भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया

वर्तमान समय में भारत में हम सभी लोग मोबाइल फोन या स्मार्ट फोन का उपयोग तो कर रहे हैंं लेकिन बहुत से ऐसे लोग हैंं जिनके मन में कभी न कभी इस तरह का सवाल आता हैं कि पहली बार भारत में मोबाइल फोन कब आया Bharat me pahla mobile phone kab aaya या भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया.

तो आइए इस लेख में हम लोग भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया था और सबसे पहले मोबाइल पर किसके द्वारा बात किया गया था और किस से बात हुआ था कब हुआ था कहां से कहां हुआ था इन सभी चीजों के बारे में इस लेख में नीचे विस्तार से जानते हैंं.

मोबाइल फोन स्मार्टफोन जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग बन गया हैं इसलिए इसके बारे में भी जानकारी होना हम सभी लोगों के लिए बहुत ही जरूरी हैं क्योंकि आज के समय में हम लोग और किसी भी चीज के बिना रह सकते हैंं लेकिन मोबाइल स्मार्टफोन एक चीज हैं जो हर समय लोग अपने पास रखते हैंं और उसको दिन में पता नहीं कितनी बार निकाल कर के देखते रहते हैंं.

क्योंकि मोबाइल स्मार्टफोन से ही आज दुनिया के बारे में लोगों के बारे में हर चीज के बारे में जानकारी बहुत ही आसानी से उपलब्ध हो जाता हैं वैसे एक स्मार्टफोन मोबाइल फोन के बारे में जानना बहुत ही जरूरी हैं कि मोबाइल फोन भारत में पहली बार कब आया था.

भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया

सबसे पहले यह जानना जरूरी हो जाता हैं कि मोबाइल को दुनिया में किसने लाया मोबाइल का अविष्कार किसने किया और कब किया दुनिया में सबसे पहले मोबाइल बनाने का श्रेय मोबाइल का अविष्कार करने का श्रेय मोटरोला कंपनी को जाता हैं.

क्योंकि पहली बार मोबाइल फोन का अविष्कार मोटरोला कंपनी नहीं किया दुनिया में सबसे पहले वर्ष 1983 में मोटोरोला कंपनी के द्वारा मोबाइल फोन को लांच किया गया.

Bharat me pahla mobile phone kab aaya

भारत में मोबाइल फोन वर्ष 1995 में आया था जिसको लाने का श्रेय मोदी ग्रुप और ऑस्ट्रेलिया की टेलीकॉम कंपनी के द्वारा भारत में पहला मोबाइल फोन को लांच किया गया था उस समय भारत की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी टेल्सट्रॉ ही थी जिस के संस्थापक भारत के जाने-माने उद्योगपति श्री भूपेंद्र कुमार मोदी थे.

भारत में मोबाइल फोन को लॉन्च करने के बाद पहली बार भारत के दूरसंचार मंत्री सुखराम जी के द्वारा 31 जुलाई 1995 को सबसे पहला कॉल पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु को किया गया था. इन दोनों नेताओं के बीच पहली बार मोबाइल पर एक दूसरे से बात किया गया.

भारत के दूरसंचार मंत्री एवं कोलकाता के तत्कालीन मुख्यमंत्री ज्योति बसु के बीच कोलकाता से दिल्ली के बीच में पहला कॉल को किया गया इस कॉल को करने के लिए नोकिया के हैंंडसेट का उपयोग किया गया था.

भारत में मोबाइल सेवा देने वाली कंपनी कौन थी

भारत में सबसे पहली बार मोबाइल सेवा देने वाली कंपनी मोदी टेल्सट्रॉ थी जिस ने सबसे पहली बार भारत में मोबाइल सेवा को चालू करने के लिए टेलीकॉम को बढ़ाने के लिए सेवा दिया था उस समय इस सर्विस का नाम मोबाइल नेट रखा गया था बाद में मोदी टेल्सट्रॉ के द्वारा स्पाइस टेलीकॉम के नाम से सेवा दी जाने लगी.

उसके बाद भारत में मोबाइल फोन सेवा को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार के द्वारा मोदी टेल्सट्रॉ के अलावा और आठ कंपनियों को भी मोबाइल सेवा देने के लिए लाइसेंस दिया गया.

भारत में मोबाइल क्रांति का संचार कैसे हुआ

पश्चिम बंगाल के तत्कालीन मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने वर्ष 1994 में भारत के उद्योगपति भूपेंद्र कुमार मोदी के साथ मुलाकात किया था और उस समय कोलकाता शहर में सबसे पहले मोबाइल नेटवर्क को लगाने के लिए तथा मोबाइल नेटवर्क प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए उद्योगपति भूपेंद्र कुमार मोदी से बात किया था.

और इस मुलाकात के बाद भूपेंद्र कुमार मोदी की कंपनी मोदी टेल्सट्रॉ एवं ऑस्ट्रेलिया के पार्टनर कंपनी के द्वारा भारत में टेलीकॉम संचार को आगे बढ़ाने के लिए काम शुरू किया गया.

भूपेंद्र कुमार मोदी के बारे में

भारत के प्रमुख उद्योगपतियों में स्थान रखने वाले भूपेंद्र कुमार मोदी जिनको बीके मोदी के नाम से भी जाना जाता हैं 70 के दशक में बीके मोदी के द्वारा स्टील कंपनी का शुरूआत किया गया था जिसके बाद मोदी उद्योग का विस्तार धीरे-धीरे होता चला गया और 90 के दशक में बीके मोदी टेलीकॉम सेक्टर में भी अपने कारोबार को आगे बढ़ाया.

और भारत में टेलीकॉम संचार क्रांति के प्रमुख सूत्रधार बन गए इसीलिए बीके मोदी को ही मोबाइल फोन को आगे बढ़ाने के लिए मोबाइल नेटवर्क को भारत में एक नई क्रांति देने के लिए जाना जाता हैं.

बीके मोदी का दुनिया में धीरे-धीरे कारोबार और भी ज्यादा बढ़ते चला गया और अलग-अलग क्षेत्रों में उन्होंने अपने कारोबार को आगे बढ़ाया वर्तमान समय में बीके मोदी सिंगापुर के कंपनी के साथ भी मिल कर के अपने कारोबार को आगे बढ़ा रहे हैंं.

जिसमें नेचर फ्रेंडली इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के प्रोजेक्ट पर भी काम किया जा रहा हैं साथ ही साथ बीके मोदी एक लेखक और फिल्म निर्माता के रूप में भी काम कर रहे हैंं और कर चुके हैंं.

सारांश

भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया के बारे में इस लेख में जानकारी दी गई हैं साथ ही साथ भारत में सबसे पहली बार कब कॉल किया गया और उस कॉल को कहां से कहां किया गया था और किसके द्वारा पहली बार बात किया गया था. भारत में दूरसंचार एवं मोबाइल नेटवर्क को आगे बढ़ाने के लिए किसने सबसे पहले काम किया इन सभी चीजों के बारे में इस लेख में जानकारी दी गई हैं.

फिर भी यदि किसी भी प्रकार का कोई सवाल हैं सुझाव हो तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं तथा इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर जरूर करें.

Leave a Comment