Computer Science Engineering कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग क्या हैं

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग क्‍या हैं  Computer science engineering in hindi वर्तमान समय में कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग करने वाले छात्रों के लिए यह जानना बहुत ही जरूरी हो जाता हैं की कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग का क्या महत्व हैं कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का स्कोप क्या हैं.

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंगमें जॉब अपॉर्चुनिटी यानी कि जॉब के अवसर कितने हैं और इस क्षेत्र में सैलरी यानी वेतन किस तरह का हैं इस लेख में हम लोग कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं.

जिसमें कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के बारे में हर एक एक चीज के बारे में जानकारी देने का प्रयास करेंगे तो आइए हम लोग नीचे जानते हैं कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के बारे में. कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का हिन्‍दी सगंणक विज्ञान अभियान्‍त्रकी होता हैं.

What is Computer science engineering in hindi 

पहले एक दौर था जब सब कुछ कलम और कॉपी के द्वारा ही संभव हो पाता था लेकिन वर्तमान के समय में कंप्यूटर ही सब कुछ हैं और कंप्यूटर के क्षेत्र में जाने के लिए ही कंप्यूटर इंजीनियरिंग विषय का चयन किया जाता हैं कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का मतलब एक-एक करके अभी हम लोग समझेगें तो कंप्यूटर का मतलब होता है गणना करने वाला मशीन और साइंस का मतलब होता है विज्ञान.

इंजीनियरिंग का मतलब होता हैं किसी खास क्षेत्र में पूर्ण जानकारी रखने वाले लोग को इंजीनियर यानी कि अभियंता कहते हैं. कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग क्या हैं कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग एक कोर्स हैं जिसमें कंप्यूटर के बारे में जानकारी दिया जाता हैं यानी कि कंप्यूटर के बारे में जानकारी प्राप्त करना होता हैं.

कंप्यूटर पूरी तरह से एक गणितीय एवं विज्ञान के कार्यप्रणाली के ऊपर कार्य करता हैं और इस क्षेत्र में जानकारी प्राप्त करने के लिए कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का कोर्स किया जाता हैं.Computer इंजीनियर वैसे लोग होते हैं जो कंप्यूटर साइंस या इनफॅार्मेशन टेक्नोलॉजी के स्ट्रीम से बीटेक या बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा करते हैं इस कोर्स को करने के बाद कंप्यूटर इंजीनियर बन सकते हैं.

Computer science engineering in hindi

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के लिए योग्यता  

किसी भी अच्छे संस्थान में कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग करने के लिए विज्ञान से 12वीं तक शिक्षा प्राप्त करना होता हैं उसके बाद यदि आप किसी सरकारी इंजीनियरिंग संस्थान से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो उसके लिए कंप्यूटर इंजीनियरिंग का एंट्रेंस एग्जाम को क्वालीफाई करना होता हैं जिसको पहले एआई ट्रिपल ई के नाम से जाना जाता था.

लेकिन वर्तमान समय में इसको जेईई मेंस के नाम से जाना जाता हैं और इसमें जो लोग क्वालीफाई करते हैं उनको इंजीनियरिंग के सरकारी संस्थान जैसे आईआईटी एनआईटी में दाखिला कराने के लिए इन एग्जाम को क्वालीफाई करना होता हैं.

फिर भी यदि कोई छात्र इस एग्जाम को क्वालीफाई ना भी करे तो भी वह किसी प्राइवेट संस्थान से भी कंप्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग करके अपना कंप्यूटर के क्षेत्र में कैरियर बना सकता हैं.

क्या कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जाना चाहिए 

इस तरह का सवाल जो आज के युवा वर्ग के विद्यार्थी छात्र हैं उनके मन में जरूर आता होगा कि क्या कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग करना अच्छा हैं तो वैसे छात्रों के लिए जिनको इस तरह का सवाल मन में आता हैं उनके लिए मैं बताना चाहता हॅूं की कंप्यूटर साइंस एक ऐसा क्षेत्र हैं जिस क्षेत्र में किसी भी तरह का लॉकडाउन या ब्रेकडाउन या मंदी कुछ भी नहीं आ सकता हैं.

क्योंकि कंप्यूटर साइंस इतना आगे बढ़ गया हैं कि इस क्षेत्र में आप जहां हैं वहीं से इंटरनेट टेक्नोलॉजी के माध्यम से अपने काम को कर सकते हैं दुनिया के किसी भी प्रकार के काम के लिए आज हर कोई कंप्यूटर टेक्नोलॉजी पर डिपेंड है इसलिए इस क्षेत्र में कैरियर बनाना बहुत ही अच्छा और बेहतर हैं.

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में जॉब के अवसर  

Computer साइंस करने वाले छात्रों के लिए नौकरी की कोई कमी नहीं हैं चाहे आप एक बेहतर छात्र रहे हो या फिर आप एक मध्यम वर्ग के भी छात्र हैं तो भी या निम्न वर्ग के कंप्यूटर साइंस के छात्र हैं तो भी आपके लिए नौकरी की कोई कमी नहीं हैं.

क्योंकि इस क्षेत्र में कंप्यूटर से जुड़े छोटे से छोटे काम और बड़े से बड़े कामों को करने के लिए लोगों की आवश्यकता बराबर रहता हैं इसलिए कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में अपने कैरियर को आगे बढ़ाएं और निश्चिंत होकर के आपने पढ़ाई पर ध्यान दें और आगे बढ़ें.

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में सैलरी  

एक कंप्यूटर इंजीनियर की सैलरी की बात की जाए तो सैलरी पूरी तरह से उसके जानकारी अनुभव और उसके पढ़ाई के संस्थान के अनुसार ही मिलता हैं इसलिए आप अपने जानकारी अपने अनुभव अपने संस्थान और अपने टेक्निकल स्किल्स को डेवलप करें.

तो आपको एक बेहतर सैलरी जरूर मिलेगा वैसे कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में यदि एक साधारण इंजीनियर की सैलरी की बात की जाए तो भारत में शुरुआत कम से कम 15 से 20 हजार से कर सकते हैं.

धीरे धीरे जैसे-जैसे अनुभव बढ़ती जाएगा सैलरी भी बढ़ते जाएगा वैसे कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में सैलरी ज्यादा से ज्यादा कितना हो सकता हैं इसके बारे में कोई आंकड़ा देना सही नहीं होगा क्योंकि यह एक ऐसा क्षेत्र हैं जिसमें एक से एक बड़े-बड़े कंप्यूटर इंजीनियर हैे जिनका सैलेरी पैकेज लाखों-करोड़ों में भी हैं.

भारत के पहला कंप्यूटर इंजीनियर  

भारत के कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने वाले सबसे पहला कंप्यूटर इंजीनियर Mokshagundam Visvesvaraya थे. जनका जन्म 15 सितंबर 1861 में भारत के कर्नाटक राज्य के कोलार जिले के चिक्काबल्लापुर में हुआ था.

इन्‍हें भारत सरकार के द्वारा भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था. कंप्यूटर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए भारत में इनके जन्मदिन के अवसर पर अभियंता दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

ये भी पढ़े

सारांश  

इस लेख में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी दी गई हैं जिसमें कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंगक्या हैं कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में कैरियर बनाना क्या बेहतर है कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में सैलरी क्या हैं और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के लिए योग्यता क्या होना चाहिए इन सब चीजों के बारे में जानकारी दी गई हैं.

वैसे इस लेख के अंत में सभी पाठकों से मैं कहना चाहता हूँ कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग एक बेहतर भविष्य के लिए बहुत ही अच्छा विकल्प हैं इसलिए इस क्षेत्र में एक छात्र को अपने रूचि के अनुसार कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में भी कैरियर जरूर बनाना चाहिए.

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के बारे में यह जानकारी आप लोगों को कैसा लगा कृपया कमेंट करके अपना राय जरूर दें और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ शेयर भी करें.

2 thoughts on “Computer Science Engineering कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग क्या हैं”

Leave a Comment