गूगल डॉक्‍स क्‍या हैं, उपयोग एवं विशेषता पूरी जानकारी 2023

गूगल डॉक्स क्या है Google docs kya hai गूगल डॉक्स का जब से शुरुआत हुआ है तब से लेकरके अभी बहुत से लोग हैं जो कि गूगल डॉक्स से परिचित नहीं हैं या कुछ लोग जो गूगल डॉक्स पर काम करते हैं उनके भी मन में ये सवाल रहता है कि गूगल डॉक्स पूरी तरह से कैसे उपयोग किया जाता है.

तथा गूगल डॉक्‍स कब बनाया गया गूगल डॉक्स और माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में क्या अंतर है इस तरह का सवाल लोगों के मन में आते रहते हैं. यदि आप भी गूगल डॉक्स के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस लेख में आपको गूगल डॉक्स के बारे में विस्तार से जानकारी नीचे दी गई है.

गूगल डॉक्‍स के बारे में जानने वाले हैं. गूगल डॉक्‍स को कैसे यूज करते हैं. इसके फायदे क्या हैं. और इसके नुकसान क्या हैं. जैसा कि हम लोग जानते हैं कि माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एक सॉफ्टवेयर हैं. जिसमें ऑफिस के सारे कामों को किया जा सकता हैं. उसी तरह का एक सॉफ्टवेयर  गूगल डॉक्‍स  हैं.

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में जीस तरह से कोई भी डॉक्यूमेंट तैयार किया जाता है, ऐप्लिकेशन तैयार किया जाता है. वह डॉक्यूमेंटेशन सॉफ्टवेयर है, ठीक उसी प्रकार गूगल डॉक्स डॉक्यूमेंटेशन सॉफ्टवेयर है, लेकिन गूगल डॉक्स में सब कुछ ऑनलाइन ही  किया जाता है तथा इसमें डाटा अपने आप ऑटोमेटिकली सेव हो जाता है.

Google docs kya hai गूगल डॉक्‍स क्‍या हैं

गूगल डॉग्‍स इंटरनेट आधारित वर्ड एडिटर प्रोग्राम हैं. जिसमें हम लोग डॉक्यूमेंट तैयार कर सकते हैं. इसमें सीट बना सकते हैं. प्रेजेंटेशन बना सकते हैं. और माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के जितने भी काम हम लोग करते हैं.

वह सारे काम गूगल डॉक्‍स के माध्यम से भी कर सकते हैं. जैसे डॉक्यूमेंट बनाना, शेयर करना, साथ ही साथ इसमें कुछ एडवांस फीचर भी ऐड किया गया हैं.

Google docs kya hai in hindi

जैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में हम लोग किसी प्रकार का डॉक्यूमेंट बनाते हैं. उसी तरह गूगल डॉक्‍स में भी हम लोग डॉक्यूमेंट बना सकते हैं. लेकिन इसमें हम लोगों को सामूहिक चर्चा करने का भी ऑप्शन दिया रहता हैं. यदि किसी विषय के बारे में कुछ ऑनलाइन सहायता की जरूरत हैं. तो हम लोग यहां पर बहुत आसानी से किसी टॉपिक के बारे में लोगों से सामूहिक चर्चा कर सकते हैं.

What is Google docs in hindi

गूगल डॉक्स एक ऑनलाइन डॉक्यूमेंटेशन प्लेटफॉर्म है जिसपे डॉक्यूमेंट तैयार किया जाता है. ऐप्लिकेशन तैयार किया जा सकता है. किसी भी तरह का लेटर इनवेलप तैयार किया जा सकता है. जीतने वर्क हम लोग माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में करते है.

सारे कामों को हम लोग गूगल डॉक्स में भी कर सकते हैं. गूगल डॉक्स के फायदे भी हैं जितना गूगल डॉक्‍स सेवा देता है, उतना माइक्रोसॉफ्ट वार्ड में मौजूद नहीं है. क्योंकि गूगल डॉक्स एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है और यहाँ पे जो भी डाटा होता है वो अपने आप से हो जाता है तथा गूगल डॉक्स में और भी ढेर सारे जो ऐसे सेवा है जो की माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में नहीं मिलता है.

google docs1

Google Docs Importance

Google Docs में कस्टम टेंपलेट्स बहुत तरह के मिल जाते हैं. जिससे हम लोग बहुत ही आसानी से अपने कामों को कर सकते हैं. जैसे एमएस वर्ड में हम लोग रिज्यूम बनाते हैं. वहां पर हम लोगों को पूरा फॉर्मेट वगैरह करना पड़ता हैं.

लेकिन गूगल डॉक्‍स में रिज्यूम बनाने के लिए हम लोगों को एक फॉर्मेट चुन लेना हैं. और वहां पर अपने डिटेल्स को फील करेंगें. तो वहां पर फॉर्मेटिंग अपने आप सेट हो करके रिज्यूम बहुत जल्द बन करके तैयार हो जाएगा. गूगल डॉक्‍स पर्सनल तथा बिजनेस दोनों रिजल्ट के लिए उपलब्ध हैं.

गूगल डॉक्स का पूरा नाम गूगल डाक्यूमेंट्स हैं. और यह गूगल की एक बिजनेस G Suite सर्विस का हिस्सा हैं. जिससे हम लोग बिजनेस को जिस पर ऑनलाइन बिजनेस suit ऑफर किया जाता हैं. एमएस वर्ड के तुलना में गूगल डॉक्‍स में ऑनलाइन बिजनेस, गूगल पर जितने भी लोगों से हम सामूहिक चर्चा करना चाहते हैं उनसे कर सकते हैं.

 गूगल डॉक्‍स का इतिहास 

Google Docs को 9 मार्च 2006 को आम जन के लिए लांच किया गया था. इस प्रोग्राम को सबसे पहले स्टार्टेल ने तैयार किया था. और इस प्रोग्राम का नाम Writely था. जिसे 2005 में लॉन्च किया गया था.

बाद में इसको गूगल के द्वारा खरीद लिया गया. और Writely का नाम बदलकर गूगल डॉक्स रख दिया गया. इस तरह से राइट ली तथा एक्सल टो वेब को मिला करके गूगल डॉक्स नाम से इसको गूगल के द्वारा विकसित किया गया. वर्तमान में इसका मालिक गूगल इंक हैं. वर्ष 2012 में गूगल ने क्विक ऑफिस का अधिग्रहण कर लिया था.

जिसके बाद गूगल डॉक्स का मोबाइल डिवाइसों के लिए भी आसान बनाया गया. आज इसको मोबाइल ऐप में भी प्रयोग किया जा रहा हैं. गूगल डॉक को हम लोग सभी वेब ब्राउज़र में भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

जैसे फायर बॉक्स, सफारी, ओपेरा, गूगल क्रोम, इत्यादि. वर्तमान समय में गूगल डॉक्स माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस को कड़ी टक्कर दे रहा हैं. क्योंकि गूगल डॉक ऑनलाइन सामूहिक चर्चा के साथ-साथ कस्टम टेंपलेट्स और एडवांस फीचर्स से सुसज्जित डॉक्यूमेंट प्रोग्राम हैं.

Google Docs का उपयोग

Google डॉक्‍स का इस्तेमाल करने के लिए हम लोगों के पास इंटरनेट की सुविधा होना चाहिए. या फिर अपने मोबाइल में गूगल डॉक के एप्लीकेशन को डाउनलोड करके भी हम लोग गूगल डॉक्‍स का प्रयोग कर सकते हैं.
गूगल डॉक्‍स को प्रयोग करने के लिए मुख्य रूप से तीन तरीके इस प्रकार हैं.

  • गूगल Docs Websites
  • Google Docs App
  • गूगल Drive 

Google Docs वेबसाईट

Google docs को उपयोग करने के लिए हम लोग ब्राउज़र को ओपन करके और डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू गूगल डॉट कॉम  को ओपन करके भी गूगल डॉक्स का उपयोग कर सकते हैं.

या डाइरेक्‍ट इस लिंक पर क्लिक करके गूगल डॉक्‍स को ओपेन कर सकते हैंं गूगल डॉक्स में जिस तरह का भी आपको काम करना हैं. वहां पर बहुत ही आसानी से कस्टम दिए हुए टेंपलेट्स की सहायता से आप कर सकते हैं.

गूगल डॉक्‍स एप्‍प

अपने मोबाइल  के सहायता से गूगल डेक्स ऐप को ओपन करके, भी हम लोग गूगल डॉक्स को बहुत ही आसानी से प्रयोग कर सकते हैं. क्योंकि गूगल डॉक्स एप एंड्रॉयड विंडो आदि वर्जन के लिए काफी प्रसिद्ध प्लेटफार्म हैं.

जो कि मुफ्त में दिया गया हैं. Google docs ऐप को डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर में जाकर के, गूगल डॉक्स एप लिखेंगें. और सर्च करके, इंस्टॉल पर क्लिक करेंगे . और इसको इंस्टॉल कर लेंगे. इंस्टॉल करने के बाद इस ऐप को ओपन करके. हम लोग जिस तरह का भी काम करना चाहते हैं, कर सकते हैं.

गूगल ड्राईव

गूगल ड्राइव से Google docs को यूज करने के लिए, एप या डायरेक्ट लैपटॉप पर टेक्स्ट के वेब ब्राउज़र से भी गूगल ड्राइव को ओपन करके. यूज़ किया जा सकता हैं. उसके लिए निम्न स्टेप्स को फॉलो करना होगा.

  • सबसे पहले ग्रुप गूगल ड्राइव को ओपन करेंगें.
  • इसके बाद न्यू पर क्लिक करेंगें. वहां से गूगल डॉक्स का चुनेंगे
  • फिर ब्लैंक डॉक्यूमेंट पर क्लिक करेंगें.
  • और करने के बाद आपके सामने गूगल डॉक्स ओपन हो जाएगा.

गूगल डॉक्स का लाभ

इसमें आपको कस्टम टेंप्लेट मिलते हैं. जिससे बहुत ही कम समय में और आसानी से किसी भी प्रकार के डॉक्यूमेंट को तैयार किया जा सकता हैं. गूगल डॉक्स में यदि किसी प्रकार की सहायता की जरूरत हो तो,

हम लोग सामूहिक चर्चा ऑनलाइन करके किसी टॉपिक के बारे में सलाह ले सकते हैं. गूगल डॉग में काफी एडवांस फीचर दिए गए हैं. जो कि माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के वर्जन में मौजूद नहीं हैं.

गूगल डॉक्‍स में जब हम लोग कोई भी काम करते हैं. तो काम किए गए डाटा को अपने आप ऑटोमेटिक सेव कर लेता हैं. जिससे डाटा को बार-बार सेव नहीं करना पड़ता हैं. गूगल डॉक्‍स आसान और सुरक्षित डॉक्यूमेंट प्रोग्राम हैं.

Google Docs से नुकसान

गूगल डॉक्‍स को इस्तेमाल करने के लिए इंटरनेट का होना आवश्यक हैं. गूगल डॉक्‍स में किसी डॉक्यूमेंट को बना करके रखा गया हैं, तो उसको ओपन करने के लिए इंटरनेट का होना आवश्यक हैं. गूगल डॉक्‍स में काम करने के लिए ऐप को इंस्टॉल करना मोबाइल में जरूरी हैं.

और मोबाइल में इंटरनेट रहेगा . तभी हम किसी फाइल को Google Docs से ओपन करके काम कर सकते हैं. Google docs में किसी भी प्रकार के बदलाव के लिए इंटरनेट कनेक्टिविटी जरूरी हैं. जो कि माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस में हम लोग बहुत आसानी से बिना इंटरनेट का कर सकते हैं.

ये भी पढ़े

सारांश

Google docs kya hai गूगल डॉक्स क्या है Google docs का उपयोग तथा गूगल डॉक्स के लाभ Google docs से संबंधित इस लेख में हमने पूरी जानकारी दिया है.गूगल डॉक्स से संबंधित यदि किसी भी प्रकार का सवाल हो तो कृप्या कमेंट करके जरूर पुछें.

तथा गूगल डॉक्स के बारे में दी गई जानकारी कैसा लगा कृप्या कमेंट करके अपना राय जरूर दें. Google docs क्‍या हैं के बारे में दी गई जानकारी अपने दोस्त, मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर जरूर करें.माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, माइक्रोसॉफ्ट, एक्सेल, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी और भी ढेर सारा जानकारी पाने के लिए इस वेबसाइट को विजिट करते रहें.

Leave a Comment