बीएसएनएल का फुल फॉर्म क्या हैं बीएसएनल क्‍या हैं

बीएसएनल का फुल फॉर्म BSNL ka full form in hindi क्या होता हैं बीएसएनएल का मालिक कौन हैं बीएसएनएल किस देश की कंपनी हैं बीएसएनएल का शुरुआत कब हुआ बीएसएनल का सीईओ कौन हैं.

उसका मुख्यालय कहां हैं बीएसएनएल के बारे में पूरा जानना  चाहते हैं तो इस लेख में विस्तृत रूप से आपको जानकारी मिलेगा.

लेकिन शायद कम ही लोगों को बीएसएनएल का फुल फॉर्म क्‍या हैं और बीएसएनल का मालिक कौन हैं यह किस देश की कंपनी हैं के बारे में जानकारी होगी तो आइए नीचे बीएसएनल का शुरुआत कब हुआ बीएसएनल की कौन-कौन सेवाएं हम लोग प्राप्त करते हैं के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं.

BSNL ka full form in hindi

बीएसएनएल कंपनी एक भारतीय कंपनी हैं जिसका संचालन पूरी तरह से भारत सरकार ही करती हैं बीएसएनएल बहुत ही पुरानी कंपनी हैं इसलिए लोगों का विश्वास लोगों का भरोसा इस कंपनी पर ज्यादा रहता हैं.

आजकल कई टेलीकॉम कंपनी हैं जिसका हम लोग यूज करते हैं जिसको जिस कंपनी का सिम और उसका ऑफर पसंद आता हैं वही लोग इस्तेमाल करते हैं लेकिन बीएसएनएल एक ऐसी टेलीकॉम कंपनी हैं जो कि भारत में दूरसंचार टेक्नोलॉजी का शुरुआत की हैं.

जब मोबाइल का भी जमाना नहीं था उस समय बीएसएनएल का वायर वाला लैंडलाइन फोन आता था जिसका कि लोग इस्तेमाल करते थे बीएसएनल एक दूरसंचार कंपनी हैं बीएसएनएल का फुल फॉर्म भारत संचार निगम लिमिटेड होता हैं. बीएसएनएल कंपनी भारत की बहुत ही पुरानी दूरसंचार कंपनी हैं जो कि पूरे भारत में नेटवर्क के माध्यम से इंटरनेट सेवाएं लोगों को प्रदान करती हैं.

BSNL ka full form in hindi

बीएसएनल का मालिक कौन हैं 

BSNL  भारत के एक बहुत ही बड़ी वायर लाइन कम्युनिकेशन नेटवर्क जिस पर कि भारत सरकार की 60 परसेंट हिस्सेदारी हैं इसलिए बीएसएनएल का मालिक भारत सरकार ही हैं. बीएसएनएल कंपनी का इतिहास जब भारत में ब्रिटिश शासन था तभी से हैं.

बीएसएनएल का इस्तेमाल भारत में लाखों करोड़ों लोग करते हैं वर्तमान समय में कई टेलीकॉम कंपनियां हैं लेकिन अभी भी सबसे ज्यादा विश्वास लोगों का बीएसएनल कंपनी पर ही रहता हैं.

बीएसएनएल का संचालन या देख रेख बीएसएनएल में कोई भी अगर कुछ भी बदलाव करना हो तो भारत सरकार के द्वारा ही किया जाता हैं क्योंकि बीएसएनएल कंपनी पर पूरा नियंत्रण भारत सरकार का ही हैं.

बीएसएनएल का स्थापना कब हुआ 

BSNL कंपनी का इतिहास बहुत ही पुराना हैं ब्रिटिश शासन के समय से ही बीएसएनएल की सेवाएं लोगों को मिल रही हैं 1850 में ब्रिटिश शासन के द्वारा सबसे पहली बार टेलीग्राफ लाइन का शुरुआत किया गया था और 1851 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने टेलीग्राफ का प्रयोग करना शुरू किया पहले तो इसे अपने पर्सनल कामों के लिए शुरू किया गया था.

लेकिन 1854 के बाद इसे आम लोगों के लिए शुरू कर दिया गया. 1990 में बीएसएनल का लैंडलाइन फोन लांच किया गया. लेकिन भारत सरकार के द्वारा सार्वजनिक रूप से 2000 में बीएसएनएल का स्थापना हुआ. बीएसएनएल कंपनी का स्थापना होने के बाद बहुत से लोग इसका इस्तेमाल करने लगे और इस कंपनी के कस्टमर दिन पर दिन बहुत तेजी से बढ़ने लगे कुछ दिनों तक बीएसएनएल का इस्तेमाल लोग नहीं करते थे.

लेकिन वर्तमान समय में फिर से उसी तरह से लोग इसका इस्तेमाल करते हैं. बीएसएनएल कंपनी का चेयरमैन प्रवीण कुमार हैं जोकि भारतीय रेलवे बोर्ड के पहले भी चेयरमैन थे. बीएसएनल कंपनी का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित हैं.

बीएसएनएल किस देश का कंपनी हैं

बीएसएनल कंपनी एक भारतीय कंपनी हैं जिस पर कि पूर्ण रूप से भारत सरकार का स्वामित्व हैं भारत संचार निगम लिमिटेड बहुत ही पुरानी कंपनी हैं जिस वजह से बीएसएनएल कंपनी के कस्टमर भी बहुत ही ज्यादा हैं.

बीएसएनएल कंपनी जितने भी टेलीकॉम कंपनी भारत में हैं उनमें इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के रूप में चौथी सबसे बड़ी कंपनी हैं. बीएसएनएल कंपनी में लगभग 70216 से भी अधिक कर्मचारी काम करते हैं.

BSNL कंपनी में सबसे जो खास बात हैं कि जो अन्य दूरसंचार कंपनी हैं उनमें यह एक अलग ही कंपनी हैं क्योंकि यह ब्रॉडबैंड इंटरनेट सर्विस दुकानदारों और व्यापारियों को लैंडलाइन के जरिए इंटरनेट सेवा प्रदान करने वाली कंपनी हैं.

लोगों का सबसे ज्यादा विश्वास बीएसएनएल पर इसलिए भी रहता हैं क्योंकि यह एक सरकारी कंपनी हैं और जो अन्य दूरसंचार कंपनियां भारत की या अन्य देशों की हैं उनसे बीएसएनल के प्लान बहुत ही सस्ते में मिल जाते हैं. बीएसएनएल कंपनी के ब्रांच लगभग हर शहर में स्थित हैं.

बीएसएनएल कंपनी कौन-कौन सी सेवाएं प्रदान करती हैं

दूरसंचार सेवाओं का उदय बीएसएनएल कंपनी की वजह से ही हुआ बीएसएनएल कंपनी तब से लोगों को अपनी सेवाएं प्रदान कर रही हैं उस समय एयरटेल के अलावा और कोई दूरसंचार कंपनी नहीं था लेकिन बाद में जब टेक्नोलॉजी बढ़ता गया कई टेलीकॉम कंपनियों का उदय हुआ तो उस समय बीएसएनएल का लोग इस्तेमाल करना कम कर दिए थे जिस वजह से कि बीएसएनएल घाटे में जाने लगा.

लेकिन धीरे-धीरे बीएसएनएल कंपनी ने भी अपने टेक्नोलॉजी में कई सुधार किए और वर्तमान में मार्केट में बीएसएनएल की भी मांग बहुत ज्यादा हो गई हैं.बीएसएनल का भी 4G नेटवर्क आने लगा लोग इसका इस्तेमाल करने लगे और भरोसा फिर से वही बीएसएनल पर लोगों का हो गया.

बीएसएनएल कंपनी हमें कई सुविधाएं प्रदान करती हैं जैसे कि बीएसएनएल कंपनी का सिम के माध्यम से मैसेज कर सकते हैं फोन कॉल कर सकते हैं इंटरनेट सेवा बहुत ही अच्छे से इसका प्राप्त कर सकते हैं बीएसएनएल के लैंडलाइन फोन का भी लोग पहले इस्तेमाल करते थे वैसे अब तो मोबाइल के आ जाने से लैंडलाइन को लोग इतना यूज नहीं करते हैं.

बीएसएनएल कंपनी की सेवाएं

BSNL  के कई ब्रॉडबैंड हैं और सेल फोन भी इसका मिलता हैं. बीएसएनएल भारत में एक बहुत ही बड़ी वायरलाइन दूरसंचार नेटवर्क कंपनी भी मानी जाती हैं.

पहले के युग में किसी के पास फोन नहीं रहता था उस समय बीएसएनएल कंपनी ने प्रादुर्भाव किया जिस समय लोग फोन का कनेक्शन लेने में कितने दिनों तक इंतजार करते थे इधर-उधर दौड़ धूप करते थे तब जाकर के फोन का कनेक्शन मिलता था.

लेकिन बीएसएनएल कंपनी के वजह से लोगों को फोन का कनेक्शन मिलने लगा चाहे वह शहर हो या ग्रामीण क्षेत्र. वैसे तो आजकल मोबाइल गांव या शहर हर जगह लोग इस्तेमाल करने लगे हैं बीएसएनएल में एक सबसे बड़ी सुविधा हैं कि देश भर में कहीं भी निशुल्क रोमिंग सेवा लोगों को मिलती हैं.

सारांश

बीएसएनल कहां की कंपनी हैं बीएसएनल का मालिक कौन हैं बीएसएनएल का सीईओ कौन हैं इसका मुख्यालय कहां हैं के बारे में पूरी जानकारी दी गई हैं आप लोगों को यह जानकारी कैसा लगा कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्त मित्र और रिश्तेदारों को शेयर जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment