गवर्नमेंट टीचर कैसे बनें योग्‍यता उम्र सीमा और सैलरी

Government Teacher कैसे बने गवर्नमेंट टीचर बनने के लिए कौन-कौन सा एग्जाम है, क्या योग्यता होनी चाहिए, Government Teacher को कितने भागों में बांटा गया है यह सारी जानकारी जिसे टीचर बनना है उसे जानना आवश्यक होता है. Government Teacher kaise bane.

आज के समय में भारत में कई गवर्नमेंट स्कूल का विकास हो रहा है स्कूलों में बच्चों को कई तरह की सुविधाएं मिल रही है. जितने स्कूल का विकास होता है उतने ही ज्यादा टीचर का भी बहाली होता है, तो अगर सरकारी टीचर कैसे बन सकते हैं के बारे में अच्छे से जानकारी रहेगा तो अप्लाई करने में आसानी हो जाएगा. 

भारत देश में या कहीं भी एक टीचर को बहुत ही सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है. Government Teacher बनने के लिए राज्य स्तर पर या केंद्रीय स्तर पर एंट्रेंस एग्जाम दिया जाता है. राज्य स्तर पर टीईटी और केंद्रीय स्तर पर सीटीईटी का एग्जाम क्वालीफाई कर के गवर्नमेंट टीचर बन सकते हैं.

लेकिन टीचर के लिए एंट्रेंस एग्जाम देने से पहले b.ed का कोर्स या d.ed का कोर्स करना अनिवार्य होता है. इसके बाद ही टीचर एलिजिबिलीटी एग्जाम देने के लिए एलिजिबल माने जाते हैं. Government Teacher बनने के लिए क्या प्रोसेस है सरकारी टीचर का क्या सैलरी है के बारे में नीचे विस्तार से जानते हैं. सीटीईटी क्या है 

Government Teacher kaise bane

आज के समय में Government Teacher के लिए बहुत कठिन कंपटीशन हो गए हैं. इसलिए टीचर बनने के लिए बेहतर तरीके से कड़ी मेहनत के साथ तैयारी करना जरूरी है.12वीं पास करने के बाद कई ऐसे छात्र हैं जो कि गवर्नमेंट टीचर बनना चाहते हैं. 

सरकारी स्कूल के शिक्षक बनकर बच्चों को बेहतर ज्ञान देना चाहते हैं. पहले टीचर बनना काफी आसान था. ग्रेजुएशन के बाद कोई भी टीचर बन जाता था. लेकिन आज के समय में B.ed का कोर्स करना जरूरी है.

Government Teacher Kaise Bane 1

उसके बाद टीचर बनने के लिए टीईटी या सीटीईटी एंट्रेंस एग्जाम पास करना आवश्यक होता है. जो व्यक्ति यह एंट्रेंस एग्जाम पास कर जाते हैं वह एक Government Teacher बनने के योग्य माने जाते हैं. टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या प्रोसेस है नीचे जानते हैं.

1. 12वीं पास करें

अगर Government Teacher बनना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे पहले 10th पास करने के बाद 12वीं पास करना जरूरी है. 12वीं मैथ, साइंस आदि सब्जेक्ट का अच्छे से पढ़ना जरूरी है. क्योंकि टीचर के लिए जो भी एग्जाम देते हैं उसमें मैथ साइंस हिस्ट्री आदि सब्जेक्ट से ही क्वेश्चन आता है.

2. ग्रेजुएशन कंप्लीट करें

ट्वेल्थ के बाद ग्रेजुएशन कंप्लीट करें. क्योंकि ग्रेजुएशन के बाद ही बीएड का कोर्स कर सकते हैं. गवर्नमेंट टीचर के लिए b.ed का कोर्स पूरा होना जरूरी है, तभी एक गवर्नमेंट टीचर के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

3. B.ed या D.ed का कोर्स करें

3.1 B.ed

Government Teacher या प्राइवेट टीचर बनने के लिए b.ed का कोर्स कंप्लीट करना जरूरी है. इस कोर्स को करने के बाद किसी भी गवर्नमेंट स्कूल में या प्राइवेट स्कूल में आसानी से टीचर की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं.

ग्रेजुएशन के बाद 2 साल का b.ed कोर्स कर सकते हैं. भारत में कई कॉलेज है जहां पर बीएड का कोर्स कराया जाता है. कई कालेजों में एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर या कई कॉलेजों में डायरेक्ट एडमिशन भी होता है.

3.2 D ed

डीईडी एक डिप्लोमा कोर्स है. जिसे डिप्लोमा इन एजुकेशन कहा जाता है. यह कोर्स 2 साल का होता है. इस कोर्स को अगर चाहे तो ट्वेल्थ के बाद भी कर सकते हैं या ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं. डीईडी कोर्स करने के बाद भी Government Teacher बन सकते हैं.

4. टीईटी या सीटीईटी का एंट्रेंस एग्जाम पास करें

4.1 TET

B.ed करने के बाद राज्य लेबल पर टीईटी एग्जाम दे सकते हैं. हर साल राज्य सरकार के द्वारा टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है. इस एग्जाम को जो अभ्यर्थी पास कर जाते हैं. वह राज्य के किसी भी गवर्नमेंट स्कूल में टीचर के पद पर नियुक्त हो सकते हैं.

4.2 CTET

b.ed के बाद गवर्नमेंट टीचर बनने के लिए केंद्रीय स्तर पर होने वाले सीटीईटी एग्जाम का भी अप्लाई कर सकते हैं. केंद्र सरकार के द्वारा हर साल सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट का आयोजन किया जाता हैं. सीटीईटी एग्जाम में दो पेपर का एग्जाम लिया जाता है. 

अगर प्राइमरी स्कूल के टीचर बनना चाहते हैं तो पेपर वन क्लियर करना पड़ता है, वहीं अगर जिसे मिडिल स्कूल का टीचर बनना होता है वह पेपर दो क्लियर करते हैं. लेकिन अगर सेकेंडरी स्कूल का Government Teacher बनना चाहते हैं, तो उसके लिए सीटीईटी के दोनों पेपर क्लियर करना पड़ता है.

5. मनपसंद सब्जेक्ट पर ध्यान दें

गवर्नमेंट स्कूल में कई सब्जेक्ट के टीचर होते हैं, तो आप भी पहले यह जरूर तय कर लें कि आप किस सब्जेक्ट में बेहतर है. कौन सा विषय पढ़ने ज्‍यादा पसंद आता हैं. बच्चों को किस सब्जेक्ट के बारे में अच्छी तरह से जानकारी दे सकते हैं.

उसी सब्जेक्ट के टीचर के लिए तैयारी करें. अपने मनपसंद सब्जेक्ट पर ज्यादा ध्यान दें उसको ज्यादा स्ट्रांग बनाए. ताकि जब टीचर के पद पर नियुक्त होते हैं तो बच्चों को उस विषय के बारे में बेहतर तरीके से पढ़ा सकें. उन बच्चों के द्वारा पूछे गए हर एक क्वेश्चन का आंसर आसानी से दे पाएं.

Government Teacher के प्रकार

गवर्नमेंट स्कूल में टीचर को तीन भागों में बांटा गया है. एक प्राइमरी टीचर ट्रेंड, ग्रेजुएट टीचर और पोस्ट ग्रैजुएट टीचर. तीनों प्रकार के टीचर बनने के लिए अलग-अलग योग्यता होना जरूरी है

1. Primary teacher कैसे बनें(PRT)

एक से पांच तक के क्लास के बच्चों को जिस स्कूल में पढ़ाया जाता है उस स्कूल को प्राइमरी स्कूल कहा जाता है. उसमें जो टीचर नियुक्त होते हैं, वह प्राइमरी टीचर कहलाते हैं. 

  • प्राइमरी टीचर बनने के लिए 12वीं पास करना जरूरी है. 
  • 12वीं में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना आवश्यक है. 
  • 12वीं साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम से कर सकते हैं.
  • इसके बाद ग्रेजुएशन का कोर्स जरूरी है. 
  • ग्रेजुएशन के बाद डीईडी का कोर्स कर सकते हैं जो कि बीएड के विकल्प के तौर पर लिया जाता है. 
  • D.ed एक टीचर ट्रेनिंग कोर्स है. वैसे कई टीचर ट्रेनिंग कोर्स है, जोकि 12वीं के बाद कर सकते हैं जैसे D.EL.D BSTC,NTT आदि. 
  • टीचर ट्रेनिंग कोर्स करने के बाद राज्य सरकार या केंद्र सरकार के द्वारा आयोजित होने वाला टीईटी या सीटीईटी एग्जाम क्वालीफाई कर सकते हैं. 
  • जिसके बाद Government Teacher बनने के लिए एलिजिबल माने जाते हैं.
1.1 प्राइमरी टीचर के लिए एज लिमिट

प्राइमरी स्कूल में टीचर बनने के लिए आयु सीमा 18 साल से 35 वर्ष की होनी चाहिए. जो उम्मीदवार रिजर्व वर्ग के हैं उनके लिए उम्र में कुछ छूट दी जाती है.

2. ट्रेंड ग्रैजुएट टीचर (TGT)

ट्रेंड ग्रैजुएट टीचर जिन्‍हें प्रशिक्षित ग्रेजुएट शिक्षक भी कहा जाता है. ट्रेंड ग्रैजुएट टीचर 6 से 10th क्लास तक के बच्चों को पढ़ाते हैं. 6 से 10th क्लास के स्टूडेंट को पढ़ाने के लिए बेहतर जानकारी होना आवश्यक है. क्योंकि इस स्टेज के स्टूडेंट को प्रोत्साहित करना और मार्गदर्शन कराना जरूरी होता है. 

  • ट्रेंड ग्रैजुएट टीचर बनने के लिए ग्रेजुएशन पास होना जरूरी है.
  • ग्रेजुएशन के बाद b.ed का कोर्स जरूर करें. 
  • b.ed का कोर्स करने के लिए भारत में कई कॉलेज यूनिवर्सिटी है जहां से आसानी से कर सकते हैं. 
  • b.ed करने के बाद राज्य स्तर पर होने वाले टीईटी और केंद्र स्तर पर होने वाले सीटीईटी का एग्जाम पास करना आवश्यक है. 
  • इन दोनों एक्जाम में प्राप्त किए हुए नंबर के आधार पर 6 से लेकर आठवीं तक और 9 से 10वीं तक के क्लास को पढ़ाने के योग्य के लिए आधारित किया जाता है.

3. पोस्ट ग्रैजुएट टीचर (PGT)

  • 11वीं और 12वीं के छात्र को पढ़ाने के लिए पोस्ट ग्रैजुएट टीचर बनना पड़ता है. 
  • पीजीटी टीचर बनने के लिए ग्रेजुएशन के बाद  b.ed का डिग्री प्राप्त होना जरूरी है. 
  • पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स अगर किए हैं तो इसके बाद भी
  • b.ed का कोर्स पास कर सकते हैं. 
  • इसके बाद सीटीईटी एग्जाम में होने वाले दो पेपर को क्लियर करना जरूरी है. 
  • अगर एंट्रेंस एग्जाम पास कर जाते हैं तो गवर्नमेंट स्कूल में पोस्ट ग्रैजुएट टीचर बन सकते हैं. 
  • पोस्ट ग्रैजुएट टीचर बनने के लिए उम्र ज्यादा से ज्यादा 40 वर्ष होना चाहिए.

Government Teacher के लिए योग्यता

  • गवर्नमेंट स्कूल में किसी भी प्रकार के टीचर बनने के लिए कुछ क्वालिफिकेशन होना जरूरी है
  • ट्वेल्थ साइंस आर्ट्स या कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम से पास होना जरूरी है.
  • 12वीं के बाद ग्रेजुएशन पास करना जरूरी है.
  • ग्रेजुएशन में मार्क्स कम से कम 50 परसेंट होनी चाहिए.
  • ग्रेजुएशन के बाद b.ed कोर्स जरूर करें.
  • बीएड कंप्लीट करने के बाद राज्य सरकार या केंद्र सरकार के द्वारा आयोजित होने वाला सीटीईटी या टीईटी एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें.
  • सीटीईटी में 2 पेपर होते हैं प्राइमरी टीचर बनने के लिए पहला पेपर क्लियर करना आवश्यक है. सेकेंडरी स्कूल का टीचर बनने के लिए दूसरा पेपर पास करना जरूरी है.
  • सीटीईटी का दोनों पेपर अगर क्लियर कर लेते हैं तो 1 से लेकर 10 तक के बच्चों को पढ़ा सकते हैं.

गवर्नमेंट टीचर के लिए एज लिमिट

गवर्नमेंट स्कूल में पीआरटी टीजीटी और पीजीटी तीन प्रकार के टीचर होते हैं. तीनो टीचर के लिए अलग-अलग उम्र सीमा तय किया गया है.

  • प्राइमरी टीचर बनने के लिए 18 से 35 उम्र होना चाहिए.
  • ट्रेंड ग्रेजुएशन टीचर के लिए उम्र सीमा ज्यादा से ज्यादा 35 साल होना चाहिए.
  • पोस्ट ग्रेजुएशन टीचर के लिए ज्यादा से ज्यादा 40 वर्ष उम्र सीमा आवश्यक है.

Government Teacher Kaise Bane 2

Government Teacher की सैलरी

एक प्राइवेट टीचर के तुलना में Government Teacher की सैलरी ज्यादा होती है. गवर्नमेंट स्कूल में भी सरकार ने हर ग्रेड के टीचर के लिए सैलरी अलग-अलग तय किया है. प्राइमरी टीचर की सैलरी हर महीने लगभग 35000 प्राप्त मिलती है.

ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर की सैलरी लगभग 44,000 प्रतिमाह मिलती है. पोस्ट ग्रैजुएट टीचर की सैलरी लगभग 47000 से डेढ़ लाख तक मिलती है. वैसे हर राज्य में Government Teacher का सैलरी अलग-अलग होता है. इसमें बताए गए टीचर की सैलरी से हर राज्य में लगभग कम या ज्यादा मिल सकता है.

टीचर बनने के फायदे

कई लोगों को बच्चों को पढ़ाने की रूचि होती है. बच्चों को सही शिक्षा देकर उन्हें सही मार्गदर्शन देकर उनका भविष्य बनाते हैं. स्कूल में अगर अच्छे शिक्षक रहते हैं, तो बच्चे भी उनसे पढ़ना पसंद करते हैं.

कई स्टूडेंट को सही अध्यापक नहीं मिलने की वजह से उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल पाता है. सही दिशा की तरफ वह अपने भविष्य को ले जाने के लिए तय नहीं कर पाते हैं. एक टीचर बनने के कई फायदे हैं.

  • Government Teacher बनने के बाद सही तरीके से जीवनयापन कर सकते हैं.
  • प्राइवेट स्कूल से बेहतर सैलरी मिलती है.
  • एक टीचर को समाज में भी सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है.
  • अपने स्टूडेंट को उचित मार्गदर्शन और दिशा निर्देश देकर बेहतर इंसान बना सकते हैं.
  • अपने पास जो भी नॉलेज है, उसे दूसरे बच्चों को देकर शिक्षा का सदुपयोग होता है.
  • टीचर बनने के बाद ज्यादा भागदौड़ नहीं करना पड़ता है.
  • एक शिक्षक हर रोज बच्चों को पढ़ा कर खुद भी कुछ नई नई चीजें सीखते हैं.
  • गवर्नमेंट स्कूल में 1 साल में टीचर को कई छुट्टियां मिलती है.

Government Teacher एग्जाम के लिए जरूरी विषय

गवर्नमेंट टीचर के लिए टीईटी या सीटीईटी का एग्जाम क्लियर किया जाता है. एंट्रेंस एग्जाम पास करने के लिए स्कूल में बच्चों को किस तरह से पढ़ाया जाता है इसी से संबंधित सब्जेक्ट के बारे में जानना जरूरी है. टीईटी या सीटीईटी एग्जाम के लिए सब्जेक्ट है.

  • Math
  • Child development 
  • Pedagogy
  • Environment studies
  • Science aur social studies
  • Social science

इसे भी पढ़ें

सारांश

Government Teacher kaise bane टीचर बनने के लिए ऊपर जितने भी तरीके बताए गए हैं, उसके साथ बेहतर पढ़ाई के लिए तैयारी भी जरूरी है. टीईटी या सीटीईटी में जो भी सब्जेक्ट है, उन सभी सब्जेक्ट का अच्छे से तैयारी करें.

कोचिंग क्लासेज, ऑनलाइन क्लासेस, टाइम टेबल से पढ़ाई करना आदि तरीके अपनाकर Government Teacher बनने के लिए अच्छे से तैयारी कर सकते हैं.

इस लेख में Government Teacher कैसे बने के बारे में पूरी जानकारी दी गई है फिर भी अगर इससे संबंधित किसी भी तरह का सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here