कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया और कब हुआ

कंप्यूटर का अविष्कार कब हुआ था Computer ka avishkar kisne kiya  कंप्यूटर का जनक किसे कहा जाता हैं Computer भारत में कब आया कंप्यूटर के अविष्कारक के बारे में पूरी जानकारी प्राप्‍त करने वाले हैं.

इस लेख में हम लोग कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया के बारे में पूरी जानकारी पाने वाले हैं आप लोग इस लेख को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें. कंप्यूटर वर्तमान समय में हम लोगों के डेली वर्क का एक महत्वपूर्ण जरिया बन गया हैं कोई भी काम हो किसी के बारे में पता करना हो तो हम लोग कंप्यूटर से आसानी से घर पर बैठे कर लेते हैं.

हम लोग घर बैठे हैं कोई भी ऑनलाइन कार्य कंप्यूटर के इस्तेमाल से आसानी से कर पा रहे हैं . कंप्यूटर से हम लोग जैसे अपना ऑफिस का काम हो या घर से कोई ऑनलाइन शॉपिंग करनी हो कोई भी काम आराम से कर पा रहे हैं. हम लोग इस लेख में कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया के बारे में  आइए नीचे जानते हैं. 

कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया Computer ka avishkar kisne kiya

Computer का अविष्कार चार्ल्स बैबेज ने किया था चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का जनक कहा जाता हैं चार्ल्स बैबेज ने सबसे पहले प्रोग्रामेबल कंप्यूटर का डिजाइन बनाया था इस कंप्यूटर का उन्होंने डिफरेंशियल इंजन नाम रखा था लेकिन कुछ कारणवश यह पूरा नहीं हो पाया कुछ दिनों बाद इलेक्ट्रो मैकेनिकल कंप्यूटर बनाया गया.

जिसको टारपीडो कंप्यूटर कहा गया फिर Konrad Zuse ने एक कंप्यूटर बनाया यह कंप्यूटर सबसे पहला ऐसा कंप्यूटर था जो कि इलेक्ट्रॉनिकल था इसके बाद कई तरह के कंप्यूटर का अविष्कार हुआ. भले ही कंप्यूटर समय के साथ कई तरह के बनते आ रहे हैं.

लेकिन सबसे पहले जिसने कंप्यूटर बनाने के बारे में सोचा वह चार्ल्स बैबेज ही थे इसीलिए उन्हें कंप्यूटर का जनक कहा जाता है. चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर के पिता के रूप में भी हम लोग जानते हैं. कंप्यूटर के शॉर्टकट कौन-कौन से हैं

Computer ka avishkar kisne kiya hai

कंप्यूटर का अविष्कार कब हुआ

1822 में चार्ल्स बैबेज ने सबसे पहले कंप्यूटर का खोज किया इन्होंने सबसे पहले सिस्टम पावर ऑटोमेटिक मशीन कैलकुलेटर बनाया इससे  कैलकुलेट करने के लिए बनाया गया था लेकिन 1833 में चार्ल्स बैबेज ने सबसे पहला कंप्यूटर बनाया जो कि जनरल मशीन कंप्यूटर था.

वही कंप्यूटर आगे चलकर एक बेहतर कंप्यूटर बना.आज हमलोग कंप्‍यूटर का इस्‍तेमाल जो कर रहे हैं उसका श्रेय चार्ल्‍स बेबेज को ही जाता हैं.

कंप्यूटर क्या हैं

Computer एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस हैं कंप्यूटर एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक मशीन हैं जिसे हम कोई भी इनपुट देते हैं तो  वह हमारे सवालों का जवाब आउटपुट से देता हैं कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहा जाता हैं संगणक का मतलब गणना करना होता हैं यानी कि कोई भी चीज कैलकुलेट करना या गणना करना उसी को कंप्यूटर कहते हैं .कंप्यूटर में हम लोग किसी के भी बारे में जान सकते हैं.

कोई भी खबर हो या दुनिया में किसी भी चीज के बारे में अगर हम लोग को जानना हैं तो कंप्यूटर से बहुत आसानी से हम लोग जान सकते हैं. जब कंप्यूटर बना तब एक कमरे के जितना बड़ा बना था लेकिन समय के साथ उसमें कई तरह के अविष्कार होते हुए आजकल कितना छोटा से छोटा कंप्यूटर हमें उपलब्ध हैं अगर हम चाहे तो कहीं बाहर भी लेकर आसानी से आ जा सकते हैं उसे लैपटॉप कहते हैं.

कंप्यूटर के अविष्कार के बारे में

Computer के पिता चार्ल्स बैबेज को कहा जाता हैं चार्ल्स बैबेज ही कंप्यूटर के जनक माने जाते हैं चार्ल्स बैबेज एक मैथमेटिक्स के बहुत बड़े जानकार थे चार्ल्स को शुरू से कंप्यूटर और गणित के विषय से अधिक रुचि था इसीलिए उन्होंने कंप्यूटर के अविष्कार के बारे में सोचा.

कंप्यूटर भारत में कब आया

कंप्‍यूटर का अविष्कार तो चार्ल्स बैबेज ने बहुत पहले ही कर दिया था लेकिन भारत में कंप्यूटर 1966 में आया भारत में कंप्यूटर स्वदेशी ज्ञान कौशल के द्वारा लाया गया और उस कंप्यूटर का नाम रखा गया (ISJY) आई एस आई जे यू.

समय के साथ कंप्यूटर में कई तरह के बदलाव होते रहे और आगे भी होते रहेंगे समय के साथ तरह-तरह के कंप्यूटर का भी अविष्कार हो रहा है कंप्यूटर हमारे रोज के कार्यों के लिए बहुत ही बेहतर और अच्छा उपकरण बन गया हैं जिससे कि कोई भी काम आसानी से हम कर सकते हैं.

सारांश

Computer ka avishkar kisne kiya इस लेख में हमने कंप्यूटर का किसने किया कंप्यूटर कब बना कंप्यूटर भारत में कब आया कंप्यूटर क्या हैं कंप्यूटर के अविष्कारक किसने किया के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की हैं आप लोगों को इस लेख से जुड़े कोई सवाल हैं तो कमेंट करके जरूर पूछें.

इस लेख कंप्यूटर के अविष्कारक किसने किया के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है आप लोगों को यह कंप्यूटर का किसने किया के बारे में जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर भी जरूर करें.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

2 COMMENTS

  1. हेल्लो सर आपने computer के आविष्कार के बारे में बहुत अच्छा article लिखा है बहुत कुछ जानने को मिला है
    आपका धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here