कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बनें 5 टिप्‍स

कंप्यूटर ऑपरेटर क्या है कंप्यूटर ऑपरेटर किसे कहते हैं. Computer Operator in hindi का मतलब क्या होता है. कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए कोर्स, कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए उम्र सीमा कितनी होनी चाहिए. कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए टाइपिंग स्पीड कितना होना चाहिए कंप्यूटर ऑपरेटर का सैलरी कितना मिलता है.

कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए किन-किन चीजों को सीखना पड़ता है Computer Operator kya hai की चयन प्रक्रिया क्या होता है. कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने कंप्यूटर ऑपरेटर के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी आपको नीचे विस्तार से मिलने वाला है.

कंप्यूटर ऑपरेटर से संबंधित किसी भी तरह का कोई सवाल हो जैसे कि हमने ऊपर बताया है. तो Computer Operator यदि आप बनना चाहते हैं. या कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए तैयारी करना चाहते हैं तो कंप्यूटर ऑपरेटर के बारे में आपको पूरी जानकारी यहां मिलेगी. कंप्यूटर ऑपरेटर का मतलब होता है कि जो भी व्यक्ति कंप्यूटर को अच्‍छी तरह से चला ले ऑपरेट कर ले उसे कंप्यूटर ऑपरेटर कहते हैं.

What is computer operator in Hindi

कंप्यूटर को जिसके द्वारा ऑपरेट किया जाए चलाया जाए उसको कंप्यूटर ऑपरेटर कहते हैं. कंप्यूटर का मतलब संगणक होता है और ऑपरेटर का मतलब होता है चलाने वाला. हिंदी में कंप्यूटर ऑपरेटर का मतलब संगणक मशीन को चलाने वाले को कंप्यूटर ऑपरेटर कहते हैं.

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसको हम इंसानों के द्वारा चलाया जाता है कंप्यूटर को बताया जाता है कि किस तरह का काम को करना है कंप्यूटर को जिस तरह से यूजर के द्वारा गाइड किया जाता है उस तरह से कंप्यूटर काम करता है.

एक ऑपरेटर जो होते हैं जो कंप्यूटर को चलाते हैं उनके द्वारा कंप्यूटर में जिस तरह का इनपुट दिया जाता है उस हिसाब से कंप्यूटर इनपुट को प्रोसेस करता है और उसके बाद उसका आउटपुट देता है.

एक कंप्यूटर ऑपरेटर को कहा जाता है जो कंप्यूटर के जो फंडामेंटल काम होता है जो बेसिक काम होता है जैसे कि कंप्यूटर में कॉपी करना पेस्ट करना कट करना फोल्डर क्रिएट करना फाइल बनाना कंप्यूटर को चालू करना कंप्यूटर में एमएस ऑफिस के बारे में जानकारी रखना. जिसमें माइक्रोसॉफ्ट वर्ड माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल माइक्रोसॉफ्ट पावरप्वाइंट और इंटरनेट की बेसिक जानकारी होना एक Computer Operator के लिए जरूरी है. डाटा इंट्री कैसे करते हैं

Computer Operator in hindi

Computer operator work details in Hindi

एक Computer Operator का काम क्या होता है आइए नीचे एक-एक करके उसके बारे में जानते हैं.

Fundamental computer :- एक कंप्यूटर ऑपरेटर को कंप्यूटर के जो बेसिक चीज है. जैसे कि कंप्यूटर को चालू करना कीबोर्ड के बारे में जानकारी रखना कंप्यूटर में फोल्डर क्रिएट करना फाइल क्रिएट करना और भी कंप्यूटर के जो जरूरी चीजें हैं उसके बारे में जानना एवं उस पर काम करना होता है.

Data entry :- कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए डाटा इंट्री का भी काम करना होता है. जिसमें उनको माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल पर डाटा तैयार करना होता है. उसमें फार्मूला फंक्शन का उपयोग करना होता है. या जो भी माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल में डाटा इंट्री का जो फंडामेंटल काम होता है उसको करना पड़ता है.

Documentation :-  एक कंप्यूटर ऑपरेटर को डॉक्यूमेंटेशन का काम करना पड़ता हैं. जैसे कि माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में एप्लीकेशन तैयार करना, Label, Envelop, या वर्ड में किसी भी तरह का I – card या और भी जो बेसिक जरूरी काम होता है. उसके बारे में भी आपको काम करना पड़ता है सीखना पड़ता है. तथा प्रमुख रूप से माइक्रोसॉफ्ट वर्ड पर आपको काम करना पड़ता है.

MS PowerPoint :- कंप्यूटर के बेसिक कामों में एक काम होता है. प्रेजेंटेशन तैयार करना और प्रेजेंटेशन तैयार करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट पावर पॉइंट पर काम करना होता है. एक कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए पीपीटी भी तैयार करना पड़ता है. जिसको पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के नाम से जानते हैं.

कोर्स

कंप्यूटर के बारे में जानने के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आप कंप्यूटर का 6 महीने का कोर्स 1 साल का कोर्स कर सकते हैं. बहुत सारे ऐसे कंप्यूटर के इंस्ट्यूशन है जहां पर 6 महीना का या साल भर का डिप्लोमा कोर्स कराया जाता है. जैसे डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन या और भी तरह के 6 महीने या 1 साल का कोर्स कराया जाता है जिसको आप कर सकते हैं. 

कंप्यूटर कोर्स में यह प्रमुख चीजों को अवश्य सीखना चाहिए

Computer typing :- एक Computer Operator के लिए सबसे जरूरी है कि आपको कंप्यूटर में हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में अच्छी टाइपिंग आना चाहिए. अच्छी टाइपिंग का मतलब यह नहीं कि आप एक उंगली से टाइपिंग कर रहे हैं. आप अपने दोनों हाथों का उपयोग करके और एक टाइपिंग का जो प्रॉपर तरीका होता है उसके तहत आपको टाइपिंग आना चाहिए.

Typing speed :- हिंदी और अंग्रेजी में केवल टाइपिंग आपको सीखना ही नहीं है. साथ ही साथ अपने टाइपिंग का स्पीड को भी आप को बेहतर बनाना है. आपको अंग्रेजी में 35 वर्ड 1 मिनट में कम से कम टाइप करने आना चाहिए. तथा हिंदी में 1 मिनट में कम से कम 30 शब्द सही सही टाइप करना चाहिए तब आप एक Computer Operator के लिए योग्य होंगे.

Basic computer knowledge :- कंप्यूटर के बारे में आपको जानकारी प्राप्त करना होता है. जिसमें आपको कंप्यूटर के जो आधार हैं जो प्रमुख बेसिक चीजें हैं. उसके बारे में आपको जानकारी करना पड़ता है जैसा कि ऊपर भी हमने बताया है.

Microsoft word :- एमएस वर्ड के बारे में भी अच्छी जानकारी प्राप्त करना होता है. जिसमें आप एप्लीकेशन तैयार कर सकते हैं डॉक्यूमेंटेशन का काम कर सकते हैं.

Microsoft Excel :- एक्‍सेल एक स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर है जिसमें डाटा इंट्री का काम होता है. फार्मूला फंक्शन का उपयोग किया जाता है एक्सेल के बारे में भी आपको अच्छी जानकारी प्राप्त करना जरूरी है.

Internet :- एक कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए इंटरनेट के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है. क्योंकि इंटरनेट से आपको ईमेल करना आना चाहिए. इंटरनेट पर बेसिक कामों को आपको सीखना पड़ता है क्योंकि इंटरनेट पर आपको कई तरह के काम करना पड़ता है. 

चयन प्रक्रिया

किसी भी सरकारी सेवा के लिए सबसे पहले फॉर्म को अप्लाई करना पड़ता है. उसके बाद कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए Written Exam होता हैं. जिसमें कंप्यूटर के बारे में सवाल पूछा जाता है. साथ ही साथ माइक्रोसॉफ्ट वर्ड माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल माइक्रोसॉफ्ट पावरप्वाइंट इंटरनेट से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं जब आप कंप्यूटर ऑपरेटर का रिटेन एग्जाम क्वालीफाई कर लेते हैं.

उसके बाद आपको हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में टाइपिंग की परीक्षा देनी पड़ती है. टाइपिंग के लिए आपको 1 मिनट में हिंदी में 30 शब्द टाइप करना होता है. और अंग्रेजी में 1 मिनट में 35 शब्द कम से कम सरकारी एक्जाम में कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए टाइपिंग करना पड़ता है.

Keyboard

रिटेन और टाइपिंग दोनों क्वालीफाई करने के बाद आप का मेरिट लिस्ट तैयार होता है. और मेरिट लिस्ट में आपका नाम आने के बाद आप Computer Operator का नौकरी प्राप्त कर लेते हैं.

सैलेरी

किसी भी सरकारी कार्यालय में काम करने वाले कंप्यूटर ऑपरेटर का सैलरी शुरू में लगभग 15000 से 20000 तक मिलता है. जब आप धीरे-धीरे कुछ दिन नौकरी कर लेते हैं. तब आपका सैलरी बढ़ाया भी जाता है. जहां तक प्राइवेट कंपनी में कंप्यूटर ऑपरेटर की सैलरी के बारे में बात की जाए तो प्राइवेट कंपनी में एक एवरेज सैलेरी भी 15000 से शुरू होता है.

उम्र

कोई भी व्यक्ति जिसका उम्र 18 से 30 वर्ष या 18 से 35 वर्ष के बीच के हैं. तो कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए अप्लाई कर सकते हैं. या कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी पा सकते हैं. जहां तक उम्र की बात की जाए तो जब कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए वैकेंसी निकाला जाता है. उसमें उम्र की सीमा बताई जाती है उसी को देखते हुए आपको फॉर्म को अप्लाई करना होता है. सफल इंसान कैसे बने

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment