डेबिट कार्ड क्या होता हैं उपयोग एवं फायदें

what is debit card in hindi डेबिट कार्ड क्या होता हैं Debit card kya hota hai यदि आपने भी पहली बार बैंक में अपना खाता खुलवाया हैं या फिर आप एक खाता धारी हैं और आप पहली बार Debit Card आपको बैंक के तरफ से मिला हैं.

या आप डेबिट कार्ड बैंक से लेना चाहते हैं और आप Debit Card के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो यहां पर  Debit Card किसे कहते है  एटीएम कार्ड क्‍या हैं के बारे में पूरी जानकारी दी गई हैं. डेबिट कार्ड प्लास्टिक कार्ड होता हैं जिसका इस्तेमाल करके आप किसी भी एटीएम से पैसा निकालते हैं डेबिट कार्ड कैस के तरह ही काम करता हैं.

क्योंकि यदि पॉकेट में डेबिट कार्ड हैं और कैश नहीं हैं तो आप कहीं पर भी अपना Debit Card इस्तेमाल करके आप कुछ भी खरीदारी कर सकते हैं ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं

या फिर आप एटीएम से कैश भी निकाल सकते हैं. इसलिए डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करने से बैंकिंग लेनदेन का जो प्रक्रिया हैं वह बहुत आसान हो गया हैं आइए नीचे हम लोग Debit Card क्या होता हैं इसके बारे में हर एक पॉइंट के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं.

Debit card kya hota hai डेबिट कार्ड क्या होता हैं

डेबिट कार्ड एक प्लास्टिक कार्ड होता हैं जिससे कस्टमर का बैंक अकाउंट लिंक रहता हैं और जब भी कस्टमर को पैसा निकालने की जरूरत होती हैं या फिर ऑनलाइन खरीदारी करने की जरूरत होती हैं या किसी को पैसा ट्रांसफर करने की जरूरत पड़ता हैं.

तो अपने Debit Card का इस्तेमाल करके बहुत ही आसानी से इन सभी कामों को कर सकते हैं. वर्ष 2016 में जब नोट बंदी हुआ था उस समय कैश का बहुत दिक्कत था तब उस समय डिजिटल पेमेंट का बढ़ावा सरकार के द्वारा किया गया था.

सबसे ज्यादातर लोग डिजिटली पेमेंट करना शुरू कर दिए और तब से वर्तमान समय में भी गांव के लोग भी ज्यादातर Debit Card और ऑनलाइन पेमेंट का इस्तेमाल करने लगे.

ऑनलाइन पेमेंट अथवा डिजिटल पेमेंट तभी संभव हो पायेगा. जब लोगों के पास Debit Card उपलब्ध हो क्योंकि बिना Debit Card के डिजिटल पेमेंट करना अथवा एटीएम से कैश निकालना संभव नहीं हैं. इंटरनेट क्या हैं

debit card kya hota hai in hindi

What is Debit Card in hindi

डेबिट कार्ड एक कार्ड होता हैं जिसका इस्तेमाल किसी भी बैंक के एटीएम में किया जाता हैं Debit Card के ऊपर 16 अंकों का एक कोड होता हैं. जिसमें शुरू के 6 नंबर बैंक का पहचान नंबर होता हैं जबकि अंत के 10 नंबर अकाउंट होल्डर का एक अकाउंट नंबर होता हैं.

डेबिट कार्ड के पीछे लिखे गए 3 डिजिट का cvv यानी कि कार्ड वेरिफिकेशन भैलू कोड लिखा रहता हैं. जिससे ऑनलाइन पेमेंट करते समय उस दिन उनके सीवीवी कोड को सिक्योरिटी के रूप में डालना पड़ता हैं.

Debit Card का इतिहास 

सबसे पहले कनाडा के राष्ट्रव्यापी एफ्टोस पद्धति के द्वारा इंटरैक  डायरेक्ट पेमेंट का शुरुआत हुआ. वर्ष 1994 में इस पद्धति को शुरू करने के बाद आई डी पी सबसे ज्यादा लोकप्रिय भुगतान करने वाला तकनीक बन गया. इससे पहले भी 1980 के दशक में डेबिट कार्ड का उपयोग एबीएम के द्वारा किया जाता था.

लेकिन इसके सुरक्षा के दृष्टि से डेबिट कार्ड को 1990 के दशक में 6 सबसे बड़े बैंकों में इंटरेक्ट प्रणाली की प्रक्रिया शुरू किया गया. 1990 के बाद धीरे-धीरे लोगों में डेबिट कार्ड से पेमेंट को अपनाया जाने लगा. इसके बाद धीरे-धीरे खुदरा विक्रेताओं एवं वैकल्पिक भुगतान लिए आई डी पी को स्वीकार किया जाने लगा.

Debit Card के लिए अप्लाई कैसे करें 

यदि आपने अभी तक अपना डेबिट कार्ड बैंक से नहीं लिया हैं और आप डेबिट कार्ड लेना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 2 तरह से डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं. आप पहले से डेबिट कार्ड्स ले चुके हैं और आप दूसरे डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन भी डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

उसके लिए आपको आप अपने बैंक के किसी भी एटीएम में जा कर के आप वहां से डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं. यदि आप पहली बार अपना Debit Card के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अपने बैंक के होम ब्रांच यानी कि जहां आप खाता खुलवाए हैं.

उस ब्रांच में जाकर के शाखा में जाकर के वहां पर आपको एक डेबिट कार्ड का फॉर्म फिलअप करना होगा फॉर्म फिलअप करने के साथ-साथ आपको अपना आइडेंटी कार्ड एवं एड्रेस प्रूफ के साथ साथ पैन कार्ड का कॉपी भी देना होगा.

इसके बाद आपको आपके एड्रेस पर कुछ दिनों के बाद डेबिट कार्ड आ जाएगा या फिर आप अपने बैंक में जाकर के भी Debit Card ले सकते हैं. कुछ बैंक आपको खाता खुलने के कुछ दिन बाद ही हाथों हाथ डेबिट कार्ड मुहैंया करा देते हैं.

Debit Card कैसे काम करता हैं 

डेबिट कार्ड खाता से लिंक रहता हैं जब भी Debit Card के द्वारा एटीएम से पैसा निकाला जाता हैं तो उसके बाद आपके खाता से निकासी की गई राशि को घटा दिया जाता हैं.

Debit Card बैंक के अकाउंट से लिंक होने के कारण Debit Card के द्वारा जब भी ऑनलाइन पेमेंट या किसी भी प्रकार का पेमेंट Debit Card के द्वारा किया जाता हैं तब साथ ही साथ आपके खाता से भी जितना अमाउंट का इस्तेमाल Debit Card के द्वारा किया जाता हैं उतना अमाउंट खाते से डेबिट हो जाता हैं.

Debit Card के प्रकार  

  • Rupay card
  • MasterCard
  • Maestro debit cards
  • Visa debit cards
  • International debit cards 

डेबिट कार्ड के फायदे  

  • Debit Card का सबसे बड़ा फायदा यह हैं कि पॉकेट में अब पैसा लेकर के नहीं चलना पड़ता हैं.
  • Debit Card के कारण अकाउंट से पैसा निकालना आसान हो गया हैं.
  • डेबिट कार्ड्स से ऑनलाइन खरीदारी करना भी आसान हो गया हैं.
  • डेबिट कार्ड से किसी भी दूसरे व्यक्ति के खाता में पैसा ट्रांसफर करना आसान हो गया हैं.
  • किसी भी दुकान पर जाकर के सामान खरीदने के बाद डिजिटली पेमेंट कर सकते हैं.

Debit Card के आने के कारण पैसा का लेन देन आसान हो गया हैं.

डेबिट कार्ड का उपयोग

  • एटीएम से पैसा निकालने के लिए.
  • एटीएम से किसी भी दूसरे व्यक्ति के खाते में पैसा ट्रांसफर करने के लिए.
  • ATM से चेक बुक ऑर्डर कर सकते हैं.
  • डेबिट कार्ड से बिजली बिल पेमेंट कर सकते हैं.
  • डेबिट कार्ड से गैस का बिल पेमेंट कर सकते हैं.
  • डेबिट कार्ड Card कार्ड से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं.
  • डेबिट कार्ड से रेलवे का टिकट बुक कर सकते हैं.
  • Debit Card से एरोप्लेन का टिकट बुक कर सकते हैं.
  • डेबिट कार्ड Card से होटल बुक कर सकते हैं.

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर 

डेबिट कार्ड का उपयोग तभी कर सकते हैं जब आपके बैंक खाते में पैसा जमा हो जबकि क्रेडिट कार्ड का उपयोग आपके खाते में पैसा ना हो तो भी कर सकते हैं लेकिन क्रेडिट कार्ड में एक लिमिट होता हैं कि आप इतना अमाउंट तक का उपयोग क्रेडिट कार्ड के द्वारा कर सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड का उपयोग आप 1 महीने के बीच में कभी भी कर सकते हैं. उसके बाद आपको उपयोग किए गए अमाउंट को अगले महीना में जमा करना होता हैं. जबकि डेबिट कार्ड का उपयोग करने के लिए पहले ही आपके अकाउंट में पैसा जमा करना होता हैं तब आप डेबिट कार्ड का उपयोग कर सकते हैं.

डेबिट कार्ड का नुकसान

डेबिट कार्ड का ज्यादातर फायदा ही हैं लेकिन कुछ समय पहले डेबिट कार्ड से ज्यादातर शिकायत मिलता था कि डेबिट कार्ड से फर्जीवाड़ा हो गया लेकिन धीरे-धीरे डेबिट कार्ड में सिक्योरिटी को और मजबूत बनाया गया था कि Debit Card से कोई गलत तरीके से इस्तेमाल न कर सके.

एटीएम मशीन से पैसा निकालते समय बहुत ऐसे जालसाज लोग थे जो Debit Card और उसका पिन दोनों चुरा लेते थे और अकाउंट से पैसा निकाल लेते थे यह समस्या आज भी हैं.

लेकिन यदि आपका एटीएम कार्ड और पिन दोनों गुम हो जाए तो 10,000 से ज्यादा का निकासी करने के लिए आपके मोबाइल पर आया हुआ ओटीपी को भी वेरीफाई करना होगा तभी 10,000 से ज्यादा अमाउंट आपके खाते से निकाला जा सकता हैं.

सारांश  

Debit card kya hota hai  डेबिट कार्ड का मतलब प्लास्टिक कैश क्योंकि वर्तमान समय में लगभग ज्यादातर लोग ऑनलाइन पेमेंट एक्सेप्ट कर रहे हैं इसलिए यदि आपके पास Debit Card हैं तो आप कहीं पर भी डिजिटली पेमेंट करके अपना काम कर सकते हैं.

डेबिट कार्ड के बारे में दी गई जानकारी आप लोगों को कैसा लगा कृपया कमेंट करके अपना राय जरूर दें और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी करें.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here