एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या हैं प्रकार व उपयोग

Application Software kya hai वर्तमान परिवेश में हम सभी लोग किसी ने किसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल जरूर करते हैं. अब जब सॉफ्टवेयर की बात हम लोग करते हैं तो उसमें Application software in hindi यह सवाल हम सभी के मन में जरूर आता हैं.

क्योंकि टेक्नोलॉजी की इस दुनिया में आज हर किसी के पास कंप्यूटर लैपटॉप या टैबलेट उपलब्ध हैं. जिसमें तरह-तरह के Application Software का इस्तेमाल करते हैं.

सवाल आता हैं कि आखिर Application Software क्या हैं. किस तरह से काम करता हैं. Application Software को किसने बनाया हैं. इन सभी विषयों के बारे में हम लोग सोचने लगते हैं यदि आप भी Application Software के बारे में जानना चाहते हैं तो यहां पर Application software kya hai, के बारे में सभी जानकारी दी गई हैं.

Application Software kya hai एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या हैं 

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक ऐसा term हैं जिसका उपयोग कंप्यूटर में किसी भी खास कामों के लिए उपयोग किया जाता हैं. जैसे कंप्यूटर में एक Letter को तैयार करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट वर्ड का उपयोग किया जाता हैं. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड Application Software हैं.

जिस को एप्लीकेशन डॉक्यूमेंटेशन संबंधित कामों के लिए तैयार किया गया हैं एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के नाम में एप्लीकेशन शब्द से यह पता चलता हैं कि एप्लीकेशन का मतलब पत्र होता हैं. सॉफ्टवेयर के भाषा में Application Software कंप्यूटर के लिए तैयार किया गया फॉर्मैट्स होता हैं.

application software in hindi

जिसमें कुछ कंप्यूटर से संबंधित स्पेसिफिक कामों को किया जा सकता हैं. Application Software का दूसरा मतलब यदि समझा जाए तो जिस तरह से हम लोग अपने किसी काम को करने के लिए एक प्लानिंग करते हैं.

ठीक उसी तरह कंप्यूटर में किसी काम को करने के लिए एक फॉर्मेट प्लानिंग का पत्र तैयार किया जाता हैं. जोकि किसी भी कंप्यूटर में इंस्टॉल करके उस पर काम किया जा सकता हैं.

इसी को Application Software कहते हैं. Application सॉफ्टवेयर का पूरी कंट्रोलिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर करता हैं जिसको ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम से जानते हैं. ऑपरेटिंग सिस्टम Application Software को कंट्रोल करता हैं.

Application Software का परिभाषा

Application सॉफ्टवेयर को यदि परिभाषित किया जाए तो Application Software एक ऐसा यंत्र तकनीक होता हैं. जिसको सॉफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा डेवेलप किया जाता हैं.

यदि किसी को कंप्यूटर में अपने घर के किसी सूचनाओं को अपने रखना हैं तो, उसके लिए भी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर उस घर के काम के हिसाब से एक सॉफ्टवेयर को डेवेलप करके तैयार कर सकता हैं.

जिसको एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के नाम से जाना जाता हैं. Application Software यूजर बेस्ड सॉफ्टवेयर होता हैं. इसको पूरी तरह से यूजर END सॉफ्टवेयर कहा जाता हैं. Application Software को हम लोग इस्तेमाल करते हैं.

जिसका पूरी तरह से कंट्रोल यूजर के पास होता हैं जबकि सिस्टम सॉफ्टवेयर अपना जो वर्क होता हैं वह कंप्यूटर के बैकग्राउंड में करते रहता हैं. जिसको  एक यूजर देख नहीं पाता हैं.

Application Software के कुछ उदाहरण नीचे जान लेते हैं

Application सॉफ्टवेयर का कुछ महत्वपूर्ण नाम हम लोग नीचे जानने वाले हैं. जिसका उपयोग लगभग हम सभी लोग अपने घर अथवा ऑफिस या अन्य कामों के लिए करते हैं.

  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस
  • माइक्रोसॉफ्ट एसक्यूएल सर्वर
  • टैली
  • व्यापार से संबंधित सॉफ्टवेयर 

Application Software कितने प्रकार का होता हैं

  • Application suite
  • Organizational software
  • Personal software
  • Professional software
  • Educational software
  • Small enterprise software

1. Application suite software

एप्लीकेशन सूट जो सॉफ्टवेयर होते हैं. उसमें एक सॉफ्टवेयर के अंदर और भी तरह-तरह के सॉफ्टवेयर होते हैं. जैसे कि माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस सॉफ्टवेयर में माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, माइक्रोसॉफ्ट पावरप्वाइंट, माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस, के अलावा और भी इसमें सॉफ्टवेयर एक ही सॉफ्टवेयर के अंदर रहते हैं.

2. Organizational software

ऑर्गेनाइजेशनल सॉफ्टवेयर किसी भी एक Particular ऑर्गेनाइजेशन के जो बिजनेस होते हैं उसको मैनेज करने के लिए उसके रिकॉर्ड को मेंटेन करने के लिए तैयार किया जाता हैं. जिसमें एक ऑर्गेनाइजेशन की जितनी भी जरूरत हैं उसको पूरा करता हैं.

इस तरह के सॉफ्टवेयर में एक ऑर्गनाइजेशन के ढेर सारे डिपार्टमेंट के कामों को एक ही सॉफ्टवेयर में पूरा किया जाता हैं. जिस सॉफ्टवेयर को एंटरप्राइज सॉफ्टवेयर के नाम से भी जाना जाता हैं.

3. Personal software

वर्तमान समय में लोग अपने स्वयं के लिए भी सॉफ्टवेयर को डेवेलप करवा रहे हैं. जिसमें वह अपने जीवन के हर एक सूचनाओं को संग्रहित करने के लिए पर्सनल सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं.

जिसमें वह अपने जरूरत के हिसाब से एक सॉफ्टवेयर को तैयार करते हैं और उसको अपने पर्सनल कामों के लिए पर्सनल चीजों के लिए उपयोग करते हैं.

4. Professional software

बहुत ऐसे प्रोफेशनल लोग हैं जो किसी खास कला में अपना योगदान देते हैं. वैसे लोग अपने लिए प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं.

जिसको एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा अपने जरूरत के हिसाब से उस सॉफ्टवेयर को डेवेलप करवा करके अपने प्रोफेशनल इस्तेमाल के लिए उसका उपयोग करते हैं.

5. Educational software

एजुकेशनल सॉफ्टवेयर एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता हैं जिसका इस्तेमाल छात्र के द्वारा किया जाता हैं. एजुकेशनल सॉफ्टवेयर में पढ़ाई से संबंधित कांटेक्ट उपलब्ध होता हैं. साथ ही साथ इसमें पढ़ाई से संबंधित जानकारी को अपडेट समय समय से किया जाता हैं.

जिससे उस सॉफ्टवेयर में पुराने के साथ-साथ नई जो भी जानकारियां हैं वह छात्रों तक पहुंच सके आज के समय में पढ़ाई के लिए एजुकेशनल सॉफ्टवेयर का भी अधिकतर उपयोग किया जा रहा हैं.

6. Small enterprise software

आज हर कोई अपने व्यापार का डाटा कंप्यूटर पर रखना चाहता हैं चाहे वह बड़े व्यापारी हो या छोटे व्यापारी हो सभी लोग अपना रिकॉर्ड एक सॉफ्टवेयर के थ्रू मेंटेन करना चाहते हैं.

जितने भी छोटे व्यापारी हैं वह लोग भी अपने व्यापार से संबंधित सॉफ्टवेयर को तैयार करवाते हैं. जिसका इस्तेमाल वे लोग अपने हर रोज के व्यापार से संबंधित जो भी लेनदेन या अन्य काम होता हैं. उसके लिए स्मॉल एंटरप्राइज सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं.

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर

एक Application Software को अपने हिसाब से डिजाइन करवा सकते हैं. डेवेलप करवा सकते हैं एक Application Software एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता हैं जिसको अपने काम के लिए उपयोग करते हैं.

इस तरह के Application Software को एक सेट आफ प्रोग्राम के नाम से जानते हैं. Application Software में सब कुछ सेट किया हुआ रहता हैं कि किस तरह से उस Application Software में किसी कामों को यूजर के द्वारा किया जाएगा.

सॉफ्टवेयर को रीड कर सकते हैं उसमें डाटा को मैनेज कर सकते हैं. ऑपरेट कर सकते हैं. जबकि हार्डवेयर वैसे चीजों को कहते हैं जिसको हम लोग छू सकते हैं. देख सकते हैं.

जैसे कंप्यूटर के हार्डवेयर के मुख्य पार्ट्स माउस, कीबोर्ड, सीपीयू, मॉनिटर इन सभी चीजों को हार्डवेयर कहते हैं. जिसको हम लोग देख सकते हैं छू सकते हैं इसलिए सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों का काम बहुत ही अलग हैं.

सॉफ्टवेयर दो प्रकार का होता हैं 

  • System software
  • Application software

1. System software

सिस्टम सॉफ्टवेयर के नाम से ही पता चलता हैं कि एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता हैं जो कि एक सिस्टम को पूरी तरह से कंट्रोल करता हैं. जिसको ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम से जाना जाता हैं. एक कंप्यूटर पूरी तरह से लोहे के समान हैं.

जब तक उसमें एक सिस्टम सॉफ्टवेयर यानी कि ऑपरेटिंग सिस्टम को इंस्टॉल ना किया जाए. इसलिए सिस्टम सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर का मेन सॉफ्टवेयर होता हैं जो कि सारे Application Software को कंट्रोल करता हैं.

2. Application software 

Application Software वैसे सॉफ्टवेयर होते हैं जो सिस्टम सॉफ्टवेयर के इंस्टॉल हो जाने के बाद सिस्टम में इनस्टॉल किया जाता हैं. Application Software को आपने रोजमर्रा के कामों के लिए ऑपरेट किया जाता हैं या उपयोग किया जाता हैं.

जबकि सिस्टम सॉफ्टवेयर Application Software को चलाने के लिए इंस्टॉल किया जाता हैं. Application Software के बारे में ऊपर में जानकारी दी गई हैं. जैसा की Application Software एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता हैं जो कि आपने काम दिनचर्या या व्यापार पढ़ाई दवाई या अन्य कामों के लिए उपयोग किया जाता हैं.

Mutation application क्या हैं

एक सॉफ्टवेयर को किसी दूसरे को मालिकाना हक देने के लिए अन्य कंपनी को बेचने के लिए मोटेशन एप्लीकेशन का इस्तेमाल किया जाता हैं. जिससे उस सॉफ्टवेयर के ऑनरशिप को एक कंपनी  से दूसरे कंपनी के नाम पर बदला जा सकता हैं.

जैसे किसी भी प्रॉपर्टी को जब किसी दूसरे व्यक्ति को बेचा जाता हैं सेल किया जाता हैं तो उसके जो प्रॉपर्टी होता हैं. वह दूसरे व्यक्ति के नाम पर परिवर्तित हो जाता हैं या कराना पड़ता हैं. ठीक उसी प्रकार यदि किसी सॉफ्टवेयर को सेल करना हैं तो उसके ऑनरशिप को बदलने के लिए इस सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता हैं.

वर्तमान समय में ज्यादातर उपयोग किया जाने वाला सॉफ्टवेयर

आज की इंटरनेट की दुनिया में अपने कामों के लिए लोग कुछ प्रमुख सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल अपने डेली लाइफ में करते हैं जिसका नीचे हम लोग नाम जान लेते हैं.

  • Internet browsing software
  • Presentation software
  • Communication software
  • Video conferencing software

सिस्टम सॉफ्टवेयर और Application Software में अंतर

सिस्टम सॉफ्टवेयर एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता हैं जो सभी कंप्यूटर में अनिवार्य रूप से इस्तेमाल किया जाता हैं. क्योंकि बिना सिस्टम सॉफ्टवेयर का उपयोग किए किसी भी कंप्यूटर हार्डवेयर के कंप्यूटर का संचालन नहीं किया जा सकता हैं. इसलिए सिस्टम सॉफ्टवेयर को हर एक कंप्यूटर को चलाने के लिए इंस्टॉल करना जरूरी हैं.

Application Software एक ऐसा सॉफ्टवेयर हैं जो कि अलग-अलग काम के लिए अलग तरह का सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता हैं. इसलिए Application Software का उपयोग उस व्यक्ति का काम या किसी ऑर्गनाइजेशन के किस तरह का काम हैं उन सभी चीजों पर निर्भर करता हैं कि किस Application Software को किस सिस्टम में इनस्टॉल किया जाए.

इसलिए Application Software स्पेसिफिक परपस सॉफ्टवेयर होता हैं. जिसको किसी एक स्पेसिफिक काम को करने के लिए यूजर के द्वारा इस्तेमाल किया जाता हैं.

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर एक जनरल परपस सॉफ्टवेयर हैं.
  • Application Software यूजर स्पेसिफिक सॉफ्टवेयर हैं.
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करना अनिवार्य हैं.
  • Application Software हर एक के लिए अलग हो सकता हैं.
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का मेन सॉफ्टवेयर होता हैं.
  • सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का सपोर्टिंग सॉफ्टवेयर होता हैं.
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर का उपयोग हार्डवेयर को ऑपरेट करने के लिए किया जाता हैं.
  • Application Software का इस्तेमाल यूजर के द्वारा अपने कामों को करने के लिए किया जाता हैं.

सारांश

Application Software kya hai एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी दी गई हैं मुझे आशा हैं कि आप लोगों को यह जानकारी अच्छा लगा होगा. फिर भी यदि आपको application software क्‍या हैं से संबंधित कोई भी सवाल आपके मन में आ रहा हो या अन्य किसी भी चीज से संबंधित कोई भी आपको जानकारी को साझा करना हो तो कृपया आप कमेंट जरूर करें.

ravi
नमस्कार रवि शंकर तिवारी ज्ञानीटेक रविजी ब्लॉग वेबसाईट के Founder हैं। वह एक Professional blogger भी हैंं। जो कंप्‍यूटर ,टेक्‍नोलॉजी, इन्‍टरनेट ,ब्‍लॉगिेग, SEO, एमएस Word, MS Excel, Make Money एवं अन्‍य तकनीकी जानकारी के बारे में विशेष रूचि रखते हैंं। इस विषय से जुड़े किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया जरूर पूछे। क्‍योकि इस ब्‍लॉग का मकसद लोगो बेहतर जानकारी उपलब्‍ध कराना हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here