हार्ड डिस्क क्या हैं उपयोग एवं 3+ प्रकार

हार्ड डिस्‍क क्या हैं Hard disk in hindi language किसी भी कंप्यूटर लैपटॉप डेक्‍सटॉप में किसी भी प्रकार की फाइल फोल्डर प्रोग्राम इमेज वीडियो ऑडियो या अन्य किसी भी प्रकार के डाटा को रखने के लिए कंप्यूटर में हार्ड डिस्‍कका इस्तेमाल किया जाता हैं.

साधारण भाषा में अभी समझा जाए तो हम लोग अपने घर में किसी फाइल को या किसी प्रकार के किताब बुक आदि को रखने के लिए किसी अलमीरा या रूम में उसको हम लोग कहीं पर रखते हैं उसी प्रकार कंप्यूटर में जितने भी प्रकार के हम लोग काम को करते हैं और उसके बाद प्रोग्राम फाइल या फोल्डर को स्थाई रूप में रखने के लिए हार्ड डिस्‍क का जरूरत होता हैं.

इस लेख में हम लोग कंप्यूटर के हार्ड डिस्‍क के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं जिसमें हम लोग जानेंगे की Hard Disk क्या है और कितने प्रकार के होता हैं हार्ड डिस्‍क का लाभ क्या हैं और हार्ड डिस्‍क को किस तरह से कंप्यूटर में उपयोग किया जाता हैं और भी हार्ड डिस्‍क के बारे में विस्तृत हम लोग जानकारी नीचे प्राप्त करने वाले हैं तो आइए हम लोग नीचे कंप्यूटर हार्ड डिस्‍क के बारे में पूरी जानकारी को जानते हैं. पैसा कैसे कमाए

What is hard disk in hindi

कंप्यूटर में डिजिटल डाटा को स्टोर करने के लिए हार्ड डिस्‍क की आवश्यकता होता हैं किसी भी प्रकार के डाटा को डिजिटल रखने के लिए सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस यानी कि हार्ड डिस्‍क का कंप्यूटर लैपटॉप और डेक्सटॉप में स्टोर करने के लिए उपयोग किया जाता हैं.

Hard disk in hindi languageHard Disk ka full form 

HDD Full form:- hard disk drive होता हैं इसको एच डी डी एच डी के नाम से भी जाना जाता हैं. हार्ड डिस्‍क को सबसे पहले वर्ष 1956 में आईबीएम कंपनी के द्वारा बनाया गया था.

उस समय हार्ड डिस्‍क का स्टोरेज कैपेसिटी 5 MB ही था और उसका वजन भी ज्यादा था लेकिन धीरे-धीरे Hard Disk में बदलाव होते गए और आज हम लोग जिस हार्ड डिस्‍क का उपयोग अपने कंप्यूटर सिस्टम में करते हैं उसका वजन और उसका आकार भी काफी शॅाट यानी कि छोटा हो गया हैं.

कंप्यूटर सिस्टम में किसी भी डाटा को प्रोसेस करने के लिए प्राइमरी डिवाइस एवं सेकेंडरी डिवाइस की आवश्यकता होता हैं प्राइमरी डिवाइस  RAM होता हैं और सेकेंडरी डिवाइस हार्ड डिस्‍क को कहते हैं रैम किसी भी डाटा को स्थाई रूप से अपने पास स्टोर नहीं करता हैं जबकि Hard Disk यानी कि सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस डाटा को परमानेंटली अपने पास स्टोर करता हैं. इंटरनेट से पैसा कैसे कमाए

Hard disk in hindi

कंप्यूटर में हम लोग जितने भी डाटा को डिजिटली स्टोर करके रखते हैं उस डाटा को हम लोग कभी भी इस्तेमाल कर सकते हैं कभी ऐसा भी होता हैं कि कंप्यूटर किसी प्रकार के वायरस के कारण बंद हो जाता हैं.

तब भी जो डाटा हम लोग अपने हार्ड डिस्‍क में स्टोर करके रखते हैं उस डाटा को हम लोग बहुत ही आसानी से किसी डिवाइस के माध्यम से अपने दूसरे कंप्यूटर में रीस्टोर भी कर सकते हैं. हार्ड डिस्‍क एक ऐसा डिवाइस हैं जो कि डाटा को सेव सुरक्षित और परमानेंट कंप्यूटर बंद हो जाने के बाद भी अपने पास सुरक्षित स्टोर करके रखता हैं.

हार्ड डिस्‍क कितने प्रकार के होते हैं  

हार्ड डिस्‍क को उसके आविष्कार यानी दुनिया में हार्ड डिस्‍क कब और किस तरह के आकार में आया उसको हम लोग चार नामों से जानते हैं जिसका विस्तृत जानकारी हम लोग एक एक करके नीचे पढ़ेंगे.

PATA: – Parallel advanced technology attachment एक ऐसा हार्ड डिस्‍क डिवाइस हैं जिसको वर्ष 1986 में सबसे पहले वेस्टर्न डिजिटल कंपनी के द्वारा बनाया गया. यह कंप्यूटर के हार्ड डिस्‍क का सबसे पुराना डिवाइस हैं.

जिसको कंप्यूटर में जोड़ने के लिए ATA interface standard उपयोग किया जाता हैं. यह एक बहुत ही निम्न गति का Hard Disk हैं जिसके द्वारा कंप्यूटर में किसी फाइल या फोल्डर को लोड करने में थोड़ा समय ज्यादा लगता हैं.

SATA: – Serial advanced technology attachment एक Hard Disk हैं जिसका अधिकतर उपयोग कंप्यूटर लैपटॉप डेस्कटॉप में किया जाता हैं पाटा ड्राइव के मुकाबले इस Hard Disk का उपयोग अधिक किया जाता है.

क्योंकि इस हार्ड डिस्‍क ड्राइव का डाटा ट्रांसफर रेट पाटा के तुलना में अधिक हैं और इसमें डाटा को ट्रांसफर करने का जो गाती हैं वह 150 MB सेकंड से लेकर 600 एमबी सेकंड तक का हैं यह पिछले बनी कई हार्ड डिसक से बेहतर हार्ड डिस्‍क ड्राइव के रूप में काम करता हैं.

SSD: – Solid state drives सॉलि़ड स्टेट ड्राइव यह वर्तमान समय की सबसे लेटेस्ट Hard Disk ड्राइव हैं जो कि बाकी सभी Hहार्ड डिस्‍क के तुलना में इसका डाटा ट्रांसफर का ट्रांसफर रेट सबसे ज्यादा और तेज हैं.

और इस हार्ड डिस्‍क ड्राइव का उपयोग बड़े-बड़े कंपनी में डाटा को तेज गति से एक्सेस करने के लिए कंप्यूटर सिस्टम में उपयोग किया जाता हैं यह Hard Disk ड्राइव एक सामान्य हार्ड डिस्‍क ड्राइव के मुकाबले काफी ज्यादा हैं.

SCSI: – Small computer system interface स्मॉल कंप्यूटर सिस्टम इंटरफेस हार्ड डिस्‍क एक प्रकार के कंप्यूटर में सामान्य रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला Hard Disk हैं जिसका हार्ड डिस्‍क स्टोरेज स्पीड लगभग 640 मेगाबाइट्स पर सेकंड तक हैं.

यह हार्ड डिस्‍क के साथ ज्यादा से ज्यादा 16 ड्राइव को कनेक्ट किया जा सकता हैं स्मॉल कंप्यूटर सिस्टम इंटरफेस Hard Disk का उपयोग एक केबल के रूप में Hard Disk के 16 ड्राइव के साथ कनेक्ट करने के लिए उपयोग किया जाता हैं.

हार्ड डिस्‍क में उपयोग किया जाने वाला कुछ प्रमुख घटक के बारे में नीचे जानते हैं 

  • Read write head:-हॉट एक्स में एक छोटा सा चुंबक के रूप में जुड़ा रहता हैं जो कि रीड और राइट आर्म के आगे लगा होता हैं यह सूचनाओं को रिकॉर्ड एवं स्टोर करने के लिए कार्य करता हैं.
  • Actuator:-Hard Disk में जो रीड और राइट को स्टोर करने के लिए आर्म घूमता हैं उस में यह मदद करता हैं.
  • Read write arm:-Hard Disk ड्राइव में रीड राइट ऑन का पिछला हिस्सा हैं जो दोनों एक दूसरे के साथ जुड़े हुए रहते हैं.
  • Connector:-रीड राइट आर्म को घुमाने के लिए जो आर्म का उपयोग होता हैं और Hard Disk में जो और भी कंपोनेंट्स का इस्तेमाल किया जाता हैं उन सब को एक दूसरे के साथ कनेक्ट करने के लिए कनेक्टर रीड राइट लेटर तक डाटा को पहुंचाने में मदद करता हैं.

हार्ड डिस्‍क ड्राइव में और भी कंपोनेंट्स जुड़े होते हैं जोकि Hard Disk के साथ डाटा को स्टोरेज करने के लिए रीड एंड राइट प्रोसेस को पूरा करने में काम करते हैं.

सारांश  

हार्ड डिस्‍क ड्राइव के बारे में इस लेख में हमने पूरी जानकारी देने का प्रयास किया हैं जिसमें हार्ड डिस्‍क ड्राइव क्या हैं और हार्ड डिस्‍क का उपयोग किस तरह से किया जाता हैं हार्ड डिस्‍क टाइप कितने प्रकार का होता हैं इन सभी के बारे में जानकारी दिया गया हैं.

वैसे हार्ड डिस्‍क ड्राइव एक जगह होता हैं कंप्यूटर में जहां पर डाटा को परमानेंट के लिए रखा जा सकता है. हार्ड डिस्‍क के बारे में जानकारी आप लोगों कैसा लगा कृपया कमेंट करके अपना राय जरूर दें और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment