवल का परीक्षा होता हैं. इसमें हर छात्र असानी से पास नहीं हो पाते हैं इसलिए इसके लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत करना पड़ता हैं.

इसमे केमिस्ट्री फिजिक्स मैथ की पढ़ाई बहुत ही मन लगाकर और अच्छे से करना पड़ता हैं तभी आईआईटी की एंट्रेंस एग्जाम किसी भी छात्र के द्वारा पास किया जा सकता हैं.

आईआईटी कैसे करें

IIT करने के लिए 12वीं पास होने के बाद सबसे पहले एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता हैं. एंट्रेंस एग्जाम में एंट्री लेने के लिए किसी भी स्टूडेंट को बहुत ही ज्यादा मेहनत करना पड़ता हैं क्योंकि आईआईटी संस्थान इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए सबसे बेस्ट संस्थान माना जाता हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले आईआईटी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए जेईई मेंस क्लियर करना पड़ता हैं.
  • आईआईटी में एडमिशन लेने के लिए दो तरह के एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता हैं
  • जैसे कि पहले जेईई मेंस क्लियर करना पड़ता हैं
  • उसमें लगभग ढाई लाख स्टूडेंट टॉप में आते हैं तो उन्हें फिर जेईई एडवांस की परीक्षा देनी पड़ती हैं
  • उसमें जो छात्र टॉप एक लाख के लिस्ट में आते हैं
  • तो उसके बाद ही उनका एडमिशन आईआईटी के किसी भी कॉलेज में हो सकता हैं.

आईआईटी कॉलेज में अलग-अलग तरह के कोर्स होते हैं जैसे कि किसी छात्र को सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना हैं किसी को सिविल इंजीनियर बनना हैं किसी को मैकेनिकल इंजीनियर बनना हैं.

किसी को कंप्यूटर इंजीनियर बनना हैं तो उनके लिए अलग अलग ब्रांच हैं और यह निर्भर करता हैं उनके रैंक पर जिस स्टूडेंट को जैसा रैंक आएगा उसी के अनुसार उन्हें इंजीनियरिंग में चाहे बी टेक हो या सॉफ्टवेयर इंजीनियर हो चाहे सिविल इंजीनियर हो में एडमिशन मिल सकता हैं.

आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम कौन-कौन हैं 

IIT में एडमिशन लेने के लिए दो एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता हैं

  • पहला जेईई मेंस
  • दूसरा जेईई एडवांस होता हैं.

Jee मेंस :- Jee मेंस एंट्रेंस एग्जाम का फुल फॉर्म जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम होता हैं यह एक बहुत ही बड़ा नेशनल लेवल का एग्जाम होता हैं इसको पास करने के बाद किसी भी छात्र को आईआईटी एनआईटी सीएफटीआई जैसे बड़े कॉलेज में प्रवेश पा सकते हैं.

JEE Main

जेईई एडवांस :- जेईई एडवांस एंट्रेंस एग्जाम, आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम में दूसरा एग्जाम होता हैं इसी एग्जाम को पास करने के बाद स्टूडेंट को फाइनली आईआईटी एनआईटी जैसे इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन की अनुमति मिलता हैं.

आईआईटी के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए

आईआईटी में एडमिशन लेने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी उनका 12 वीं का मार्क्स हैं. किसी भी छात्र को अगर आईआईटी में एडमिशन लेना हैं तो उसके लिए 12 वीं में 75 परसेंट मार्क्स होना बहुत ही जरूरी हैं.

12वीं में छात्र को केमिस्ट्री, बायोलॉजी, फिजिक्स, मैथमेटिक्स का सब्जेक्ट होना बहुत ही आवश्यक हैं तो ही वह छात्र आईआईटी में एडमिशन ले सकता हैं.

आईआईटी का कोर्स कितने साल का होता हैं 

IIT का कोर्स में अलग अलग ब्रांचेज हैं उनमें अलग-अलग नियम और अलग-अलग कानून हैं वैसे तो किसी भी इंजीनियरिंग के कोर्स 4 साल का होता हैं लेकिन इसमें भी कई कोर्सेज हैं जिनमें कि समय का निर्धारण अलग अलग होता जैसे कि

  • एमटेक 2 साल का कोर्स होता हैं.
  • बीटेक यानी कि बैचलर डिग्री 4 साल का कोर्स होता हैं.
  • अगर किसी छात्र को सॉफ्टवेयर इंजीनियर सिविल इंजीनियर टेक्निकल इंजीनियरिंग आदि जैसे ब्रांच से इंजीनियरिंग करना हैं तो उसके लिए 4 साल का समय मिलता हैं लेकिन अगर किसी छात्र को इंजीनियरिंग कोर्स बैचलर के साथ-साथ मास्टर कोर्स भी करना हैं तो उसको 6 साल लग जाते हैं.

आईआईटी करने के फायदे 

आईआईटी एक बहुत ही उच्च लेवल का प्रतिष्ठित संस्थान हैं. जिससे कि कई छात्र हर साल इंजीनियर वैज्ञानिक टेक्नोलॉजिस्ट आदि बन कर निकलते हैं. जिनके फायदे नीचे बताया गया हैं.

  • IIT करने के बाद छात्रों को बहुत सारी सुविधाएं मिलने लगती हैं उन्हें पढ़ाई करने के लिए एक सेपरेट लैब मिलता हैं उन्हें प्राइवेट कंप्यूटर सेंटर की सुविधा मिलने लगती हैं.
  • आईआईटी के बाद किसी भी डॉक्टर के यहां फ्री में कंसल्टेशन की सुविधा मिलती हैं.
  • सबसे जो जरूरी बात हैं आईआईटी करने के बाद उस व्यक्ति को किसी भी अच्छे कंपनी में अच्छे पोस्ट पर जॉब मिल जाता हैं कभी-कभी तो ऐसा होता हैं कि देश से बाहर विदेश में भी अच्छी नौकरी मिलती हैं.
  • जो छात्र पढ़ने में अच्छे होते हैं ज्यादा नंबर मिलता हैं उन्हें आईआईटी संस्थान से स्कॉलरशिप भी मिलता हैं और उन्हें जो भी फिनेंशियल हेल्प की जरूरत होती हैं उन्हें आईआईटी संस्थान के तरफ से मिल जाती हैं.
  • आईआईटी संस्थान में जो बच्चे पढ़ते हैं उन्हें भारत के जो सबसे बेस्ट प्रोफेसर होते हैं उनसे पढ़ने का मौका मिलता हैं उन्हें हाई क्वालिटी एजुकेशन मिलने लगता हैं जो कि उनके लिए आगे चलकर बहुत ही बेहतर होता हैं.

भारत में आईआईटी कॉलेज कौन कौन हैं

भारत में सबसे पहले 1951 में भारत सरकार ने खड़कपुर में आईआईटी संस्थान का स्थापना किया था लेकिन उसके बाद अभी तक 23 आईआईटी संस्थान भारत के कई राज्य में स्थापित हो गया हैं.

  • इंडियन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी खड़कपुर
  • आईआईटी भुवनेश्वर
  • आईआईटी इंदौर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मुंबई
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी हैंदराबाद
  • आईआईटी गांधीनगर
  • आईआईटी दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ कानपुर
  • IIT Madras
  • IIT Jodhpur
  • Indian institute of technology Mandi
  • आईआईटी पटना
  • आईआईटी धनबाद
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी गुवाहाटी
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रुड़की
  • आईआईटी वाराणसी
  • आईआईटी भिलाई
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी जम्मू
  • IIT Tirupati
  • IIT Goa
  • आईआईटी धारवाड़.

सारांश

आईआईटी करना किसी भी छात्र के लिए बहुत ही सम्माननीय और लोगों के बीच एक बेहतर व्यक्ति बनने का माध्‍यम हैं हर स्टूडेंट का आईआईटी करना एक सपना होता हैं तो उसके लिए दिल से और दिमाग से बहुत ही मेहनत करना पड़ता हैं तभी कोई भी आईआईटी करके इंजीनियर बन सकता हैं.

इस लेख में iit kya hai आईआईटी क्या होता हैं आईआईटी का फुल फॉर्म क्या होता हैं भारत में आईआईटी के कितने कॉलेज हैं आईआईटी करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए आईआईटी कब किया जाता हैं.

यह कितने साल का कोर्स होता हैं इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई हैं यह लेख आप लोगों को कैसा लगा कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्त मित्रों को शेयर जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment