हार्डवेयर क्‍या हैंं प्रकार उपयोग एवं महत्वपूर्ण डिवाईस

हार्डवेयर क्या है Hardware kya hai हार्डवेयर किसे कहते हैं कंप्यूटर में हार्डवेयर पार्ट्स कौन-कौन से होते हैं कंप्यूटर के इंटरनल हार्डवेयर पार्ट्स क्या है कंप्यूटर के एक्सटर्नल हार्डवेयर पार्ट्स क्या है. कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में यदि आप जानना चाहते हैं हार्डवेयर के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं.

तो इस लेख में आपको कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में पूरी जानकारी नीचे दी गई है. कंप्यूटर का निर्माण ही हार्डवेयर से हुआ है क्योंकि बिना Hardware का कंप्यूटर का कोई आकार या ढांचा ही नहीं हो सकता है जब कंप्यूटर शब्द का निर्माण या उत्पत्ति होता है तो हार्डवेयर से ही होता है.

हार्डवेयर के रूप में जब एक कंप्यूटर तैयार होता है उसके बाद उसमें सॉफ्टवेयर डाल कर के और उसको एक पूर्ण कंप्यूटर के रूप में तैयार किया जाता है आइए इस लेख में नीचे विस्तार से हार्डवेयर के बारे में जानते हैं. सॉफ्टवेयर क्‍या हैं

Hardware kya hai

कंप्यूटर हार्डवेयर एक ऐसा फिजिकल डिवाइस फिजिकल पार्ट होता है जिसको हम लोग देख सकते हैं छू सकते हैं वैसे जितने भी कंप्यूटर के पार्ट्स हैं उन सभी पार्ट्स को Hardware के नाम से जाना जाता है.

जैसे कंप्यूटर में डेक्‍स्‍टॉप कीबोर्ड माउस सीपीयू यूपीएस यह कंप्यूटर के एक्सटर्नल हार्डवेयर पार्ट्स है जिसको छू सकते हैं फिजिकली टच कर सकते हैं वैसे कंप्यूटर के और भी जीतने पार्ट्स हैं उन सभी पार्ट्स को कंप्यूटर हार्डवेयर के नाम से जाना जाता है.

hardware kya hai in hindi

आइए एक उदाहरण से समझते हैं

हार्डवेयर जैसे कोई घर है घर का जो पूरा ढांचा है जैसे घर बनाने में ईट सीमेंट बालू या और जितने भी सामग्री का इस्तेमाल किया गया है यह सभी एक उदाहरण के लिए घर का एक मजबूत स्तंभ है.

ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर की भाषा में कंप्यूटर के जो Hardware हैं जैसे कि डेक्सटॉप कीबोर्ड माउस सीपीयू यूपीएस सभी कंप्यूटर के स्तंभ हैं इनके बिना कंप्यूटर का कोई नामोनिशान नहीं हो सकता है.

जैसे मनुष्य का शरीर है जब वह जगा रहता हैं तभी वह बोलता है काम को करता है घूमता है चलता है जब तक वह सोया रहता है तब तक उसके कुछ भी घटनाक्रम का कुछ पता नहीं चलता है ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर के यह जितने भी पार्ट्स हैं.

जब तक यह नहीं हो तब तक कंप्यूटर बोल सकता है ना कंप्यूटर लिख सकता है ना समझ सकता है ना कंप्यूटर किसी भी तरह का कोई कार्य कर सकता है कंप्यूटर का कोई अस्तित्व ही नहीं है क्योंकि कंप्यूटर का पूरा का पूरा अस्तित्व जो है वह हार्डवेयर से ही बना है. कंप्‍यूटर टाईपिंग कैसे सीखें

What is hardware in hindi

कंप्यूटर हार्डवेयर को हम लोग देख सकते हैं. छू सकते हैं. उसे हम लोग Hardware मशीन कहते हैं. कंप्यूटर में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दो काफी महत्वपूर्ण अंग हैं. हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर एक दूसरे के पूरक हैं. हार्डवेयर यदि ना हो तो सॉफ्टवेयर का कोई महत्व नहीं हैं. हार्डवेयर हो लेकिन सॉफ्टवेयर नहीं हो तो भी आप कंप्यूटर में कुछ भी काम नहीं कर सकते हैं.

इसलिए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों को कंप्यूटर में होना बहुत ही जरूरी हैं. जैसे हम लोगों के पास सीपीयू हैं. लेकिन उसमे कोई भी सॉफ्टवेयर हीं नहीं हैं. तो सीपीयू के रहते हुए भी हम लोग उसमें कुछ भी काम नहीं कर सकते हैं.

कंप्यूटर के इंटरनल हार्डवेयर

कंप्यूटर में वैसे डिवाइस जो दिखाई नहीं देते हैं जो कंप्यूटर के अंदर रहते हैं जो सीपीयू के अंदर रहते हैं लैपटॉप के जो अंदर रहते हैं उनका भी कंप्यूटर में बहुत बड़ा योगदान है आइए उनका नाम नीचे हम लोग जानते हैं.

  1. Processor
  2. Ram
  3. Rom
  4. Hard disk drive
  5. Graphics card
  6. SMPS
  7. DVD.

कंप्यूटर के एक्सटर्नल हार्डवेयर

  1. Monitor
  2. CPU
  3. Keyboard
  4. Mouse
  5. Ups
  6. Speaker
  7. Scanner.

हार्डवेयर के प्रकार Types of Hardware

कंप्यूटर में जितने भी Hardware के पार्ट्स होते हैं उनका भी अलग-अलग प्रकार होता है कुछ पैसे पार्ट्स होते हैं जिनको इनपुट देने के लिए उपयोग किया जाता है जबकि कंप्यूटर Hardware में कुछ ऐसे पार्ट्स होते हैं.

जिससे आउटपुट प्राप्त किया जाता है कंप्यूटर Hardware में कुछ वैसे पार्ट्स होते हैं जिसमें डाटा स्टोर करने के लिए स्टोरेज के लिए उपयोग किया जाता है आइए नीचे जानते हैं.

1. Input Device

इनपुट डिवाइस कंप्यूटर Hardware के यह सबसे प्रमुख डिवाइस है क्योंकि जब कंप्यूटर में किसी भी तरह का कोई भी इनपुट दिया जाता है तब ही कंप्यूटर आगे काम को प्रोसेस करता है इसलिए कंप्यूटर में इनपुट डिवाइस का सबसे ज्यादा महत्व है.

कंप्यूटर में इनपुट देने के लिए कीबोर्ड माउस स्‍कैनर या माइक्रोफोन इत्यादि का इस्तेमाल किया जाता है यह सभी कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस हैं जोकि बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य करते हैं.

2. Output Device

आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर हार्डवेयर के दूसरा सबसे महत्वपूर्ण पार्ट्स कंप्यूटर Hardware के आउटपुट डिवाइस होते हैं जिससे जब किसी भी तरह के कोई डाटा को प्रोसेस किया जाता है उसके बाद जो उसका रिजल्ट होता है.

उसको दिखाने के लिए बताने के लिए और आउटपुट डिवाइस की जरूरत होता है कंप्यूटर में आउटपुट डिवाइस के लिए मॉनिटर का इस्तेमाल किया जाता है जिससे जब कोई भी डाटा को प्रोसेस किया जाता है तब उसका जो रिजल्ट आउटपुट होता है वह मॉनिटर पर दिखाई देता है.

कंप्यूटर Hardware में आउटपुट डिवाइस के रूप में मॉनिटर हेडफोन स्पीकर प्रोजेक्टर प्रिंटर इत्यादि का इस्तेमाल किया जाता है.

3. Storage Device

स्टोरेज डिवाइस कंप्यूटर में किसी भी तरह के डाटा को स्टोर करने के लिए चाहे वह परमानेंट स्टोर करना हो या कुछ समय के लिए स्टोर करना हो उसके लिए स्टोरेज डिवाइस की जरूरत होता है कंप्यूटर Hardware में स्टोरेज डिवाइस के रूप में दो तरह के डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है.

3.1 प्रायमरी स्टोरेज डिवाइस

प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस में वैसे डाटा वैसे चीजों को स्टोर किया जाता है जो कुछ समय के लिए ही कंप्यूटर में रखा जाता है जिसका आकार साइज बहुत ही छोटा होता है और वह सभी जो डाटा होते हैं वह प्राथमिक स्टोरेज डिवाइस जिसको अंग्रेजी में प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस के नाम से जानते हैं उसके अंतर्गत होते हैं.

3.2 सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस

सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस हार्ड डिक्स ड्राईव के अंतर्गत डाटा को परमानेंटली स्टोर करने के लिए हार्ड डिक्स ड्राइव सॉलि़ड स्टेट ड्राइव का उपयोग किया जाता है इसमें जो भी डाटा को स्टोर किया जाता हैं.

वह परमानेंटली स्टोर होता है कंप्यूटर में किसी भी फोटो डाटा टेक्स्ट ऑडियो वीडियो को स्टोर करने के लिए सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है. 

कंप्‍यूटर में हार्डवेयर के कुछ महत्वपूर्ण डिवाईस

आजकल डेस्कटॉप कंप्यूटर और लैपटॉप मुख्य दो रूप में उपयोग किया जा रहा हैं. यदि हम लोगों के पास डेक्सटॉप कंप्यूटर हैं. तो जब तक उसमें किसी सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल नहीं किया जाता हैं. तब तक वो एक Hardware के समान हैं.

मतलब हम उसका कुछ भी उपयोग नहीं कर सकते हैं. जब हम लोग अपने लैपटॉप पर डेक्सटॉप में सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल कर लेते हैं. तो वह एक कंपलीट लैपटॉप या डेक्सटॉप के रूप में कार्य करने लगता हैं.

1. CPU

सीपीयू क्या हैं. सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कहते हैं. यह भी एक Hardware हैं. जिसमें हम लोग सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल करके उस पर काम करते हैं. सीपीयू के अंदर मदरबोर्ड होता हैं.

प्रोसेसर होता हैं.एसएमपीएस(SMPS) होता हैं. रैम(RAM) होता हैं. हार्ड डिस्‍क होता हैं. डीवीडी होता हैं. ग्रैफिक्स कार्ड होता हैं. यह सब  सीपीयू के मुख्य अंग होते हैं. सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता हैं.

2. Monitor

जब कभी हम लोग किसी भी काम को कंप्यूटर में करते हैं. तो  उसके लिए कंप्‍यूटर को इनपुट्स देते हैं. तब हमलोग उसका आउटपुट मॉनिटर पर देख पाते हैं. मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस हैं.

3. UPS

यूपीएस को हम लोग  ग्रेडेड पावर सप्लाई कहते हैं. इसका मुख्य काम सीपीयू और मॉनिटर को ऊर्जा सप्लाई करना हैं.जब कभी बिजली कट जाता है तो उस समय यूपीएस कंप्यूटर को डायरेक्ट बंद होने से बचाता हैं.

4. Keyboard

कीबोर्ड कंप्यूटर में कुछ भी टाइप करने के लिए कीबोर्ड का होना अत्यंत आवश्यक हैं. कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस हैं. जिसके बिना कंप्यूटर में कुछ भी टाइप करना संभव नहीं हैं.

5. Mouse

माउस एक ऑप्टिकल डिवाइस हैं. जिससे हम लोग किसी भी प्रोग्राम को ओपन करना हो बंद करना हो तो माउस की सहायता से बहुत ही आसानी से कर पाते हैं.

6. Speaker

स्पीकर एक आउटपुट डिवाइस हैं. जिससे हम लोग कंप्यूटर के ध्वनि  को सुन पाते हैं.जब कभी भी हम लोगों को कंप्यूटर से कुछ सुनने की आवश्यकता होती हैं. तब स्पीकर का होना बहुत ही जरूरी हो जाता हैं. जैसे कंप्यूटर से यदि गाना सुनना हो तो एक पीकर के माध्यम से गाना को सुन सकते हैं.

कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है

Hardware Software
हार्डवेयर एक भौतिक फिजिकल डिवाइस है जिसको कंप्यूटर में देखा जा सकता है टच किया जा सकता है. सॉफ्टवेयर एक सेट किया हुआ प्रोग्राम है समूह है जिसको केवल काम करने के लिए उपयोग किया जा सकता है उसको टच नहीं किया जा सकता है महसूस किया जा सकता है.
हार्डवेयर को टच कर सकते हैं. सॉफ्टवेयर को छू नहीं सकते हैं.
हार्डवेयर को बनाने के लिए कुछ हार्डवेयर के छोटे-छोटे सामग्रियों की आवश्यकता होता है सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए एक सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होता है या फिर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जरूरत होता है
हार्डवेयर में यदि किसी भी तरह की कोई दिक्कत है तो उसको ठीक किया जा सकता है बदला जा सकता है जबकि सॉफ्टवेयर में किसी भी तरह का कोई Error, Bug या करप्ट हो जाए तो उसको फिर से दोबारा रीइंस्टॉल करना पड़ता है
हार्डवेयर में वायरस की कोई समस्या नहीं होता है सॉफ्टवेयर में वायरस प्रवेश करके उसको क्षति पहुंचा सकता है
हार्डवेयर में सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल किया जाता है सॉफ्टवेयर के द्वारा कंप्यूटर व्यवस्थित किया जाता है
हार्डवेयर कंप्यूटर का शरीर है सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर किसी भी तरह का काम नहीं कर सकता है
हार्डवेयर से कंप्यूटर का पूरा ढांचा आकार बनाया जा सकता है लेकिन सॉफ्टवेयर के बिना उसको काम करने के लिए तैयार नहीं किया जा सकता है
हार्डवेयर कंप्यूटर का प्राथमिक जरूरत है. सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का सेकेंडरी आवश्यकता है.

सारांश 

हार्डवेयर के बारे में इसमें जानकारी दी गई है मुझे आशा है कि कंप्यूटर Hardware kya hai के बारे में दी गई जानकारी आप लोगों को जरूर अच्छा लगा होगा. कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में दी गई जानकारी आप लोगों को कैसा लगा कमेंट करके हमें जरूर बताएं.

इससे हमें अपनी दी गई जानकारी एवं आने वाली जानकारियों में सुधार एवं और बेहतर करने के लिए प्रेरणा प्राप्त होता है. कंप्यूटर Hardware के बारे में दी गई जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी जरूर करें.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here