ब्लूटूथ डिवाईस क्‍या हैं ब्लूटूथ का उपयोग

Bluetooth kya hai जब कभी भी हम लोग किसी मोबाइल या Device से डाटा को ट्रांसफर करने के बारे में सोचते हैं.

तो उस समय हम लोगों को Bluetooth का इस्तेमाल करना पड़ता हैं. इस लेख में हम लोग ब्लूटूथ के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं. जिसमें हम लोग सीखेंगे या जानेंगे ब्लूटूथ क्या हैं.

इसके फीचर्स कौन-कौन से हैं ब्लूटूथ का यूजेज क्या हैं ब्लूटूथ का लाभ क्या हैं ब्लूटूथ से नुकसान क्या हैं ब्लूटूथ वर्सेस वाईफाई में क्या अंतर हैं इन सभी सवालों का जवाब जानने के लिए इस लेख को पूरा नीचे तक पढ़ना होगा चलिए अब हम लोग जान लेते हैं. सोशल मीडिया मार्केटिंग क्‍या हैं कैसे करेें

Bluetooth kya hai ब्लूटूथ डिवाईस क्‍या हैं

यह एक प्रकार का टेक्निकल सर्विस हैं. जो बिना वायर के एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस को कनेक्ट किया जाता हैं.  डाटा ट्रांसफर या किसी प्रकार का भी किसी फाइल या फोल्डर को एक दूसरे के साथ शेयर करना आसान बना देता हैं जिसको Bluetooth कहते हैं.

अब आसान भाषा में ब्लूटूथ के बारे में अभी कहा जाए. तो ब्लूटूथ एक वायरलेस टेक्नोलॉजी हैं. जिसकी सहायता से फोटो, ऑडियो, वीडियो, फाइल या अन्य किसी प्रकार के डाटा को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में भेजा जा सकता हैं. जिसको हम लोग ब्लूटूथ के नाम से जानते हैं. जीमेल क्‍या हैं

Bluetooth kya hai in hindi

What is Bluetooth in hindi

कभी ना कभी ब्लूटूथ का इस्तेमाल तो आप सभी लोगों को करना ही पड़ता होगा या किए ही होंगे. क्योंकि जब कभी भी हम लोग किसी मोबाइल से किसी ऐप, फोटो या किसी प्रकार के डाटा को अपने मोबाइल में लेना होता हैं.

तो हम लोग बहुत ही आसानी से Bluetooth के माध्यम से, अपने दोस्त के मोबाइल से या किसी और के मोबाइल से ब्लूटूथ को ऑन करके उस मोबाइल के डाटा को अपने मोबाइल में ट्रांसफर कर लेते हैं.

ब्लूटूथ को हिन्‍दी में क्‍या कहते हैं

Bluetooth headset ko hindi me kya khate hai :- डेटा सप्रेषण प्रणाली कहते हैं.

ब्लूटूथ का इतिहास

Bluetooth का अविष्‍कार वर्ष 1989 में हुआ था. जिसको Nils Rydbeck, CTO Ericsson मोबाईल Lude, Sweden के द्धारा किया गया था.

ब्लूटूथ का फीचर

Bluetooth से जब कभी भी हम लोग किसी प्रकार के डाटा को ट्रांसफर करते हैं. तो उस डाटा को ट्रांसफर करने के लिए ब्लूटूथ के रेडियो तरंग की सहायता से डाटा को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में ट्रांसफर किया जाता हैं.

डाटा ट्रांसफर करने के लिए एक डिवाइस और दूसरे डिवाइस के बीच में 33 फीट से ज्यादा का दूरी नहीं होना चाहिए नहीं तो Bluetooth काम अच्छा से नहीं कर पाता हैं.

Bluetooth का उपयोग

Bluetooth का प्रयोग हम लोग मोबाइल फोन, हेडफोन या फिर MP3 प्लेयर, कंप्यूटर, लैपटॉप, माइक, जीपीएस, यूनिट्स, इन सभी डिवाइस के साथ ब्लूटूथ का प्रयोग किया जाता है. आजकल तो ब्लूटूथ से हम लोग अपने मोबाइल को कनेक्ट करके बात भी कर लेते हैं. ब्लूटूथ एक ऐसा छोटा डिवाइस होता हैं.

जिसको अपने कान में हम लोग सेट कर लेते हैं. और उसके बाद यदि मोबाइल जेब में भी हो तो भी फोन रिसीव करके और बहुत ही आसानी से बाहर करने का सुविधा प्रदान करता हैं. Bluetooth का दाम बहुत ज्यादा नहीं होता हैं. इसको किसी भी मोबाइल डिवाइस जिसमें ब्लूटूथ का ऑप्शन हो उसके साथ कनेक्ट करके प्रयोग किया जा सकता हैं.

Bluetooth का लाभ

Bluetooth से किसी प्रकार की इमेज को दूसरे डिवाइस में आसानी से भेज सकते हैं. किसी प्रकार के वीडियो को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में ट्रांसफर कर सकते हैं. किसी प्रकार के ऑडियो, फाइल को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में भेज सकते हैं. किसी प्रकार के डाटा फाइल को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में भेज सकते हैं.

ब्लूटूथ वर्सेस वाईफाई 

ब्लूटूथ और वाईफाई में काफी अंतर हैं. ब्लूटूथ हम लोग किसी भी प्रकार के डाटा को ट्रांसफर कर सकते हैं. जबकि ब्लूटूथ को कनेक्ट करने के लिए किसी प्रकार के वायर, तार या केवल की आवश्यकता नहीं होता हैं.

उसी प्रकार जब कभी भी हम लोग वाईफाई को अपने मोबाइल या किसी डिवाइस से कनेक्ट करते हैं. तो उस समय भी बिना वायर के इंटरनेट टेक्नोलॉजी को हम लोग अपने मोबाइल के साथ कनेक्ट कर लेते हैं.

दोनों के बीच मुख्य रूप से अंतर यह हैं कि वाईफाई से हम लोग इंटरनेट फैसिलिटी का उपयोग करते हैं. जबकि ब्लूटूथ से हम लोग किसी भी प्रकार के डाटा वीडियो, ऑडियो को ट्रांसफर आसानी से किसी और डिवाइस में कर पाते हैं.

ब्लूटूथ भी वाईफाई की तरह काम करता हैं. क्योंकि ब्लूटूथ से भी हम लोग बिना किसी तार या केवल के वीडियो या गेम एप भी ट्रांसफर कर पाते हैं.

उसी तरह वाईफाई से बिना किसी केबल कनेक्शन के इंटरनेट आदि को, हम लोग किसी रेलवे स्टेशन एयरपोर्ट या किसी भी प्रसिद्ध स्थान जहां पर वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध हो. वहॉं बिलकुल आसानी से हम लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाते हैं.

Bluetooth का नुकसान 

जब कभी भी हम लोग किसी प्रकार के डाटा फाइल, फोल्डर, इमेज, वीडियो, ऑडियो, फाइल को ट्रांसफर करते हैं तो, उस समय खतरा बना रहता हैं कि किसी फाइल या डाटा को हैक न कर लिया जाए क्योंकि Bluetooth से डाटा को ट्रांसफर करना खतरे से खाली नहीं हैं क्योंकि जब ब्लूटूथ को किसी दूसरे डिवाइस के साथ कनेक्ट किया जाता हैं.

तो उस समय इसमें सिक्योरिटी सुरक्षा मौजूद नहीं रहता हैं. और उस समय डाटा को किसी अन्य डिवाइसों के माध्यम से हैक किया जा सकता हैं. उन को शेयर नहीं करना चाहिए. ब्लूटूथ डिवाइस के दो डिवाइस के बीच में 30 मीटर का दूरी ही होना चाहिए से ज्यादा दूरी पर ब्लूटूथ काम नहीं करता हैं.

साराशं

Bluetooth kya hai ब्लूटूथ क्या है, ब्लूटूथ का उपयोग क्या है ब्लूटूथ के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी दी गई है. फिर भी ब्लूटूथ से संबंधित किसी भी प्रकार का सवाल मन में हैं  तो कृप्या कमेंट करके जरूर बतायें  तथा ब्लूटूथ के बारे में दी गई जानकारी के बारे में अपना राय कमेंट करके जरूर बताएं.

Bluetooth के बारे में दी गई जानकारी को आप सोशल मीडिया पर भी, अपने दोस्त, मित्रों के साथ शेयर जरूर करें.टेक्नोलॉजी कंप्यूटर ऑनलाइन कमाई एवं माइक्रोसॉफ्ट वर्ड माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल अन्य अपडेट जानकारी पाने के लिए इस वेबसाइट को विजिट  करते रहे.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here